11 महिला फिल्ममेकर्स का फैसला, हैरेसमेंट के आरोपियों के साथ नहीं करेंगी कभी काम

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 15, 2018, 6:50 am IST
Keywords: #meetoo   akber   state forgion minister   bjp leaders   sexual harassment   bollywood   film industry  
फ़ॉन्ट साइज :
11 महिला फिल्ममेकर्स का फैसला, हैरेसमेंट के आरोपियों के साथ नहीं करेंगी कभी काम

बॉलीवुड डेस्क. MeToo कैंपेन बॉलीवुड के बड़े नामों को अपने लपेटे में ले चुका है। इसी बीच कैंपेन के जरिए इन आरोपियों का नाम लेने वाली महिलाओं के सपोर्ट में बॉलीवुड की महिला फिल्ममेकर्स ने एक फैसला लिया है कि वे अब सेक्सुअल हैरेसमेंट के किसी भी आरोपी के साथ भविष्य में काम नहीं करेंगी। फिल्ममेकर सोनाली बोस ने फेसबुक पोस्ट के जरिए इस बात की जानकारी दी। 

शामिल हैं ये 11 फिल्ममेकर्स : सोनाली ने अपनी पोस्ट में 11 फीमेल फिल्ममेकर्स का नाम लिखा है। जिनमें सोनाली के अलावा अलंकृता श्रीवास्तव, गौरी शिंदे, किरन राव, कोंकणा सेन शर्मा, मेघना गुलजार, नंदिता दास, नित्या मेहरा, रीमा कागती, रुचि नरेन अौर जोया अख्तर शामिल हैं। 

ये है सोनाली बोस की पोस्ट : महिलाओं और फिल्म निर्माता के रूप में, हम #MeToolndia आंदोलन का समर्थन करने के लिए साथ आए हैं। हम पूरी तरह उन महिलाओं के साथ हैं जो अपने साथ हुए अत्याचार को ईमानदारी के साथ सामने लेकर आईं हैं। उनके साहस का सम्मान और प्रशंसा करते हैं, जिनके कारण बदलाव की क्रांति शुरू हुई है। हम यहां वर्कप्लेस को सुरक्षित वातावरण वाला बनाने के लिए जागरुकता फैलाने साथ हैं। हम संकल्प लेते हैं कि ऐसे किसी भी व्यक्ति के साथ काम नहीं करेंगे जो हैरेसमेंट का अारोपी है। हम इंडस्ट्री के अपने सभी साथियों से आग्रह करते हैं कि वे भी ऐसा ही करें।"

इन्होंने भी लिया स्टैंड : विमन फिल्म मेकर्स के पहले आमिर खान ने मोगुल, अक्षय कुमार ने हाउसफुल-3 और अजय देवगन ने भी अपनी कंपनी में ऐसे किसी भी व्यक्ति के साथ काम करने से इंकार कर चुके हैं जिस पर हाल ही में सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगे हैं। 


अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack