मन की बात में बोले मोदी- इस साल जल, थल और नभ में परमाणु संपन्न बना देश

जनता जनार्दन संवाददाता , Dec 30, 2018, 13:23 pm IST
Keywords: Mann Ki Baat   Modi   Narendra Modi   Mann Ki Baat   मन की बात   परमाणु शक्ति   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  
फ़ॉन्ट साइज :
मन की बात में बोले मोदी- इस साल जल, थल और नभ में परमाणु संपन्न बना देश दि‍ल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann Ki Baat) के 51वें एपिसोड में जनता को संबोधित क‍िया.

पीएम मोदी ने मन की बात में कहा, "साल 2018 ख़त्म होने वाला है और हम 2019 में प्रवेश करने वाले हैं. स्वाभाविक रूप से ऐसे में बीते वर्ष की बातें चर्चा में रहती हैं, साथ ही आने वाले वर्ष के संकल्प की भी चर्चा सुनाई देती है. हम ऐसा क्या करें जिससे अपने स्वयं के जीवन में बदलाव ला सकें और साथ-ही-साथ देश और समाज को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दे सकें."

पीएम मोदी ने देश की आत्मरक्षा के क्षेत्र के बारे में बात करते हुए कहा क‍ि देश के सेल्फ ड‍िफेंस  को नई मजबूती मिली है. इसी वर्ष हमारे देश ने सफलतापूर्वक न्यूक्लियर ट्रायड को पूरा किया, यानी अब हम जल, थल और नभ-तीनों में परमाणु शक्ति संपन्न हो गए है.

साइकल से दुनिया का चक्कर लगाने वाली सबसे तेज एशियाई मह‍िला

पीएम मोदी ने कहा क‍ि 12 साल की हनाया निसार ने कोरिया में कराटे चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता. वह कश्मीर के अनंतनाग में रहती है. उन्होंने मेहनत और लगन से कराटे का अभ्यास किया, उसकी बारीकियों को जाना और स्वयं को साबित करके दिखाया.

16 साल की रजनी ने जून‍ियर महिला मुक्केबाजी चैम्प‍ियनश‍िप में गोल्ड मेडल जीता. पुणे की 20 साल की वेदांगी कुलकर्णी साइकल से दुनिया का चक्कर लगाने वाली सबसे तेज एशियाई बन गई हैं.

पवित्र स्नान के बाद अक्षयवट के पुण्य दर्शन

पीएम मोदी ने आस्था पर कहा क‍ि हमारे पर्व, त्योहार हमें सामाजिक मूल्यों की शिक्षा भी देते है. एक ओर जहां इनका पौराणिक महत्व है, वहीं, हर त्योहार जीवन के पाठ - एक दूसरे के साथ भाईचारे से रहने की प्रेरणा बड़ी सहजता से सिखा जाते हैं.  जनवरी में कई सारे त्योहार आने वाले हैं जैसे लोहड़ी, पोंगल, मकर संक्रान्ति, उत्तरायण, माघ बिहू आदि. इन त्योहारों के अवसर पर भारत में पारंपरिक नृत्यों का रंग दिखेगा, फसल तैयार होने की खुशी में लोहड़ी जलाई जाएगी, आसमान में रंग-बिरंगी पतंगे उड़ती हुई दिखेंगी.

कुंभ मेले में आस्था और श्रद्धा का जन-सागर उमड़ता है. एक साथ एक जगह पर देश-विदेश के लाखों करोड़ों लोग जुड़ते हैं. कुंभ की परम्परा हमारी महान सांस्कृतिक विरासत से पुष्पित और पल्लवित हुई है.

इस बार श्रद्धालु संगम में पवित्र स्नान के बाद अक्षयवट के पुण्य दर्शन भी कर सकेगा. लोगों की आस्था का प्रतीक यह अक्षयवट सैकड़ों वर्षों से किले में बंद था, जिससे श्रद्धालु चाहकर भी इसके दर्शन नहीं कर पाते थे. अब अक्षयवट का द्वार सबके लिए खोल दिया गया है.

कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी. पिछले वर्ष यूनेस्को  ने कुंभ मेले को 'मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत' की सूची में चिन्हित किया है.

बापू की 150 जयंती रहेगी खास

पीएम मोदी ने कहा क‍ि जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर हम देशवासियों के मन में बहुत ही उत्सुकता रहती है. उस दिन हम अपनी उन महान विभूतियों को याद करते हैं, जिन्होंने हमें हमारा संविधान दिया. इस वर्ष हम बापू की 150 जयंती मना रहे हैं और इस बार गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा हैं. हमारे लिए यह गर्व की बात है क्योंकि पूज्य बापू व दक्षिण अफ्रीका का एक अटूट सम्बन्ध रहा है.

सस्ता इलाज दे रहे डॉक्टर

पीएम मोदी ने कहा क‍ि इस दिसम्बर में हमने कुछ असाधारण देशवासियों को खो दिया. 19 दिसम्बर को चेन्नई के डॉ. जयाचंद्रन का निधन हो गया. उनको प्यार से लोग ‘मक्कल मारुथुवर’ कहते थे क्योंकि वे जनता के दिल में बसे थे. डॉ. जयाचंद्रन गरीबों को सस्ते-से-सस्ता इलाज उपलब्ध कराने के लिए जाने जाते थे.

वहीं, बिजनौर के Heart Lungs Critical Centre की ओर से हर महीने ऐसे मेडिकल कैंप लगाए जाते हैं जहां कई तरह की बीमारियों की मुफ्त इलाज होता है. हर महीने सैकड़ों गरीब मरीज इस कैंप से लाभान्वित हो रहे हैं. निस्वार्थ भाव से सेवा में जुटे इन डॉक्टर का उत्साह तारीफ के काबिल है.

पॉ‍जिटि‍व चीजों को मिलकर वायरल करें

मोदी ने कहा क‍ि नकारात्मकता फैलाना काफी आसान होता है, लेकिन, हमारे समाज में, हमारे आस-पास बहुत कुछ अच्छे काम हो रहे हैं और ये सब 130 करोड़ भारतवासियों के सामूहिक प्रयासों से हो रहा है. क्या हम एक काम कर सकते हैं - http://thebetterindia.com , http://thepositiveindia.com, http://yourstory.com  एवं  http://samskritabharati.in  जैसी website के बारे में आपस में शेयर  करें और पॉ‍जिटि‍व चीजों को मिलकर वायरल करें.

 

स्वास्थ्य और ब‍िजली क्षेत्र में बनाया र‍िकॉर्ड

स्वास्थ्य और ब‍िजली पर बोलते हुए मोदी ने कहा क‍ि 2018 में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ की शुरुआत हुई. देश के हर गांव तक बिजली पहुंच गई. विश्व की गणमान्य संस्थाओं ने माना है कि भारत रिकार्ड गति के साथ, देश को गरीबी से मुक्ति दिला रहा है.

स्वच्छता कवरेज बढ़कर 95% को पार करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. आजादी के बाद लाल-किले से पहली बार, आज़ाद हिन्द सरकार की 75वीं वर्षगांठ पर तिरंगा फहराया गया.

विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यून‍िटी  देश को मिली

सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यून‍िटी'  देश को मिली. देश को संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार 'चैंम्पियंस ऑफ अर्थ अवार्ड' से सम्मानित किया गया. सौर ऊर्जा और क्लाइमेट चेंज में भारत के प्रयासों को विश्व में स्थान मिला.

कुछ दिन पहले गुजरात के नर्मदा के तट पर केवड़िया में डीजीपी कॉन्फ्रेंस हुई, जहां पर दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यून‍िटी' है. वहां देश के शीर्ष पुलिसकर्मियों के साथ सार्थक चर्चा हुई.

सरदार पटेल ने अपना पूरा जीवन देश की एकता के लिए समर्पित कर दिया. वे हमेशा भारत की अखंडता को अक्षुण्ण रखने में जुटे रहे. सरदार पटेल जी की उस भावना का सम्मान करते हुए एकता के इस पुरस्कार के माध्यम से उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं.

'सरदार पटेल पुरस्कार' उनको दिया जाएगा, जिन्होंने किसी भी रूप में राष्ट्रीय एकता के लिए अपना योगदान दिया हो एवं एकता के इस पुरस्कार के माध्यम से हम उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं.

गोबिंद सिंह के जीवनकाल से म‍िलती है पूरे भारत की झलक

13 जनवरी को गुरु गोबिंद सिंह जी की जयन्ती का पावन पर्व है. एक तरह से कहा जाए तो पूरे भारतवर्ष को उनका आशीर्वाद प्राप्त हुआ. उनके जीवन-काल को देखें तो उसमें पूरे भारत की झलक मिलती है.

स्वस्थ भारत यात्राएं निकाली जा रही हैं

F.S.S.A.I यानी भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण सुरक्षि‍त और खाने की अच्छी आदतों को बढ़ावा देने में जुटा है. #EatRightIndia अभियान के अन्दर देश भर में स्वस्थ भारत यात्राएं निकाली जा रही हैं. ये अभियान 27 जनवरी तक चलेगा.

'मन की बात' का आगाज

बता दें कि 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने देश वासियों के साथ बातचीत करने के लिए 'मन की बात' कार्यक्रम की शुरूआत की थी. पीएम ने आकाशवाणी के जरिए 'मन की बात' कार्यक्रम की शुरुआत अक्टूबर 2014 में की थी.

इसके बाद से वो हर महीने देशवासियों के साथ बातचीत करते हैं. प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम के जरिए बालिका शिक्षा, प्रदूषण घटाने, नशीले पदार्थों के इस्तेमाल को रोकने जैसे कई मुद्दों पर अपनी बात रखते हैं.

अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack