Thursday, 20 September 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

फीफा विश्व कप 2018: क्वार्टर फाइनल, रूस बनाम क्रोएशिया; पेनल्टी शूटआउट में रूस को 4-3 से हरा क्रोएशिया सेमीफाइनल में

फीफा विश्व कप 2018: क्वार्टर फाइनल, रूस बनाम क्रोएशिया; पेनल्टी शूटआउट में रूस को 4-3 से हरा क्रोएशिया सेमीफाइनल में मॉस्कोः रूस में खेले जा रहे 21वें फीफा विश्व कप में रविवार के दूसरा क्वार्टरफाइनल में क्रोएशिया ने पेनल्टी शूटआउट में रूस को 4-3 के अंतर से हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है.

क्रोएशिया ने पेनाल्टी शूटआउट तक गए फीफा विश्व कप के एक रोमांचक क्वार्टर फाइनल मुकाबले में रूस को 4-3 (2-2) में हराकर अगले दौर में जगह बना ली है. क्रोएशिया 1998 में हुए विश्व कप के बाद पहली बार इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश करने में कामयाब हुआ है.

गौरतलब है कि हाउ टाइम तक मुकाबला 1-1 की बराबरी पर आ गया था. रूस ने खेल के 31वें मिनट में चेरीशेव के गोल से 1-0 से बढ़त हासिल की थी, लेकिन आठ मिनट बाद ही ए. क्रैमानिक के गोल से क्रोएशिया ने स्कोर 1-1 कर दिया.

इसके बाद मिले अतिरिक्त समय में क्रोशिया में 2-1 की बढ़त ली जिसे बाद में रूस ने बराबर कर लिया.

रूस के मिडफील्डर डेनिस चेरीशेव ने 31वें मिनट में बॉक्स के बाहर 25 गज के दूरी से दमदार गोल दागकर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। इसके आठ मिनट बाद, स्ट्राइकर मारियो मांजुकिक ने बाईं छोर से बॉक्स में एंद्रेज करामारिक को क्रॉस दिया जिन्होंने हेडर से गोल करके अपनी टीम को बराबरी दिला दी। दूसरे हाफ में भी दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। गोल करने का पहला साफ मौका क्रोएशिया के मिडफील्डर इवान पेरीसिक को 60वें मिनट में अपनी को बढ़त दिलाने का मौका मिला। पेरीसिक ने छह गज की दूरी से शॉट लगाया लकिन गेंद गोल पोस्ट से लगकर बाहर चली गई।

रूस ने भी गोल करने के मौके बनाए और क्रोएशिया के बॉक्स के पास लगातार हलचल मचाई। हालांकि, वे गेंद को गोल में नहीं डाल पाए और मैच अतिरिक्त समय में गया। अतिरिक्त समय में डोमागोज विदा (101 मिनट) ने क्रोएशिया को 2-1 की महत्वपूर्ण बढ़त दिला दी। रूस ने मैच का दूसरा गोल खाने के बाद भी अपना संयम नहीं खोया। 115वें मिनट में मारियो फनार्डेज ने मेजबान टीम के लिए बराबरी का गोल दागा और मैच का पेनाल्टी शूटआउट तक गया जहां क्रोएशिया ने बाजी मारी.

पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया के लिए मासेर्लो ब्राजोविक, लुका मोड्रिक, विदा और इवान रेकेटिक ने गोल किए जबकि रियल मेड्रिड से खेलने वाले मटिओ कोवाचिक गेंद को गोल में नहीं डाल पाए. रूस के लिए एलन ड्झागोव, सर्गेई इग्नाशेविक और डालेर कुज्येव ने गोल दागे जबकि एलेक्जेंडर सोमेडोव और फर्नाडेज गोल करने से चूक गए.

इसके बाद गेम पेनल्टी शूटआउट तक गया. शूटआउट में क्रोएशिया ने रूस को 4-3 से शिकस्त दी. शूटआउट से पहले क्रोएशिया के लिए एंद्रेज करामारिक (39वें मिनट) और डोमागोज विदा (101 मिनट) ने गोल दागा जबकि रूस के लिए डेनिस चेरीशेव (31वें मिनट) और मारियो फनार्डेज (115वें मिनट) ने गोल किया.

क्रोएशिया बुधवार को सेमीफाइनल में इंग्लैंड का सामना करेगी.
 
मैच प्रिव्यूः

फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में मेजबान रूस का सामना अब से कुछ ही देर बाद स्टेडियम में क्रोएशिया से होगा. टूर्नामेंट के पहले मुकाबले में धमाकेदार जीत दर्ज करने वाली रूस की टीम क्रोएशिया के खिलाफ अपनी आक्रमकता के बल पर जीत दर्ज करना चाहेगी.

दूसरी तरफ क्रोएशिया की कोशिश 20 साल बाद एक बार फिर सेमीफाइनल में कदम रखने की होगी. रूस ने ग्रुप चरण में तीन में से दो मैच जीतकर छह अंकों के साथ अंतिम-16 में प्रवेश किया जहां उसने स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में हराकर क्वार्टर फाइनल में कदम रखा. रूस को एक बार फिर अपने दो स्टार खिलाड़ियों अर्टेम ज्यूबा और डेनिस चेरीशेव से काफी उम्मीदें. होंगी जो टूर्नामेंट में अब तक तीन-तीन गोल दाग चुके हैं.

वर्ष 1991 में सोवियत संघ के विघटन के बाद से रूस कभी भी ग्रुप चरण से आगे नहीं बढ़ा है और इस बार उसके पास अपने घरेलू दर्शकों के सामने इतिहास रचने का मौका है. सोवियत संघ के रूप में उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1966 में रहा था जब उसने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था.  वैसे रूस के शहर यारोस्लावल में एक डॉल्फिन ने मेजबान टीम के जीतने और सेमीफाइनल में पहुंचने की भविष्यवाणी की है.

यह देखना दिलचस्प होगा कि डॉल्फिन की यह भविष्यवाणी कहां तक सही साबित होती है. रूस और क्रोएशिया की टीमें शूटआउट में जीत दर्ज कर क्वार्टर फाइनल तक पहुंची हैं. ऐसे में मुकाबला कड़ा होने की उम्मीद है क्योंकि दोनों ही टीमें जल्दी गोल खाना नहीं चाहेगी.

क्रोएशिया ने भी अपने प्रदर्शन से सभी को चौंकाया है. क्रोएशिया ग्रुप चरण में तीन मैचों में तीन जीत के साथ नौ अंक लेकर अंतिम-16 में पहुंचा था जहां उसने डेनमार्क को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 (1-1) से हराकर क्वार्टर फाइनल में कदम रखा है. क्रोएशिया 1998 में पहली बार विश्व कप के सेमीफाइनल पहुंचा था और उसकी कोशिश 20 साल बाद एक बार फिर से अंतिम-4 में पहुंचने की होगी. टीम के स्टार खिलाड़ियों में शामिल लुका मोड्रिक से टीम को काफी उम्मीदें होंगी.

रियल मेड्रिड के लिए खेलने वाले मोड्रिक के अलावा टीम के 16 खिलाड़ी यूरोप की पांच बड़ी लीग में खेलते है जिसका फायदा टीम को मिलता दिख रहा है. कोएशिया हालांकि रूस को हल्के में नहीं लेना चाहेगा जिसने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है. क्रोएशिया को मैदान पर रूस से पार पाने के साथ-साथ उसके घरेलू दर्शकों के समर्थनों से भी पार पाना होगा जो उसके लिए एक अलग ही चुनौती की तरह होगी. दोनों देशों की अंतिम एकादश इन खिलाड़ियों से चुनी जाएंगी.

क्रोएशिया : गोलकीपर : डेनिजेल सुबासिक, लोवरो कालिनिक और डोमिनिक लिवाकोविक, डिफेंडर : वेद्रन कोलुर्का, डोमागोज विदा, इवान स्ट्रिनीक, डेजान लोवरेन, सिमे वसाल्जको, जोसिप पीवारिक, टिन जेडवेज, डुजे सालेटा कार, मिडफील्डर : लुका मोड्रिक, मटिओ कोवाचिक, इवान रेकिटिक, मिलान बाडेल्ज, मासेर्लो ब्राजोविक और फिलिप ब्राडेरिक, फारवर्ड : मारियो मांजुकिक, इवान पेरीसिक, निकोला कालिनीक, एंद्रेज करामारिक, मार्को पीजासा और एंटे रेबिक.

रूस: गोलकीपर : इगोर एकिन्फेव, व्लादिमीर गैबुलोव, एंड्री ल्यूनेव, डिफेंडर : व्लादिमीर ग्रेनाट, रुस्लान कंबोलोव, फेडर कुद्रीशोव, इल्या कुटेपोव, आंद्रे सेम्योनोव, इगोर स्मोलनिकोव, मारियो फनार्डेज,  मिडफील्डर : युरी गाजिंस्की, एलेक्जेंडर गोलोविन, एलन ड्झागोव, युरी झिर्कोव, रोमन जोबिन, डालेर कुज्येव, एंटोन मिरंचुक, एलेक्जेंडर सामेडोव, एलेक्जेंडर ताश, डेनिस चेरीशेव, फॉरवर्ड : अर्टेम ज्युबा, एलेक्सी मिरांचुक, फेडर स्मोलोव.
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack