Sunday, 20 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

फीफा विश्व कप 2018: क्रोएशिया बनाम डेनमार्क, आखिरी 16 मुकाबला, पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया की डेनमार्क पर 4-3 से जीत

फीफा विश्व कप 2018: क्रोएशिया बनाम डेनमार्क, आखिरी 16 मुकाबला, पेनाल्टी शूटआउट में क्रोएशिया की डेनमार्क पर 4-3 से जीत मॉस्कोः क्रोएशिया ने रविवार को फीफा विश्व कप 2018 के बेहद रोमांचक मैच में डेनमार्क को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। दोनों टीमों के बीच फुलटाइम तक स्कोर 1-1 की बराबरी पर था। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में फैसला निकला और अंतिम यानी पांचवीं किक पर क्रोएशिया ने मुकाबला अपने नाम किया।

इससे बेहतरीन मुकाबला और कब देखने को मिलेगा। मैच में कोई स्ट्राइकर या नया खिलाड़ी नहीं बल्कि दोनों टीमों के गोलकीपर्स हीरो बने। जी हां, क्रोएशिया और डेनमार्क के गोलकीपर्स ने बेहतरीन खेल दिखाकर फैंस को अपना मुरीद बना लिया। अंत में जीत क्रोएशिया की हुई।

अब क्रोएशिया का अगले सप्ताह शनिवार को क्वार्टरफाइनल में रूस से मुकाबला होगा , जिसने राउंड ऑफ 16 के पहले मैच में स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में 3-2 से हराया था।

बहरहाल, डेनमार्क और क्रोएशिया के बीच मुकाबला शुरुआत से ही बेहद रोमांचक हुआ। डेनमार्क के जर्गेनसन ने पहले मिनट के अंदर ही गोल दागकर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। मथायस जर्गेनसन ने मैच के 57वें सेकंड में गोल दागा जो 2014 विश्व कप के बाद सबसे तेज गोल है। क्लिंट डेंप्से ने पिछले विश्व कप में घाना के खिलाफ सिर्फ 29वें सेकंड में गोल दागा था।

क्रोएशिया ने तीन मिनट के बाद ही बराबरी की। मारियो मानड्जूकिक ने बेहतरीन गोल करके क्रोएशिया को बराबरी दिलाई। इसके बाद कुछ देर के लिए मुकाबला बोरिंग भी लगा। पहले हाफ व दूसरे हाफ तक स्कोर 1-1 की बराबरी पर रहा।

इसके बाद एक्स्ट्रा टाइम में मैच गया जहां दोनों टीमें गोल करने में कामयाब नहीं हुई। हालांकि, अंतिम पलों में क्रोएशिया को पेनल्टी मिली थी, लेकिन मोड्रिक ने खराब शॉट खेला और डेनमार्क के गोलकीपर शेमीचेल ने बेहतरीन बचाव किया।

फिर विजेता का फैसला पेनल्टी शूटआउट के जरिये हुए, जिसमें क्रोएशिया ने डेनमार्क को मात देते हुए क्वार्टरफाइनल में जगह पक्की की।

मिनट दर मिनट मैच इस प्रकार है:

डेनमार्क - 26 वर्षीय क्रिस्चियन एरिक्सन ने लिया पहला शॉट - सुआसिक ने शानदार बचाव किया। गोल नहीं हुआ।

क्रोएशिया - बेडेल ने खेला शॉट- नीचा शॉट दाएं ओर खेला, डेनमार्क के गोलकीपर शेमीचेल ने बेहतरीन बचाव किया। गोल नहीं हुआ।

डेनमार्क - साइमन ने लिया शॉट, गोलकीपर के दाएं ओर से हवा में दमदार किक जमाई और गोल किया।

क्रोएशिया - आंद्रेज क्रैमरिक ने भी किया गोल। गोलकीपर ने क्रैमरिक के खिलाफ दो बार रूकने की अपील की, रेफरी ने नहीं माना।

डेनमार्क - माइकल क्रोह्न ने भी किया गोल। सुबासिक को गलत दिशा में भेजते हुए किया गोल। डेनमार्क 2-1 क्रोएशिया।

क्रोएशिया - ल्यूका मोड्रिक ने आखिरकार सफल पेनल्टी ली। शेमीचेल को छकाने में कामयाब हुए।

डेनमार्क - लासे शोन विश्वास से लबरेज नहीं नजर आए। सुबासिक का बेहतरीन बचाव। डेनमार्क 2-2 क्रोएशिया।

क्रोएशिया - जोसिप पीवारिक का प्रयास भी विफल। डेनमार्क की दीवार शेमीचेल ने एक बार फिर शानदार बचाव किया। दाएं तरफ डाइव लगाकर बहुत ही अच्छा बचाव।

डेनमार्क - निकोलई जर्गेनसन का प्रयास रोक लिया गया। सीधा किक बहुत ही खराब। सुबासिक ने पैरों ने गेंद रोक दी। क्रोएशिया के पास जीत का सुनहरा मौका।

क्रोएशिया - इवान राकिटिच ने बड़े ही आराम से किया गोल। क्रोएशिया ने पेनल्टी शूटआउट में डेनमार्क को 3-2 से हराया और क्वार्टरफाइनल में जगह पक्की की। अब अगले शनिवार को क्रोएशिया का मुकाबला रूस से होगा।

फुल टाइम - क्रोएशिया 1-1 डेनमार्क

मारियो मानड्जूकिक- क्रोएशिया की तरफ से किया गोल

मथायस जर्गेनसन- डेनमार्क की तरफ से किया गोल

116 मिनट: शेमीचेल ने शानदार बचाव किया। डेनमार्क के लाखों फैंस खुश। केस्पर शेमीचेल ने दाएं ओर शानदार डाइव लगाई और मोड्रिक के किक को रोक लिया। वैसे मोड्रिक ने पेनल्टी बहुत ही खराब ली थी।

114 मिनट: क्रोएशिया को मिली पेनल्टी। आखिर में मैच में जान लौट आई। लुका मोड्रिक ने एंटे रेबिच को शानदार पास दिया। उन्होंने डिफेंडरों को छकाते हुए बॉक्स के अंदर एंट्री की। यहीं नहीं, रेबिच ने गोलकीपर शेमीचेल को भी छका दिया, लेकिन मथायस जर्गेनसन ने फाउल करते हुए गेंद छीनी।

108 मिनट: सिस्तो ने बनाया बेहतरीन गोल का मूव। क्रोएशिया के खिलाड़ी थके हुए नजर आ रहे हैं और उसका फायदा डेनमार्क के स्थानापन्न खिलाड़ी सिस्तो ने भरपूर उठाया। हालांकि उनका शॉट गोलपोस्ट से दूर गया। मगर सिस्तो ने क्रोएशियाई फैंस की धड़कने जरूर बढ़ा दी।

एक्स्ट्रा टाइम पहला हाफ - क्रोएशिया 1-1 डेनमार्क

मारियो मानड्जूकिक- क्रोएशिया की तरफ से किया गोल

मथायस जर्गेनसन- डेनमार्क की तरफ से किया गोल

104 मिनट: डेनमार्क के गोलकीपर शिमिचेल का शानदार बचाव। क्रोएशिया के क्रैमेरिक ने दूर से हवा में चिप किया। उन्होंने शानदार किक जमाया, जिस पर लगा कि गोल होगा, लेकिन दानिश गोलकीपर सही समय पर उछले और हाथ से गेंद मारकर गोलपोस्ट के बाहर कर दिया।

99 मिनट: शोना ने गोल करने का सुनहरा मौका बनाया। डेनमार्क के खिलाड़ी ने सेंटर पर गेंद हासिल की और क्रोएशियाई डिफेंडर को छकाकर गोल करने का मूव बनाया। उन्होंने शानदार किक भी जमाई, लेकिन गेंद गोलपोस्ट से दूर रह गई।

96 मिनट: डेनमार्क के पास गोल करने का अच्छा मौका आया। नडसन ने लंबा थ्रो किया और इसके बाद दानिश टीम ने गोल करने के करीब चार प्रयास किए। मगर गोल करने में सफल नहीं हुए।

92 मिनट: नडसन ने अच्छा थ्रो इन किया और डेनमार्क ने शुरुआत में ही गोल करने का प्रयास किया। हालांकि, क्रोएशिया के डिफेंडर ने पैर अड़ाकर गेंद दूर भेज दी।

एक्स्ट्रा टाइम के टॉस में क्रोएशिया की जीत हुई। क्रोएशिया लेफ्ट टू राइट और डेनमार्क राइट टू लेफ्ट अटैक करेगी।

फुल टाइम - क्रोएशिया 1-1 डेनमार्क

मारियो मानड्जूकिक- क्रोएशिया की तरफ से किया गोल

मथायस जर्गेनसन- डेनमार्क की तरफ से किया गोल

90+1 मिनट: इवान राकिटिच ने गोल करने का बहुत ही अच्छा प्रयास किया। हालांकि, यह गोलपोस्ट के बाहर चला गया। एक पल को डेनमार्क के फैंस की सांसे रूक गई होंगी।

86 मिनट: क्रोएशिया ने गोल करने का मौका गंवाया। तीसरा कॉर्नर मिला, लेकिन गोल नहीं कर सके। रेबिक ने दाएं ओर डेनमार्क के डिफेंडर को तीन बार छकाकर क्रॉस पास किया। एक अन्य दानिश डिफेंडर ने बचाव किया और गेंद दूर गई। पीछे से पीवारिक ने दौड़ लगाते हुए जोरदार किक जमाने की कोशिश की, लेकिन एक डिफेंडर ने उन्हें किक मारने से रोकने में सफलता हासिल की। इसके बाद कॉर्नर भी क्रोएशिया के किसी काम नहीं आया और गोल टल गया।

83 मिनट: क्रोएशिया के कोवासिच हुए चोटिल। मैटियो कोवासिच डेनमार्क के डिफेंडर से टकराकर मैदान पर गिरे। उन्हें कंधें में चोट आई। दर्द के चलते मैदान पर ही उनका उपचार किया और फिर बाहर ले जाया गया। 70वें मिनट में कोवासिच मैदान पर आए थे।

81 मिनट: क्रोएशिया ने किया दूसरा बदलाव। जोसिप पीवारिक की जगह इवान स्ट्रीनिच को लेफ्ट बैक के लिए मौका दिया।

78 मिनट: रेबिक ने एक बार फिर अच्छा प्रयास किया और क्रोएशिया को बढ़त दिलाने की भरपूर कोशिश की। दाएं विंग पर मुस्तैद रेबिक काफी दूर से अकेले के दम पर गेंद काफी दूर से लेकर आए और डिफेंडरों को छकाते हुए गोल करने का मूव बनाया। उन्होंने काफी दूर से किक जमाई, जो सीधे डेनमार्क के गोलकीपर के हाथों में गई।

73 मिनट: जर्गेनसन के पास सुनहरा मौका। डेनमार्क लगातार गोल करने का प्रयास कर रही है। पॉलसेन ने अच्छा मौका बनाया और निकोलई जर्गेनसन को पास दिया। जर्गेनसन ने किक जरूर जमाई, लेकिन गेंद सीधे गोलकीपर के हाथों में गई।

71 मिनट: क्रोएशिया ने अपने हमले तेज किए। इस दौरान उसने एक बदलाव भी किया। ब्रोजोविक की जगह मैटियो कोवासिक को मौका दिया गया।

मजेदार फैक्ट: मथायस जर्गेनसन ने मैच के 57वें सेकंड में गोल दागा जो 2014 विश्व कप के बाद सबसे तेज गोल है। क्लिंट डेंप्से ने पिछले विश्व कप में घाना के खिलाफ सिर्फ 29वें सेकंड में गोल दागा था।

62 मिनट: पॉलसेन का विश्वास बढ़ता हुआ। दाएं विंग से डेनमार्क के खिलाड़ी ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन किया और कुछ क्रोएशियाई डिफेंडरों को छकाया। उन्होंने अपने खिलाड़ी को पास देने का प्रयास किया, लेकिन इसका कोई प्रभाव नहीं हुआ। दूसरे हाफ में अब तक क्रोएशिया का प्रदर्शन फीका नजर आया है।

55 मिनट: डेनमार्क ने दाएं पट्टी से अच्छा मूव बनाया, लेकिन क्रोएशियाई डिफेंडर ने गेंद रोकी। पास में खड़े ब्रैथवेट ने किक जमाई, लेकिन उनका गेंद पर नियंत्रण सही नहीं था और ऐसे में गेंद गोलपोस्ट से बहुत दूर गई।

51 मिनट: डेनमार्क ने दूसरे हाफ की तेज शुरुआत की। युसूफ पॉलसेन ने ने बाएं तरफ से कॉर्नेलियूस से पास हासिल किया और दमदार शॉट लगाया। क्रोएशिया के गोलकीपर सुबासिक ने हवा में उछलकर गेंद गोलपोस्ट से दूर की।

हाफ टाइम - क्रोएशिया 1-1 डेनमार्क

मारियो मानड्जूकिक- क्रोएशिया की तरफ से किया गोल

मथायस जर्गेनसन- डेनमार्क की तरफ से किया गोल

30 मिनट: क्रोएशिया को तीन मौके मिले। सबसे पहले इवान राकिटिच ने दमदार शॉट घुमाया, लेकिन दानिश गोलकीपर केस्पर शिमचेल ने पंच मारकर गेंद दूर भेजी। एंटे रेबिक ने गेंद पर कब्जा किया और बाएं ओर से जोरदार किक जमाई। गोलकीपर ने फिर पंच मारकर गेंद रोकी। आखिरकार इवान पेरिसिक ने किक जमाई, जो गोलपोस्ट के ऊपर से निकल गई।

20 मिनट: क्रोएशिया ने पेनल्टी के लिए लगाई गुहार। मानड्जूकिक के साथ नडसन टकराए और दोनों एक-दूसरे के साथ छीना झपटी हुई। रेफरी ने अपील नहीं मानी, लेकिन वार अधिकारियों ने इसे गौर से देखा। कुछ नहीं निकला।

17 मिनट: क्रोएशिया का गेंद पर अधिकांश कब्जा बना हुआ है। डेनमार्क अब डिफेंसिव मोड में जाती दिख रही है। यह क्रोएशिया के लिए खुशखबरी है क्योंकि उसने पूरे टूर्नामेंट में दमदार आक्रमण किया है।

11 मिनट: क्रोएशिया को फ्री-किक मिली। व्रसाज्को दाएं ओर से आगे तेजी से आए। उन्होंने एंटे रेबिक को पास दिया। जर्गेनसन ने रेबिक को डी से बाहर गिरा दिया। क्रोएशिया को फ्री-किक पर गोल करने का अच्छा मौका मिला, लेकिन प्रयास असफल।

मजेदार फैक्ट: क्रोएशिया बनाम डेनमार्क मुकाबला विश्व कप के इतिहास में ऐसा दूसरा मैच है जब दोनों टीमों ने चार मिनट के अंदर गोल दागे। इससे पहले 2014 विश्व कप में अर्जेंटीना और नाइजीरिया के बीच मुकाबले में ऐसा हुआ था।

4 मिनट: गोल!!! क्रोएशिया ने शानदार ढंग से बराबरी की। मारियो मानड्जूकिक ने बेहतरीन गोल करके क्रोएशिया को बराबरी दिलाई। सिमे व्रसालज्को ने डानिश बॉक्स में एंट्री करते हुए क्रॉस जमाया और डिफेंडर्स को छकाने में कामयाब रहे। डेनमार्क का एक डिफेंडर दूसरे से टकराया, जिससे मारियो को पलटकर गोल करने का शानदार मौका मिला। इस मैच की शुरुआत बेहद रोमांचक अंदाज में हुई।

1 मिनट: गोल!!! मुकाबले की शुरुआत ने ही भारतीय फुटबॉल प्रेमियों की नींद जरूर उड़ा दी। डेनमार्क ने शानदार शुरुआत की और पहले ही मिनट में गोल दाग दिया। मथायस जर्गेनसन ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला गोल किया। यहीं नहीं, उन्होंने मौजूदा विश्व कप में सबसे जल्दी गोल करने का रिकॉर्ड भी बनाया। जोनास नडसन ने दाएं ओर से क्रोएशिया बॉक्स में बॉल पास की। फिर क्रॉस पास किया गया। जर्गेनसन ने गेंद अपने कब्जे में ली और क्रोएशिया के गोलकीपर सुबासिक को छकाते हुए गेंद जाली में भेद दी।

क्रोएशिया और डेनमार्क की टीमें पांच बार आपस में भिड़ चुकी हैं। दोनों ही टीमों ने इस दौरान दो-दो मैच जीते। आखिरी बार दोनों टीमों के बीच 2004 में भिड़ंत हुई थी, तब मौजूदा सहायक कोच इविका ओलिक ने क्रोएशिया के लिए विजयी गोल किया था।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं:

क्रोएशिया - सुबासिक, व्रसालज्को, लोवरेन, विडा, स्ट्रीनिकक, इवान राकिटिक, मोड्रिक, ब्रोजोविक, रेबिक, पेरिसिक, मानड्जूकिक।

डेनमार्क - शिमिचेल, डाल्सगार्ड, जाएर, क्रिस्टेनसेन, नडसन, डिएनले, एरिक्सन, पॉलसेन, ब्रैथवेट, कॉर्नेलियूस, जर्गेनसन।
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack