Wednesday, 26 September 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

मुग़लसराय व्यासनगर रेलवे यार्ड में पड़े इस प्याज़ को देखकर रोना आता है साहेब!

मुग़लसराय व्यासनगर रेलवे यार्ड में पड़े इस प्याज़ को देखकर रोना आता है साहेब!
चन्दौली: प्याज कभी रुलाता है तो कभी तख्तापलट कर देता है.जी हां प्याज में इतनी ताकत है लेकिन आज यही प्याज रेलवे की लापरवाही के चलते साढ़े 41 टन प्याज रेलवे यार्ड में पड़े पड़े सड़ रहा है और अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं.
 
जी हां हम बात कर रहे हैं उस 900 बोरी प्याज की जो करीब डेढ़ महीने पूर्व भुसावल से 42 BOGIES के RAKE के साथ तो चला लेकिन कर्मचारियों की लापरवाही से एक बोगी OVER CARRY होकर कही और चला गया। जिसे destination तक पहुंचने में डेढ़ महीने से ज्यादा का वक्त लग गया। इस बीच प्याज पूरी तरह सड़ गया और खाने योग्य नहीं बचा.

अब व्यापारी RAIL OFFICES के चक्कर काट रहे हैं।बतादे कि पहाड़िया मंडी के व्यवसायी विशाल अशोक भंडारी ने विगत 22 february को भुसावल से व्यास नगर के लिए 42 BOGIES में प्याज लदवा कर अपने सामान की प्रतीक्षा व्यासनगर में करते रहे.

उन्हें goods train की 41 बोगी का प्याज तो समयावधि में मिल गया लेकिन एक बोगी OVER CARRY हो कर दूसरे ROUTE पर चली गयी और 30 MARCH को व्यासनगर पहुची।व्यापारियों का आरोप है कि उक्त बोगी में 11 लाख 6 हजार का प्याज रेलकर्मियों के लापरवाही के चलते खराब हो गया।अब व्यापारी सड़े हुए प्याज के मुआवजे के लिए करीब 10 दिन से अधिकारियों की कार्यालयों की चक्कर काट रहा हैं.

तमाम शिकायतों के बावजूद अब तक रेलवे अधिकारी मामले का हल नहीं निकाल सके।अब व्यापारी और किसान दोनों चिंतित हैं।लेकिन महकमे के कोई भी अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से कतरा रहे है.
अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack