Saturday, 29 February 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

चोरी करने वालों को न्याय के जद में लाया जाएगा, मोदी सरकार की हर चोरी उजागर होगीः राफेल पर राहुल

चोरी करने वालों को न्याय के जद में लाया जाएगा, मोदी सरकार की हर चोरी उजागर होगीः राफेल पर राहुल नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर फिर निशाना साधा और वादा किया कि वायुसेना के अधिकारियों, जवानों, शहीद पायलटों के परिवारों और हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों का ‘अपमान करने और चोरी करने वालों’ को न्याय के जद में लाया जाएगा.

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘हम भारत की सेवा करने वाले वायुसेना के हर अधिकारी, जवान, हर शहीद पायलट के परिवार, एचएएल के साथ काम करने वाले हर व्यक्ति का दर्द महसूस करते हैं. हम समझ सकते हैं कि आप लोग क्या महसूस कर रहे हैं. हम उन सभी लोगों को न्याय के जद में लाएंगे जिन्होंने आपका अपमान किया है और आपसे चोरी की है.’

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के एक कथित बयान आने के बाद से राहुल, प्रधानमंत्री मोदी पर लगातार हमले कर रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचे तो वहां भी उन्होंने मोदी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दी. उन्होंने सोमवार रात को कांग्रेस के सोशल मीडिया वर्कर्स से बातचीत में कहा, 'अभी तो और मजा आएगा, आने वाले वक्त में पार्टी मोदी सरकार की हर योजना में होने वाली चोरी को उजागर करेगी.'

अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में राहुल गांधी ने कहा कि राफेल डील में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनिल अंबानी की तरफदारी करते हुए भ्रष्टाचार किया है. उन्होंने कहा, 'ये जो भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने आया था, इसी ने अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये पकड़ा दिए, अभी तो शुरुआत हुई है, अभी देखना मजा आएगा, आने वाले 2-3 महीनों में ऐसा मजा दिखाएगे हम आपको.'

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, 'नरेंद्र मोदी के जो काम हैं- राफेल, ललित मोदी, विजय माल्या, नोदबंदी, गब्बर सिंह टैक्स, इन सब में चोरी है. 'एक-एक कर हम दिखा देंगे कि यो जो नरेंद्र मोदी चौकीदार नहीं हैं नरेंद्र मोदी जी चोर हैं'. राहुल ने कहा कि 'जो भ्रष्टचार को मिटाने आया था, उसने खुद ही अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ दिए.'

कांग्रेस अध्यक्ष ने यह सभी बयान अमेठी में कांग्रेस सोशल मीडिया वर्कर्स के साथ बातचीत में कही. यह बातचीत वन विभाग के गेस्ट हाउस में हुए, जहां मीडिया को जाने की अनुमति नहीं थी. हालांकि राहुल गांधी के इस तंज को किसी ने कैमरे में रिकॉर्ड किया और फिर स्थानीय रिपोर्टर्स के साथ साझा कर दिया.

फ्रांसीसी वेबसाइट ‘मीडियापार्ट’ के मुताबिक, ओलांद ने कथित तौर पर कहा है कि राफेल विमान सौदे में दसाल्ट के ‘ऑफसेट साझेदार’ के तौर पर अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस का नाम प्रस्तावित किया था और ऐसे में फ्रांस के पास कोई विकल्प नहीं था.

उधर, नरेंद्र मोदी सरकार ने ओलांद के कथित बयान को खारिज करते हुए कहा है कि दसाल्ट ने रिलायंस डिफेंस का चयन किया और इसमें सरकार की कोई भूमिका नहीं है.

कांग्रेस अध्यक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आजाद भारत में आज तक किसी भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया. राहुल गांधी जैसे बेशर्म और गैर जिम्मेदार व्यक्ति से क्या उम्मीद की जा सकती है.

प्रसाद ने कांग्रेस से पूछा कि उनके समय में ये सौदा क्यों रद्द किया गया? क्योंकि राहुल गांधी के परिवार को कमीशन नहीं मिली और बिना कमीशन ये परिवार कोई काम नहीं करता फिर चाहे वह बोफोर्स हो, 2G हो, कोयला हो या फिर अगस्ता वेस्टलैंड हो. सब जानते हैं कि इन सभी में दलाली खाई गई है.
अन्य देश लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack