Sunday, 20 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

फीफा विश्व कप 2018: नाइजीरिया बनाम अर्जेंटीना; लड़खड़ाते हुए नॉकआउट में पहुंची अर्जेंटीना

फीफा विश्व कप 2018: नाइजीरिया बनाम अर्जेंटीना; लड़खड़ाते हुए नॉकआउट में पहुंची अर्जेंटीना मॉस्कोः स्टार खिलाड़ी लियोनल मेसी की अर्जेंटीना ने नाइजीरिया को बाहर का रास्ता दिखाकर अंतिम 16 में प्रवेश कर लिया है. हालांकि गत उप विजेता अर्जेंटीना की टीम का आखिरी के मिनटों तक वहां तक पहुंचना मुश्किल लग सा लगने था, लेकिन मेसी की टीम लड़खड़ाते हुए अंतिम 16 तक पहुंचने में सफल हो ही गई .

दरअसल अर्जेंटीनाई टीम का नॉकआउट में पहुंचने के लिए अपने ग्रुप के दूसरे मैच क्रोएशिया और आइसलैंड पर भी निर्भर थी, जैसे जैसे उस मैच में गोल हुए, यहां अर्जेंटीना के प्रशंसकों की दिल की धड़कन भी बढ़ने लगी थी. अंतिम 16 में अर्जेंटीना का सामना फ्रांस से और क्रोएशिया का सामना डेनमार्क से होगा.

पहले हाफ के शुरुआती मिनटों में मेसी की टीम नाइजीरिया के खिलाफ चढ़कर खेली और 14वें मिनट में मेसी ने इस विश्व कप अपना पहला गोल दागकर अर्जेंटीना को बढ़त दिला दी थी. बानेगा ने गेंद को अपने कब्जे में लेकर मेसी को बेहतरीन पासिंग दी. मेसी ने चेस्ट पर गेंद को लिया और गेंद को नियंत्रित किया और राइट पैर के शॉट लगाकर गेंद को नेट के अंदर पहुंचा दिया. इस गोल के बाद नाइजीरिया पर दबाव साफ दिखने लगा था.

हालांकि दूसरे हाफ में नाइजीरियन टीम बदली बदली नजर आई और 51वें मिनट में ही स्कोर बराबर कर दिया. विक्टर ने अपनी टीम को बराबरी तक पहुंचाने के लिए पेनल्टी को एक शानदाग गोल दागा. विक्टर ने अर्जेंटीना के गोलकीपर के पोजीशन से हटने का इंतजार किया और जैसे ही गोलकीपर हटा, विक्टर ने दूसरी साइड गेंद को नेट में पहुंचा दिया.

इसके बाद दोनों टीमें ही बढ़त हासिल करने के लिए जूझती रही, हालांकि नाइजीरिया से ज्यादा जरूरत बढ़त की अर्जेंटीना को थी, क्योंकि अगर यह मुकाबला ड्रॉ भी हो जाता तो नाइजीरिया अंतिम 16 में पहुंच जाती, वहीं अगर आइसलैंड उलटफेर करती है तो अंतिम 16 में उसका जाना तय हो जाता. दूसरे हाफ में काफी कोशिश के बाद भी अर्जेंटीना बढ़त हासिल नहीं पाई और दूसरी तरह क्रोएशिया और आइसलैंड के बीच मुकाबला बराबर पर चल रहा है.

इस स्थिति में अर्जेंटीना बाहर होती हुई दिख ही रही थी कि आखिरी के 4 मिनट में रोजो ने विजयी गोल दागा और इंजुरी टाइम ने पूरी टीम ने इस बढ़त को कायम रखा. अर्जेंटीना के बढ़त लेने के बाद अचानक ही स्टेडिम में अधिक शोर होने लगा, दरअसल उसका कारण क्रोएशिया की आइसलैंड पर 2-1 से बढ़त थी.

इस जीत के साथ ही अर्जेंटीना ने विश्व कप में बढ़त हासिल करते हुए अपनी जीत का सिलसिला भी जारी रखा है। इस जीत से पहले अर्जेंटीना ने 30 मैचों में से जब भी विश्व कप के किसी मैच में पहले हाफ में बढ़त हासिल की, 29 मुकाबले अपने नाम करने में सफल रही है. विश्व कप के किसी मैच में बढ़त हासिल करने के बावजूद अर्जेंटीना को सिर्फ 1930 में एक मात्र मिली थी और वह भी उरुग्वे के खिलाफ.
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack