संभालते हैं चेयरमैन की कुर्सी, शाम होते ही जुट जाते हैं वाहन रिपेयर में

जनता जनार्दन संवाददाता , Sep 05, 2018, 17:25 pm IST
Keywords: Mahaveer Jangda   Hisar   Chairman Hisar   Chairman Hisar Haryana   Haryana state   हिसार   मार्केट कमेटी चेयरमैन   महावीर जांगड़ा  
फ़ॉन्ट साइज :
संभालते हैं चेयरमैन की कुर्सी, शाम होते ही जुट जाते हैं वाहन रिपेयर में हिसार: राजनीति से जुड़े लोगों के प्रति आमजन में जो धारणा है, वह हिसार मार्केट कमेटी चेयरमैन महावीर जांगड़ा को देखकर बदल जाती है। वह दिनभर मार्केट कमेटी के चेयरमैन के रूप में दफ्तर में रहते हैं और शाम पांच बजे से अपनी वर्कशाप में तेल और ग्रीस से सने कपड़ों में हाथ में रिंच लिए बस और ट्रकों के इंजन बांधते हुए नजर आते हैं। जिस पद पर वह हैं, चाहें तो अच्छी खासी आय कर सकते हैं, लेकिन इसे वह अनैतिक मानते हैं।

जांगड़ा सन् 1983 से ऑटो मार्केट में वाहनों की रिपेयरिंग का काम करते हैं। दो वर्ष पहले तक वह रोजाना सुबह अपनी 'एमएस मोटर वर्क्‍स' वर्कशाप पर आते थे और शाम को काम खत्म कर सेक्टर 14 स्थित अपने घर लौट जाते थे। अचानक एक दिन सूचना मिली कि प्रदेश सरकार ने उन्हें मार्केट कमेटी के चेयरमैन की जिम्मेदारी सौंपी है। कोई और होता तो उसका दिल बल्लियों उछलने लगता। मगर महाबीर पशोपेश में पड़ गए। अब दुकान कैसे देखेंगे। घर का खर्च कैसे चलेगा। पद का दुरुपयोग कर पैसे कमाना वह हेय मानते थे।

फिर उन्होंने रास्ता निकाला। दिनभर मार्केट कमेटी के दफ्तर में वहां का कामकाज निपटाते हैं। शाम को मैकेनिक वाली ड्रेस पहन वाहनों के इंजन की ओवर हालिंग में जुट जाते हैं। वह रात 11-12 बजे तक वर्कशाप पर अपने दोनों बेटे संदीप और मनोज के अलावा चार मिस्त्रियों के साथ वर्कशाप पर काम में जुटे देखे जा सकते हैं।

महाबीर जांगड़ा कहते हैं कि राजनीतिक कार्यकर्ता होने के कारण जो जिम्मेदारी उन्हें मिली है, वह समाज कार्य के लिए है। वह आपकी सुख सुविधा के लिए नहीं है। वह बताते है कि गुरुकुल घरौंडा की स्थापना करने वाले स्वामी रामेश्वरानंद सरस्वती सन 1962 में जनसंघ के टिकट पर करनाल लोकसभा सीट से सांसद बने।
अन्य मिसाल लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack