Friday, 19 October 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

रुहानी ने चेताया ईरान से लड़ाई 'सभी युद्धों की मां', ट्रंप की चेतावनी 'दोबारा धमकाने की गलती मत करना'

रुहानी ने चेताया ईरान से लड़ाई 'सभी युद्धों की मां', ट्रंप की चेतावनी 'दोबारा धमकाने की गलती मत करना' वाशिंगटनः अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ईरान को चेतावनी दी कि अगर वह अमेरिका को धमकाता है तो उसे ऐसे अंजाम भुगतने पड़ेंगे जिनके उदाहरण इतिहास में विरले ही मिलते हैं.

उन्होंने ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी को दिए सीधे संदेश में टि्वटर पर लिखा, 'अमेरिका को दोबारा कभी भी ना धमकाएं अन्यथा आपको ऐसे अंजाम भुगतने पड़ेंगे जिसके उदाहरण इतिहास में बिरले ही मिलते हैं.' ट्रंप ने मैसेज में लिखा, 'हम ऐसे देश नहीं है जो आपके हिंसा और मौत के विक्षिप्त शब्दों को बर्दाश्त करेंगे. सतर्क रहो.'

गौरतलब है कि ट्रंप की इस टिप्पणी से पहले रुहानी ने अमेरिकी नेता को चेतावनी दी कि वह सोते हुए शेर को ना छेड़ें. रुहानी ने कहा कि ईरान के साथ लड़ाई सभी युद्धों की मां (सबसे भीषण लड़ाई) साबित होगी. परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया के साथ ऐतिहासिक बातचीत के बाद से ही ईरान ट्रंप के निशाने पर है.

वहीं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने का कहना है कि उनका देश ईरानी सरकार के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाकर उनसे निपटने से डरता नहीं है. ईरान के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अलग होने के बाद पोम्पिओ ने 21 मई को नई रणनीति का खुलासा किया था जिसके तहत ईरान को कई सख्त मांगे मानने या इतिहास में सबसे कड़े प्रतिबंधों का सामना करने को कहा गया.

पोम्पिओ ने ईरान की न्यायपालिका के प्रमुख सादिक लर्जानी के खिलाफ जनवरी में लगाए गए प्रतिबंधों का जिक्र करते हुए कैलिफोर्निया में एक भाषण में कहा कि हम ईरानी सरकार के शीर्ष अधिकारियों से निपटने से नहीं डरते.
अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack