कर्नाटक में सरकार की कवायदः जेडीएस का आरोप बहुमत से दूर भाजपा विधायकों को सौ करोड़ दे रही, कांग्रेस ने कुमारास्वामी को दिया समर्थन

कर्नाटक में सरकार की कवायदः जेडीएस का आरोप बहुमत से दूर भाजपा विधायकों को सौ करोड़ दे रही, कांग्रेस ने कुमारास्वामी को दिया समर्थन बेंगलुरू: वाकई राजनीति से ज्यादा पतन और बेशर्मी अब किसी और धंधे में नहीं रह गई है. सत्ता का सुरूर ऐसा है कि नशा सिर चढ़ कर बोलता है और काला पैसा यहां पानी की तरह बरसता है. कर्नाटक विधानसभा चुनाव का परिणाम कल घोषित हुआ जिसमें किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है.

भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी तो है, लेकिन वह भी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है. उसे बहुमत के लिए आठ और विधायकों की जरूरत है. ऐसे में प्रदेश में जोड़-तोड़ की राजनीति शुरू हो गयी है. जोड़-तोड़ की राजनीति के बीच ऐसी खबरें आ रहीं हैं कि कर्नाटक के पांच विधायक जो कांग्रेस और जेडीएस से ताल्लुक रखते हैं अंडरग्राउंड हो गये हैं. कल जेडीएस ने यह दावा किया था कि उसके पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त बहुमत है.

जेडीएस विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद एचडी कुमारास्वामी ने कहा कि हमारे विधायकों को भाजपा की ओर से सौ करोड़ तक का ऑफर आया है. कुमारास्वामी ने कहा कि क्या यह ब्लैकमनी नहीं है. आयकर विभाग कहां है और क्या कर रहा है, जब हमारे विधायकों को ऐसा ऑफर मिल रहा है.

कांग्रेस ने चुनाव में मिली हार के बाद भी दांव खेलना नहीं छोड़ा है और जेडीएस को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने की बात कह दी है. भाजपा ने भी अपने रणनीतिकारों को बेंगलुरू भेजा दिया है. प्रकाश जावडेकर, जेपी नड्‌डा और धर्मेंद्र प्रधान अमित शाह का संदेश लेकर बेंगलुरू पहुंच गये हैं.

आज सुबह कांग्रेस विधायक दल की बैठक इसलिए देर से शुरू हुई क्योंकि पार्टी के तीन विधायकों राजशेखर पाटिल, नागेंद्र  और आनंद सिंह से संपर्क नहीं हो पा रहा था. आनंद सिंह और नागेंद की रेड्डी बंधुओं से नजदीकी बतायी जाती है.

अंडरग्राउंड होने वाले विधायकों में दो जेडीए के भी हैं, जिनका नाम राजा वेंकटप्पा नायका और वेंकटा राव नादागौड़ा है. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन पांचों विधायकों ने बेंगलुरू के एक फाइव स्टार होटल में बैठक भी की है.

वहीं एक अन्य कांग्रेस विधायक ने दावा किया है कि भाजपा ने उससे संपर्क साधा है और साथ आने की बात कही है. वहीं एक अन्य विधायक अमेरेगौड़ा लिंगानागौड़ा पाटिल बाययापुर ने कहा कि मुझे भी भाजपा नेताओं की ओर से फोन कॉल आया है और मिनिस्टर बनाने की बात कही गयी है, लेकिन मैं कुमारास्वामी के साथ हूं वही हमारे मुख्यमंत्री होंगे. जेडीएस विधायक सरवाना का कहना है कि हमारे चार-पांच विधायकों को तोड़ने की कोशिश की गयी है.

आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 66 विधायक ही पहुंचे जबकि 78 विधायकों को पहुंचना था. हालांकि कांग्रेस ने इस बात से इनकार किया है कि उसके कोई भी विधायक भाजपा की संपर्क में है.

कांग्रेस नेता एन हैरिस ने कहा कि हम जनादेश की रक्षा की कोशिश में हैं. भाजपा गंदी राजनीति कर रही है. हमें उनकी तरह गंदी राजनीति नहीं करनी है. हमारा नंबर 118 है और हमें किसी और की जरूरत नहीं है. मुझे किसी ने भी रिसोर्ट में नहीं बुलाया है.

वहीं विधायक दल की बैठक छोड़कर बाहर निकले एमबी पाटिल ने कहा कि हम एकजुट हैं, जोड़-तोड़ की खबरें गलत हैं. सच्चाई यह है कि भाजपा के छह विधायक हमारे संपर्क में हैं. सूत्रों के हवाले से ऐसी खबरें आ रहीं हैं कि एमबी पाटिल भाजपा के संपर्क में हैं.

हालांकि कांग्रेस नेता और निवर्तमान मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने विधायकों के अंडरग्राउंड होने की खबर को गलत बताया है. उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेस विधायक हमारे संपर्क में हैं और कोई भी मिसिंग नहीं है.

वहीं भाजपा नेता केएस ईश्वरप्पा ने कहा कि हम कांग्रेस और जेडीएस विधायकों से संपर्क में हैं. कर्नाटक की जनता ने भाजपा, नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर अपना विश्वास जताया है. आज भाजपा नेता प्रकाश जावडेकर ने भी कहा है कि प्रदेश में हमारी सरकार बनेगी जनता ने हमपर विश्वास जताया है.
अन्य राज्य लेख
Niva Ply, Plywood for Generations
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack