Tuesday, 11 December 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

इमरान खान की प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्ठी के बाद भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की न्यूयॉर्क में होगी मुलाकात

इमरान खान की प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्ठी के बाद भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की न्यूयॉर्क में होगी मुलाकात नई दिल्ली/ इस्लामाबादः सीमा पर जवानों के गले काट रहा पाकिस्तान हमारे प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर सदाशयता दिखा रहा और हम उसके झांसे में फंस भी जा रहे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके पाकिस्तानी समकक्षीय इमरान खान कि तरफ से भेजी गई चिट्ठी के बाद दोनों देशों के आपसी संबंधों को लेकर एक नए अध्याय की शुरुआत होती हुई दिखाई दे रही है।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की न्यूयॉर्क में मुलाकात होगी। हालांकि मुलाकात की तारीख और समय का अभी फैसला नहीं किया गया है।

सुषमा स्वराज 24 सितंबर को न्यूयॉर्क रवाना हो रही हैं। वे और कुरैशी दोनों अपने देशों के प्रतिनिधिमंडल के साथ संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रतिनिधित्व करेंगे। दोनों देशों के विदेश मंत्री सार्क विदेश मंत्रियों के लंच के दौरान 27 सितंबर को मिलेंगे। लेकिन इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है कि दोनों विदेश मंत्रियों के बीच अलग से भी कोई मुलाकात होगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को लिखी अपनी चिट्ठी में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के दौरान विदेश मंत्रियों की बैठक करने का सुझाव देते हुए आपसी रिश्तों की शुरुआत में इसे पहला कदम बताया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चिट्ठी लिखते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत और पाकिस्तान के बीच दोबारा व्यापक वार्ता शुरु करने की मांग की। इसके साथ ही, उन्होंने यह सुझाव दिया कि इस दिशा में पहला कदम उठाते हुए इस महीने के आखिर में दोनों देशों के विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और शाह महमूद कुरैशी के बीच वार्ता होनी चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआई को मिली इमरान खान की चिट्ठी में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तरफ से यह कहा गया है- “पाकिस्तान और भारत भारत के बीच निश्चित तौर पर चुनौती भरे संबंध रहे है। ऐसे में हमें अपने लोगों खासकर भविष्य की पीढ़ियों को ध्यान में रखते हुए जम्मू कश्मीर समेत सभी विवादित मुद्दों का समाधान करना चाहिए और आपसी फायदे के लिए मतभेद को दूर किया जाना चाहिए।”

दरअसल, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने पीएम नरेंद्र मोदी को जो चिट्ठी लिखी है, उसमें भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से वार्ता बहाल करने की बात कही गई है। पत्र में इमरान खान ने दोनों देशों के बीच विदेश मंत्री स्तर की वार्ता का भी सुझाव दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद पर भी बातचीत करने को हमेशा तैयार है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पत्र भारत के प्रधानमंत्री के पास ऐसे वक्त में आया है, जब एक दिन पहले ही अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर एक बीएसएफ जवान की पाकिस्तानी सैनिकों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी।
अन्य पास-पड़ोस लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack