मंगल पर जीवनः सतह पर मिले कार्बनिक अणु वहां कभी जिंदगी होने के मजबूत सबूत

जनता जनार्दन संवाददाता , Jun 08, 2018, 14:07 pm IST
Keywords: Life on Mars   Life beyond Earth   NASA   Organic compounds   Mars surface   NASA rover   Curiosity Rover   मंगल ग्रह   लाल ग्रह   मार्स   जीवनके संकेत   रोबोट एक्सप्लोरर   मंगल पर जीवन  
फ़ॉन्ट साइज :
मंगल पर जीवनः सतह पर मिले कार्बनिक अणु वहां कभी जिंदगी होने के मजबूत सबूत वाशिंगटनः मंगल यानी लाल ग्रह यानी मार्स पर कई सौ साल पहले जीवन होने के संकेत मिले हैं, जिसे नासा के यान ने ढूंढ़ा है. वैज्ञानिक जगत इसे मार्स मिशन की बड़ी कामयाबी मान रहा है.

मार्स ग्रह के पत्थरों से तीन अरब साल पुराने कार्बनिक अणु यानि ऑर्गेनिक मॉलीक्यूल्स मिले हैं, जिसे कई सालों पहले यहां जिंदगी होने के सबूत के तौर पर देखा जा रहा है.

दरअसल 2012 में रोबोट एक्सप्लोरर मंगल ग्रह पर उतरे थे और तभी से वो वहां खोज कर रहे हैं. गुरुवार को नासा ने इस बात की जानकारी दी कि मार्स में जीवन हो सकता है और इसके बेहतरीन प्रमाण भी मिल रहे हैं. हालांकि नासा के सौर मंडल अन्वेषण प्रभाग के निदेशक पॉल महाफी का कहना है कि अभी ये पुष्टि नहीं की जा सकती कि इन मॉलीक्यूल्स का जन्म कैसे हुआ.

अब रक मार्स रोवर को मिले प्रमाणों से ये पता चला है कि अरबों साल पहले मंगल ग्रह पर गैले क्रेटर के अंदर पानी की एक उथली झील थी जिसमें जीवन के लिए जरूरी सभी तत्व शामिल थे.

भले ही इन अणुओं के मिलने से मार्स पर कभी जीवन होने के संकेत मिले हों, लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा रहा कि ये किसी उल्कापिंड या किसी अन्य स्रोतों से भी आए हुए हो सकते हैं.

मैरीलैंड में नासा के गोडार्ड स्पेस सेंटर के वैज्ञानिक जेनिफर ईगेनब्रोड ने कहा कि मंगल ग्रह पर पाए गए कार्बनिक अणु वहां वहीं के जीवन होने के तथ्य को पूरी तरह से प्रमाणित नहीं करते हैं, क्योंकि वे 'गैर-जैविक' चीजों से भी आ सकते हैं. हालांकि ये जीवन की खोज के लिए महत्वपूर्ण प्रमाण ज़रूर है.

नासा ने इस बात पर भी ज़ोर दिया है कि इस तरह के कण मंगल ग्रह पर काल्पनिक माइक्रोबियल जीवन के लिए खाद्य स्रोत हो सकते थे.

आपको बता दें कि इससे पहले रोबोट एक्सप्लोरर को 2013 में मंगल ग्रह पर पानी होने के संकेत मिले थे. जबकि मार्स पर गैस की मौजूदगी के प्रमाण अभी भी नहीं मिले हैं. वहीं अब मिली ऑर्गेनिक अणुओं की ये जानकारी मार्स के रहस्यों की खोज में काफी मददगार साबित हो सकती है.
अन्य प्रकृति लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack