Sunday, 21 October 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

कर्नाटक चुनाव 2018: विधानसभा की 222 सीटों के लिए मतदान जारी, नतीजे मई 15 को

कर्नाटक चुनाव 2018: विधानसभा की 222 सीटों के लिए मतदान जारी, नतीजे मई 15 को बेंगलुरु: कर्नाटक की 224 में से 222 सीटों के लिए शनिवार सुबह 7 बजे से मतदान जारी है. भीषण गरमी और कई जगहों पर बरसात के बावजूद मतदान केंद्रों पर लोग कतार में लगे हुए हैं. मतदान शाम 6 बजे तक चलेगा. जनता जनार्दन संवाददाता के अलावा एजेंसी की खबरों के मुताबिक प्रदेश के शहरी से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में सुबह से ही लोगों में वोटिंग के प्रति जागरूकता देखी गई और लोग मतदान केंद्रों पर वोट डालने के लिए कतार में खड़े देखे गए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जनता से भारी मतदान की अपील की है.

पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने अपने परिवार के साथ हासन जिले के होलेनेरासिपुरा शहर में बूथ संख्या 2344 पर अपना वोट डाला. पहले खबर आई थी कि पोलिंग बूथ पर ईवीएम मशीन खराब हो गई थी, जिसके बाद मशीनों को बदला गया.

जयानगर में जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने आदि चुनचुन गिरी मठ के महास्वामी से मुलाकात की. वहीं, वोटिंग से पहले कुमारस्वामी ने अपनी पत्नी के साथ राजाराजेश्वरी मंदिर में पूजा की.

बादामी विधानसभा सीट से सीएम सिद्धारमैया के खिलाफ चुनाव लड़ रहे बीजेपी नेता बी श्रीरामुलु ने अपना वोट डालने से पहले 'गौ पूजा' की.

बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने बेंगलुरु में अपना वोट डाला. वोट डालने के बाद चंद्रशेखर बाहर आए और जनता से वोट डालने की अपील की.

देवेगौड़ा परिवार हासन निर्वाचन क्षेत्र में बने मतदान केंद्रों पर ईवीएम में खराबी के कारण वोट नहीं डाल पाया. हुबली: बूथ नंबर 108 पर चुनाव आयोग के अधिकारियों ने वीवीपीएटी मशीन को बदला है. इस बूथ पर अब तक मतदान शुरू नहीं हो पाया है.

कांग्रेस, पंजाब के बाद एकमात्र बड़े राज्य पर काबिज रहने के लक्ष्य पर केंद्रित है, जबकि भाजपा कर्नाटक में अपनी सरकार बनाने के लिए जुटी हुई है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कर्नाटक पार्टी के लिए दूसरी बार दक्षिण में कदम रखने का द्वार होगा.

भाजपा ने सिर्फ एक बार 2008 से 2013 तक कर्नाटक में शासन किया था लेकिन उसका कार्यकाल पार्टी की अंदरूनी कलह और भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरा रहा था. उसके तीन मुख्यमंत्रियों में से एक और फिलहाल मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में थे. जनता दल (सेकु) के अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी ने माना है कि उनकी पार्टी के लिए यह जीवन-मरण का सवाल है.

जद (सेकु) फिलहाल एक दशक से सत्ता से बाहर है. कांग्रेस को विश्वास है कि वह लगातार सत्ता में नहीं आने के चलन को तोड़ेगी और सिद्धरमैया ने कहा कि उनकी पार्टी इतिहास रचेगी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मुझसे अक्सर कहा जाता है कि इतिहास मेरे विरुद्ध है क्योंकि लंबे समय से कर्नाटक में कोई सरकार फिर से नहीं चुनी गई. लेकिन हम यहां इतिहास रचने के लिए हैं, न कि उसका पालन करने के लिए.’

उधर, कांग्रेस की मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा ने यह सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी कि इतिहास दोहराया जाए। वैसे भाजपा ने ‘मिशन 150 (सीट)’ के साथ अपना अभियान शुरू किया था लेकिन शाह ने गुरुवार को कहा कि पार्टी 130 से अधिक सीटें जीतेंगी.

2013 के विपरीत भाजपा इस बार एकजुट है. उस साल वह येदियुरप्पा की केजीपी, बी श्रीरामुलू की बीएसआर कांग्रेस जैसे धड़ों में बंटी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के लिए ताबड़तोड़ प्रचार किया जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी.

सिद्धरमैया समेत चार वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव मैदान में हैं। येदियुरप्पा शिकारीपुरा से, कुमारस्वामी चेन्नापटना और रमनगारा से और भाजपा के जगदीश शेट्टार हुब्बली धारवाड़ से चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे हैं. राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा की 223 सीटों के लिए शनिवार को मतदान होगा.

एक सीट पर मतदान भाजपा उम्मीदवार और वर्तमान विधायक बीएन विजयकुमार के निधन के चलते स्थगित कर दिया गया है. वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस को 122 सीटें जीती थीं। भाजपा और जद (सेकु) को 40-40 सीटें मिली थीं.

कर्नाटक जनता पक्ष को छह, बडवारा श्रमिकारा रैयतरा को चार, कर्नाटक मक्कल पक्ष, समाजवादी पार्टी और सर्वोदय कर्नाटक पक्ष को एक एक सीटें मिली थीं और नौ निर्दलीय विजयी रहे थे.
अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack