बारिश से बेहाल मुंबई: लोकल ट्रेनें रद्द, डिब्बावाला ने रोकी सेवाएं, अभी और बरसेंगे मेघ

बारिश से बेहाल मुंबई: लोकल ट्रेनें रद्द, डिब्बावाला ने रोकी सेवाएं, अभी और बरसेंगे मेघ मुंबई: मुंबई में बरसात का कहर जारी है. भारी बारिश के चलते पटरियों में पानी भर जाने से 90 लोकल ट्रेन रद्द कर दी गई हैं वहीं कुछ 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं. मुंबई में कल रात से भारी हुई है जिसकी वजह से जगह पानी भर गया है. मौसम विभाग की ओर से जारी भारी बारिश चेतावनी के बाद से 'डिब्बावालों' ने अपनी सेवाएं रोक दी हैं. सोमवार को मुंबई में सामान्य से 5 गुना ज्यादा बारिश दर्ज की गई है.

मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में सड़क, रेल और हवाई सभी यातायात का इस पर बेहद बुरा असर पड़ रहा है. जहां सड़कों पर जगह-जगह पानी भरा है, ट्रेनों की पटरियां पानी में डूबी हुई हैं, तो वहीं पिछले दो दिनों में 700 से ज्यादा फ्लाइट्स ने देरी से उड़ान भरी है. इसमें 400 फ्लाइट्स रविवार को और 300 फ्लाइट्स ने सोमवार को देरी से उड़ान भरी. ज्यादातर फ्लाइट्स ने कम से कम आधे घंटे की देरी के बाद उड़ान भरी.

मुंबई और नजदीक के क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश के कारण सड़कों, रेलवे की पटरियों पर पानी भर गया और शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. यहां बारिश की वजह से 90 ट्रेनों का परिचालन रद्द करना पड़ा है. जिला सूचना अधिकारी ने बताया कि पालघर जिले के वसई में जलभराव के कारण करीब 300 लोग अपने घरों में फंस गए। हालांकि यहां के लोगों ने जिला प्रशासन के इस जगह को खाली करने की अपील मानने से इंकार कर दिया. अधिकारी ने बताया, 'हमने ऐहतियाती कदम के तौर पर उनके घरों के निकट एबुलेंस खड़ी कर रखी थी.'

इस मौसम में एक दिन में हुई यह सर्वाधिक बारिश है जिसके कारण कई सड़कों और गलियों में पानी भर गया. लोगों को घुटनों तक भरे पानी से गुजरना पड़ा. बारिश और कम दृश्यता के कारण वाहन सड़कों पर रेंगते रहे, सड़कों पर बने गड्ढों से समस्या और भी जटिल हो गई है. कई स्कूलों ने छुट्टी घोषित कर दी और कई लोग दफ्तर नहीं गए.

पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि कुछ रेलवे पटरियां पानी में डूब गए जिस पर रेल यातायात रोक दिया गया है. हालांकि, अन्य पटरियों पर सीमित गति से रेलगाड़ियां चलती रहीं. कुर्ला, सायन और दादर में बहुत अधिक जलभराव हुआ है. अधिकारी ने बताया कि सेंट्रल रेलवे में रेलगाड़ियां चल रही हैं और कोई भी सेवा रद्द नहीं की गई है. बृहन्मुंबई बिजली आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) के प्रवक्ता ने बताया कि बसें देरी से चल रही हैं लेकिन कोई भी सेवा रद्द या निलंबित नहीं की गई है.

मौसम विभाग ने मुंबई में कल तक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान जताया है. कोलाबा वेधशाला में बीते 24 घंटे में 170.6 मिमी बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग, मुंबई के उप महानिदेशक केएस होसालिकर ने बताया, 'इस मौसम में 24 घंटे में हुई यह सर्वाधिक बारिश है.' उन्होंने बताया कि इसी दौरान उपनगर सांताक्रूज में 122 मिमी बारिश हुई.

मुंबई बारिश से जुड़ी 10 बातें
  1.     मुंबई और नजदीक के क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश के कारण सड़कों, रेलवे की पटरियों पर पानी भर गया और शहर में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया. यहां बारिश की वजह से 90 ट्रेनों का परिचालन रद्द करना पड़ा.  
  2.     जिला सूचना अधिकारी ने बताया कि पालघर जिले के वसई में जलभराव के कारण करीब 300 लोग अपने घरों में फंस गए.  
  3.     हालांकि यहां के लोगों ने जिला प्रशासन के इस जगह को खाली करने की अपील मानने से इंकार कर दिया. अधिकारी ने बताया, ‘‘ हमने ऐहतियाती कदम के तौर पर उनके घरों के निकट एबुलेंस खड़ी कर रखी थी.’’    
  4.     इस मौसम में एक दिन में हुई यह सर्वाधिक बारिश है जिसके कारण कई सड़कों और गलियों में पानी भर गया। लोगों को घुटनों तक भरे पानी से गुजरना पड़ा.    
  5.     बारिश और कम दृश्यता के कारण वाहन सड़कों पर रेंगते रहे, सड़कों पर बने गड्ढों से समस्या और भी जटिल हो गयी है. कई स्कूलों ने आज छुट्टी घोषित कर दी और कई लोग दफ्तर नहीं गए.    
  6.     पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि कुछ रेलवे पटरियां पानी में डूब गईं जिस पर रेल यातायात रोक दिया गया है.
  7.     हालांकि, अन्य पटरियों पर सीमित गति से रेलगाड़ियां चलती रहीं. कुर्ला, सायन और दादर में बहुत अधिक जल भराव हुआ है. अधिकारी ने बताया कि सेंट्रल रेलवे में रेलगाड़ियां चल रही हैं और कोई भी सेवा रद्द नहीं की गई है.    
  8.     बृहन्मुंबई बिजली आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) के प्रवक्ता ने बताया कि बसें देरी से चल रही हैं लेकिन कोई भी सेवा रद्द या निलंबित नहीं की गई है.
  9.     मौसम विभाग ने मुंबई में मंगलवार तक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान जताया है. कोलाबा वेधशाला में बीते 24 घंटे में 170.6 मिमी बारिश दर्ज की गई.
  10.     मौसम विभाग, मुंबई के उप महानिदेशक केएस होसालिकर ने बताया, ‘‘ इस मौसम में 24 घंटे में हुई यह सर्वाधिक बारिश है.’’
अन्य शहर लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack