Monday, 19 November 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

सीनियर सिटीजन एसोसिएशन के पुनः राष्ट्रीय महासचिव बने रामायण पाण्डेय

जनता जनार्दन संवाददाता , Nov 01, 2018, 9:47 am IST
Keywords: National siniour citizen   Siniour sitizen   National Genral Secratory   Ramayan pandey   राष्ट्रीय सीनियर सिटीजन   कार्यकारिणी चुनाव सम्पन्न  
फ़ॉन्ट साइज :
सीनियर सिटीजन एसोसिएशन के पुनः राष्ट्रीय महासचिव बने रामायण पाण्डेय
नई दिल्ली:  एक दिन सभी बुजुर्ग होंगे। बुजुर्गों की सेवा करना सभी युवा पीढ़ी कर्तब्य है। उक्त बातें राष्ट्रीय सीनियर सिटीजन एसोसिएशन 18वा स्थापना दिवस के अवसर पर 7वा राष्ट्रीय सम्मेलन के प्रथम दिन प्रतिनिधि सभा सत्र के मंगलाचरण द्वारा उद्घाटन के दौरान अपने संबोधन में राष्ट्रीय संरक्षक व आखिल भारतीय संत समाज के राष्ट्रीय महामंत्री महर्षी अंजनेश जी महाराज जी ने किया। 
 
वही आगत अतिथियो का स्वागत शिक्षित महिला बेरोजगार संघ के राष्ट्रीय संयोजिका सोनी कुमारी ने स्वागत गीत के साथ की। राष्ट्रीय महासचिव रामायण पाण्डेय एलौन ने सत्र 2015-16 से 2017-18 के आय-ब्यय का लेखा जोखा प्रस्तुत करते हुए कहा कि आय दिन कुछ बच्चे अपने माँ बाप को इनके अधिकार से वंचित कर दिया जाता है और सरकार भी इस पर विशेष ध्यान नही देती। 
 
श्री एलौन ने बताया कि बुजुर्गों के बुनियादी सुविधाओं के लिए संगठन काफी संघर्ष कर रहा है। उन्होंने बताया कि सीनियर सिटीजन के लिए रोहतास के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक विकास वैभव ने सीनियर सिटीजन सेल हर थानों में गठन करया था। 
 
वही एसपी चन्दन कुशवाहा ने भी सेल गठन की प्रक्रिया जारी रखा था। उन्होंने भारत भर में  सीनियर सिटीजन सेल का गठन की जाय। उन्होंने कहा कि संगठन 18 वर्षों से बुजुर्गों की बुनियादी सुविधाओं के लिए कई बार आंदोलन किया।
 
संगठन दिल्ली, मुंबई, कोलकाता के अलावे जिस शहर में मेट्रो रेल है उसमें वरिष्ठ नागरिकों को किराया में 50 प्रतिशत रियायत दिलाने, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ राज्य के पेंशन के बटवारा तत्काल करने, वरिष्ठ नागरिकों के लिए एयर इंडिया हवाई जहाज की तरह प्रत्येक हवाई जहाज में किराया में 50 प्रतिशत रियायत देने, सरकारी कर्मचारी जो वर्ष 2006 से पहले रिटायर किए हैं.

उन्हें ग्रेड पे नहीं जोड़ा गया है उसे जोड़ कर उनका पेंशन निर्धारण कर भुगतान करने, मध्य बिहार ग्रामीण बैंक के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन दिलाने, रेलवे के द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को रेलवे किराया में 40 प्रतिशत पुरुषों एव 50 प्रतिशत मिल रहे रियायत को को समाप्त करने की साजिस करने वाली कमिटी के रिपोर्ट को रद्द करने, मेंटेनेंस एंड वेलफेयर आल पैरेंट्स एंड सिटीजन एक्ट 56/2007 को राष्ट्र के प्रत्येक राज्य में नियमानुसार शीघ्र कार्यान्वयन करने, रेलवे द्वारा वरीय नागरिकों को किराए में मिल रहे 40 प्रतिशत से बढ़कर 50 प्रतिशत करने, वरीय नागरिकों के साथ चलने वाले एक सहयोगी के किराए में 50 प्रतिशत की छूट देने, रेलवे द्वारा बरी नागरिकों के किराए में मिल रहे के लिए आज को पैसेंजर ट्रेनों में भी लागू करने, बैंकों, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, गैस एजेंसी, सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों में वरीय नागरिकों के लिए अलग काउंटर की व्यवस्था करने, सरकारी एवं निजी बांसों के किराए में वरीय नागरिकों के लिए 50 प्रतिशत छूट देने तथा आगे की चार सीटे सुरक्षित करने, वरिष्ठ नागरिकों के लिए ट्रेनों तथा मेट्रो में अलग बोगी की ब्यवस्था विक्लांगों जैसा आरक्षित करने, सरकारी कार्यालयों में उनकी आवेदन निवेदन का समुचित कार्रवाई करने, वर्तमान महंगाई दौर में वरीय नागरिकों को एक हजार वृद्धा पेंसन देने,  सभी जिला मुख्यालयों में जमीन उपलब्ध कराकर वृद्धाआश्रम का निर्माण कराने, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा राज्यों के समान बिहार एवं झारखंड के जिला परिषद के कर्मियों को पंचायती राज नियम लागू होने की तिथि से सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन की सुविधा देने की मांग के लिए संघर्ष कर रही है। कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रिका यादव एव संचालन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सत्यनारायण स्वामी ने किया।
 
 मौक़े पर शितला प्रसाद तिवारी,  एन के सिंह, माया पाण्डेय, विद्यानन्द चौधरी, एन शुक्ला, अवध विहारी राय, राज कुमार शर्मा, मनोज कुमार, एस एन पाण्डेय, भारत सिंह, कामेश्वर शर्मा, रामशंकर तिवारी, जगरोपन सिंह, रंगनाथ तिवारी, बसंती त्रिपाठी, सुग्रीव सिंह, मुक्ति नाथ मिश्रा, विनायक पाण्डेय, श्याम नारायण ठाकुर, चंद्रावती कुँवर, कुसुम देवी, जगदीश सिंह, जगदीश पाठक, ई सुदामा सिंह, अख्तर प्रवीण, शिवजग प्रसाद, आर एस पाण्डेय, एस जीनत हसन खा, अशोक कुमार, सूरज कुमार पांडेय, महेंद्र मिश्रा, इंदुभूषण तिवारी सहित कई लोगो ने संबोधित किया। 
 
इसके बाद अगली सत्र के लिए पुन चुनाव के लिए अशोक कुमार वरीय अधिवक्ता, मनोज कुमार संयुक्त सचिव सीएफटीयूआई को चुनाव अधिकारी बनाया गया। सभा मे ही अगले सत्र के लिए पुनः राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया।
अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack