Tuesday, 10 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

हर्बट सेसिल बूथ का 147वां जन्मदिनः गूगल डूडल ने वैक्यूम क्लीनर बनाने वाले को किया याद

हर्बट सेसिल बूथ का 147वां जन्मदिनः गूगल डूडल ने वैक्यूम क्लीनर बनाने वाले को किया याद नई दिल्लीः गूगल ने ब्रिटिश इंजीनियर हर्बट सेसिल बूथ के 147वें जन्मदिन पर डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. हर्बट सेसिल बूथ ने पहले पावर्ड वैक्यूम क्लीनर की खोज की थी, जो मिट्टी को भी सोख सकता था. इससे पहले जो वैक्यूम क्लीनर इस्तेमाल होते थे वो मिट्टी को सोखते नहीं थे, बल्कि उसे दूर करते थे.

गूगल ने इस खास मौके पर एक एनिमेटेड डूडल बनाया है. इस डूडल को दो भागों में बांटा गया है. इसमें एक तरफ एक शख्स वैक्यूम क्लीनर के जरिए सफाई करता हुआ नजर आ रहा है और दूसरी तरफ एक घोड़ा गाड़ी खड़ी है जो वैक्यूम क्लीनर से जुड़ी हुई है. इस डूडल के जरिए गूगल ने ये दर्शाने की कोशिश की है कि हर्बट के इस आविष्कार के बाद सफाई करना कितना आसान हो गया.

बूथ के आविष्‍कार से पहले की क्‍लीनिंग मशीनें धूल को उड़ा देती थीं, उसे खींचती नहीं थी। बूथ ने पेट्रोल से चलने वाला वैक्‍यूम क्‍लीनर बनाया जो दिखने में थोड़ा बड़ा था और बिल्डिंग के भीतर लाने में दिक्‍कत होती। मगर उसका सिद्धांत वही था जो आधुनिक वैक्‍यूम क्‍लीनर्स का होता है। बूथ ने सिर्फ वैक्‍यूम क्‍लीनर ही नहीं बनाया, उन्‍होंने फेरिस व्‍हील्‍स, सस्‍पेंशन ब्रिज और फैक्‍ट्रीज का भी डिजाइन तैयार किया।

ग्‍लूसेस्‍टर कॉलेज और ग्‍लूसेस्‍टर काउंटी स्‍कूल से पढ़ाई करने वाले बूथ ने 1889 में लंदन के सेंट्रल टेक्निकल कॉलेज में एडमिशन लिया। यहां उन्‍होंने तीन साल तक सिविल इंजीनियरिंग और मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। इंजीनियरिंग विभाग में सेकेंड पोजिशन पर रहते हुए उन्‍होंने डिप्‍लोमा ऑफ एसोसिएटशिप पूरा किया। बाद में वह इंस्‍टीट्यूट ऑफ सिविल इंजीनियर्स के छात्र बन गए। बाद में वे वैक्यूम क्लिनर ऐंड इंजिनियंरिंग कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर भी बने।
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack