डा सीताराम विशारद की 99वीं जयंती मनी

जनता जनार्दन संवाददाता , Jul 07, 2018, 9:51 am IST
Keywords: Varanasi City   Holy City Varanasi   Uttarpradesh   State News UP  
फ़ॉन्ट साइज :
डा सीताराम विशारद की 99वीं जयंती मनी
वाराणसी: संत रविदास सोसाइटी के तत्वाधान में म्यूजिक पैराडाइज हाल, शिवाला में आयोजित स्वतंत्रता सेनानी डा सीताराम विशारद जी की 99वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय पूर्व मंत्री एवं विधायक अजय राय ने दीपप्रज्जवलित कर किया। मुख्य अतिथि के रूप में पधारे श्री अजय राय ने डा सीताराम विशारद के व्यक्तित्व और समाज के लिए उनके योगदान पर विस्तार से प्रकाश डाला। 
 
उन्होंने डॉ विशारद की भारत के स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन ,दलितों के उत्थान हेतु आंदोलन एवं गरीबों को संसाधन उपलब्ध कराने के आंदोलनों में सक्रिय योगदानों का स्मरण कराया श्री राय ने बताया कि काशी की धरती ऐसे ही समाजसेवियों द्वारा संजोयी हुई है जिन्होंने निः स्वार्थ सेवा कर काशी को पूज्यनीय बनाया है। हम सभी को चाहिए कि हम अपनी जड़ों के सदृश्य अपने बुजुर्गों के सत्कर्मों से प्रेरणा लें और अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करें।
 
इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे पूर्व विधानसभा प्रत्यासी मो रिजवान अहमद ने सभी का स्वागत करते हुए संत रविदास सोसाइटी द्वारा आयोजित स्वतंत्रता सेनानी डा सीताराम विशारद की जयंती समारोह की सराहना की साथ ही विशारद जी के सामाजिक योगदानों पर विस्तार से प्रकाश डाला।
 
उन्होंने बतलाया कि विशारद जी किस प्रकार न्यूनतम संसाधनों में भी समाज के सभी वर्गों के हितों के लिए कार्य किया।वे ऐसे महापुरुष थे जिन्होंने एक रिक्शा वाले श्रमिक से लेकर उच्च पदासीन अधिकारियों तक के लिए कार्य किया,साधारण जीवन व्यतीत करने वाले विशारद जी ने स्वयं भी समाज के विभिन्न वर्गों के लिए आजीवन संघर्ष किया था। आज हम सभी 100वीं जयंती को पूरी भव्यता के साथ मनाने के  संकल्प के साथ  विशारद जी श्रद्धांजलि समर्पित करते है।
 
 
इस अवसर एक संगीत संध्या का का आयोजन भी किया गया था ,जिसमें संगीतकारों श्री राहुल पंकज,श्सुनील प्रसन्ना, आशुतोष मिश्रा ,हृषी एवं  हंस राज ने सुरुचिपूर्ण प्रस्तुतियां दी,इस अवसर पर संत रविदास सोसाइटी के सदस्यों में अध्यक्ष श्री निरंजन देव भारती, राज कुमार टुन टुन,रमेश कुमार बागी,अमरनाथ आजाद,अजय कुमार, मीनाक्षी देवी,सुधांशु राव,नित्यानंद,श्जगदीश्वर चैधरी,शोभनाथ एवं राजबाबू दरोगा ने डा सीताराम विशारद जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर अपने विचार प्रस्तुत किये।
 
सभी का स्वागत करते हुए श्रीमती आशा कुमारी जी ने डा सीताराम विशारद जी के जीवन संघर्षों पर विस्तार से प्रकाश डाला और जटिल परिस्थितियों में भी समाज की सेवा कर आजाद भारत हेतु अपना योगदान दिया,कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री निरंजन देव भारती ने एवं धन्यवाद ज्ञापन श्रीमती आशा कुमारी जी ने किया।
अन्य शहर लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack