भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों! प्रधानमंत्री मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर किया स्वागत

भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों! प्रधानमंत्री मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर किया स्वागत नई दिल्ली: फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों चार दिन की यात्रा पर भारत पहुंच गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया. मैक्रों के साथ उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड मैक्रों के अलावा उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री भी आए हैं. उनकी इस यात्रा के दौरान दोनों देश अलग-अलग क्षेत्रों खासकर समुद्री सुरक्षा और आतंकवाद से निपटने के क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत बनाने पर विशेष रूप से गौर करेंगे.

सूत्रों ने बताया कि इस दौरान फ्रांस के सहयोग से बन रहे जैतापुर (महाराष्ट्र) परमाणु बिजली संयंत्र को लेकर भी समझौते पर हस्ताक्षर की उम्मीद है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैक्रों के बीच आज प्रतिनिधि स्तर की बातचीत में हिंद महासागर में सहयोग बढ़ाने का मुद्दा प्राथमिकता पर लिया जा सकता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैक्रोन के बीच शनिवार को प्रतिनिधि स्तर की बातचीत में हिंद महासागर में सहयोग बढ़ाने का मुद्दा प्राथमिकता पर लिया जा सकता है.

सूत्रों ने यहां कहा कि इस दौरान फ्रांस के सहयोग से बन रहे जैतापुर परमाणु बिजली संयंत्र को लेकर भी समझौते पर हस्ताक्षर की उम्मीद है. वार्ता में रक्षा, सुरक्षा, ऊर्जा और अंतरिक्ष के मुद्दों पर चर्चा होगी. दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों की समीक्षा होगी. मैक्रॉन की भारत यात्रा के दौरान मेक इन इंडिया से जुड़े कारोबारी संबंधों की समीक्षा होगी. मेक इन इंडिया से जुड़े रक्षा समझौते भी हो सकते हैं.

मैक्रॉन अपने पहले भारत दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 11 मार्च को सौर ऊर्जा के महाकुंभ का उद्घाटन करेंगे. दोनों नेता आर्थिक, राजनीतिक, रणनीतिक और परमाणु ऊर्जा परियोजनाओं के सिलसिले में चर्चा करेंगे. मैक्रॉन इस दौरे पर परमाणु ऊर्जा परियोजना के समझौते पर हस्ताक्षर कर सकते हैं.

फ्रांस के राष्ट्रपति अपनी पहली भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ 12 मार्च को वाराणसी पहुंचेंगे. इससे पहले दोनों नेता उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर भी जाएंगे. दोनों नेता वहां पर फ्रांस की कंपनी एनवॉयर सोलर प्राइवेट लिमिटेड और नेडा ने दादरकलां गांव में 650 करोड़ से बने 75 मेगावॉट के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करेंगे. मैक्रॉन मोदी के साथ काशी के घाट घूमेंगे. मैक्रॉन के स्वागत के लिए नृत्य संगीत का एक कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा.

वाराणसी पहुंचने पर मैक्रॉन और मोदी का स्वागत अलग ढंग से किया जाएगा. जिस रास्ते से प्रधानमंत्री और फ्रांस के राष्ट्रपति गुजरेंगे उस रास्ते पर करीब आठ हजार स्कूली छात्र-छात्राएं फ्रांस एवं भारत के झंडे लहराएंगे. इसके लिए 150 स्कूलों को जिला प्रशासन ने पत्र भेजकर बच्चों को तैयार रहने को कहा है.

मैक्रों के स्वागत में ट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने लिखा, "भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों! आपके दौरे से भारत और फ्रांस की सामरिक भागीदारी बेहद मज़बूत होगी. मैं आपसे कल की हमारी बातचीत को लेकर बेहत आशान्वित हूं."
अन्य यूरोप लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack