Friday, 21 September 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

शिव ही ब्रह्मांड हैंः कैलाश-मानसरोवर यात्रा की फोटो शेयर कर लिखा राहुल गांधी ने

शिव ही ब्रह्मांड हैंः कैलाश-मानसरोवर यात्रा की फोटो शेयर कर लिखा राहुल गांधी ने नई दिल्लीः कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज एक फोटो और वीडियो शेयर कर कहा कि "शिव ही ब्रह्मांड हैं."

उन्होंने ट्विटर पर 18 सेकेंड का वीडियो का शेयर किया है. इसके अलावा वहां से उनकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं जिनमें वह दूसरे तीर्थयात्रियों से बात करते और उनके साथ फोटो खिंचवाते देखे जा सकते हैं.

सार्वजनिक मौकों पर कई बार खुद को 'शिवभक्त' बता चुके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर हैं. कैलाश यात्रा से राहुल गांधी की कई तस्वीरें और वीडियो सामने आ रहे हैं. इनमें राहुल कई अन्य श्रद्धालुओं के साथ दिख रहे हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को बिना रुके 13 घंटे तक पर्वत की चढ़ाई की. इस दौरान राहुल करीब 34 किलोमीटर तक पैदल चले.

बता दें कि कैलाश मानसरोवर चढ़ने का ये सफर काफी मुश्किल है. कई यात्री इस सफर को खच्चर के जरिए पूरा करते हैं, लेकिन राहुल ने पैदल चलने का ही रास्ता चुना. शुक्रवार सुबह जो वीडियो सामने आया है, वह इस सफर को पूरा कर वापस कैंप में लौटने का है.

शुक्रवार को आई राहुल की तस्वीर में टोपी, चश्मा, जींस, जैकेट पहने दिख रहे हैं. राहुल के साथ एक शख्स और भी है. राहुल की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर लेखक साध्वी खोसला ने साझा की. इस तस्वीर के सामने आने के बाद राहुल गांधी ने खुद एक वीडियो साझा की.

नई वीडियो में राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर यात्रा पर अपने कैंप में दिख रहे हैं. राहुल यहां कई अन्य श्रद्धालुओं के साथ खड़े हैं. ये वीडियो भी लेखक साध्वी खोसला ने ही ट्विटर पर साझा की. बता दें कि गुरुवार को भी राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर साझा की थी. उन्होंने लिखा कि इस विशालकाय पर्वत की शरण में आना सौभाग्य की बात है.

राहुल गांधी गत 31 अगस्त को इस यात्रा के लिए नेपाल रवाना हुए थे जहां से उन्होंने कैलाश के लिए प्रस्थान किया था.

गौरतलब है कि 26 अप्रैल को कर्नाटक की यात्रा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के विमान में तकनीकी खराबी आने के कारण विमान तेजी से नीचे आने लगा था, हालांकि फिर पायलट ने विमान संभाल लिया था और सुरक्षित नीचे उतारा था.

इसके तीन दिन बाद 29 अप्रैल को गांधी ने एक रैली के दौरान कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने की घोषणा की थी.
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack