Monday, 21 January 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

#Exclusive: नमस्कार नहीं किया तो भड़क गए डॉक्टर, खतरे में पड़ी जान

#Exclusive: नमस्कार नहीं किया तो भड़क गए डॉक्टर, खतरे में पड़ी जान
चन्दौली: सरकार जनता के लिए जननी सुरक्षा, आयुष्मान योजना जैसी न जाने कितनी योजनाए लागू कर चुकी लेकिन जब उनका पालन कराने वाले ही योजनाओ को पलीता लगाने में जुटे रहे तो सरकार की योजनाएं धरी की धरी रह जाती है। ऐसे में एक तरफ जनता उन सरकारी सुविधाओं से वंचित रह जाती है तो दूसरी तरफ सरकार की छवि भी धूमिल होती है.

ताजा मामला चंदौली जिले के अलीनगर का है जहां नियामताबाद स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टरों की लापरवाही उजागर हुई है।यहां धरती के भगवान की हकीकत जानकर आप चौक जाएंगे। आरोप है कि अस्पताल के प्रभारी को आशाओ ने नमस्कार नही किया तो इसका खामियाजा मरीजो को भुगतना पड़ा और घंटो इंतजार करने के बाद हालत बिगड़ने पर निजी अस्पताल जाना पड़ा.
 
दरअसल इस सरकारी अस्पताल में करीब 40 महिलाओ को परिवार नियोजन के अंतर्गत नशबंदी के लिए बुलाया गया।महिलाओ को नशबंदी से पहले लगाए जाने वाले इंजेक्शन भी दिए गए लेकिन घंटो बीत जाने के बाद भी इस अस्पताल के डॉक्टर नही जागे और महिलाओ की हालत बिगड़ती गयी।महिलाओ को प्रोत्साहित कर अस्पताल तक लाने वाली आशाओ ने अस्पताल के प्रभारी पर आरोप लगाया कि उनको नमस्कार नही किया तो वो नाराज हो गए और काफी देर इंतजार करने के बाद जब हालत बिगड़ने लगी तो मजबूरन निजी अस्पताल की शरण लेनी पड़ी।
अन्य स्वास्थ्य लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack