अमित शाह बोले, असम को नहीं बनने देंगे कश्मीर

जनता जनार्दन संवाददाता , Feb 17, 2019, 16:26 pm IST
Keywords: Amit Shah   Kashmir   Assam State News   Assam Views   Assam News India   अमित शाह   असम   कश्मीर  
फ़ॉन्ट साइज :
अमित शाह बोले, असम को नहीं बनने देंगे कश्मीर

दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी असम को कश्मीर नहीं बनने देगी. असम के लखीमपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने पुलवामा हमले का जिक्र किया और कहा कि वे और उनकी पार्टी पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करती है. बीजेपी नेता ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा की गई कायरता पूर्ण हमला जिसमें सीआरपीएफ जवान शहीद हुए हैं, वो बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.

अमित शाह ने इस हमले में शहीद हुए असम के जवान मानेश्वर को याद करते हुए कहा कि देश और असम उनके बलिदान को भुला नहीं पाएगा. अमित शाह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि इस बार इनकी कुर्बानी बेकार नहीं जाएगी क्योंकि इस बार केन्द्र में कांग्रेस की सरकार नहीं है बल्कि आपकी बनाई सरकार है. अमित शाह ने कहा कि अगर कोई सोच रहा है कि हमारे जवानों पर हमलाकर हमें कमजोर कर पाएगा तो ये उसकी भूल है.

अमित शाह ने अपनी सभा में कहा कि 1985 में असम समझौता हुआ. इसके बाद 10 साल तक असम गण परिषद (एजीपी) की सरकार रही, 25 साल कांग्रेस ने राज किया. 20 साल केन्द्र में कांग्रेस रही. लेकिन असम समझौते का क्या हुआ. अमित शाह ने कांग्रेस और एजीपी से कहा कि असम के युवा उनसे इस बाबत सवाल पूछ रहे हैं. अमित शाह ने कहा कि इतने साल शासन करने के बावजूद ये पार्टियां राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लेकर नहीं आईं. अमित शाह ने कहा कि इन पार्टियों ने असम में ना तो घुसपैठ रोका और ना ही एनआरसी लेकर आईं.

युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अमित शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार बनते ही हम एनआरसी लेकर आए और घुसपैठ को रोकने का काम किया. उन्होंने कहा कि बीजेपी असम को कश्मीर नहीं बनने देगी. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जो लोग नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे थे हाल के स्थानीय चुनाव में जनता ने चुन-चुन कर उन्हें हराने का काम किया है.

अमित शाह ने कहा कि चाहे पूर्वोत्तर हो या फिर जम्मू-कश्मीर बीजेपी सरकार ने आतंक का समूल नाश करने का प्रण लिया है. उन्होंने कहा कि आतंक के खिलाफ लड़ने की सबसे ज्यादा इच्छाशक्ति अगर किसी नेता में है तो वह नरेंद्र मोदी में है.
अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack