नोबेल पुरस्कार विजेता गेब्रियल गार्सिया मारक्वेज की 91वीं जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल

नोबेल पुरस्कार विजेता गेब्रियल गार्सिया मारक्वेज की 91वीं जयंती पर गूगल ने बनाया डूडल नई दिल्लीः आज कोलंबियन मूल के महान लेखक और नोबेल पुरस्कार विजेता गेब्रियल गार्सिया की 91 वीं जयंती है. गूगल ने लेखन की कृतियों के प्रति सम्मान जताते हुए आज का डूडल उन्हें समर्पित किया है. गेब्रियल अपनी किताब ‘A Hundred Years of Solitude’के लिए जाने जाते हैं.

6 मार्च, 1927 को कोलंबिया में जन्मे गेब्रियल को उनके प्रशंसक गैबो के नाम से भी पुकारते हैं. बचपन में ही गेब्रियल के माता-पिता नहीं रहे और लेखक का पालन-पोषण दादी-दादा के घर पर हुआ. कई भावनात्मक अभावों ने उन्हें किताबों की ओर मोड़ दिया.

गेब्रियल गार्सिया की धारदार लेखनी और जादुई चित्रण की वजह से वे केवल स्पेनिश भाषा में ही नहीं सराहे गए, बल्कि दुनियाभर में उनका लेखन पढ़ा गया. इन्हें वर्ष 1982 में साहित्य में नोबेल प्राइज से सम्मानित किया गया. इन्होंने अपने लेखनकाल में 25 से ज्यादा किताबें लिखीं.

गेब्रियल गार्सिया को दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण लेखकों में से एक माना जाता है जो पाठकों को अपनी जादुई कहानी से में आकर्षित करने की क्षमता रखते थे. गेब्रियल की लेखनी की तुलना मार्क ट्वेन और चार्ल्स डिकेंस के साथ भी की जाती रही.

स्पैनिश भाषा में वे आम से खास हर वर्ग की पसंद रहे. यहां तक कि उनके निधन पर तत्कालीन कोलंबियन राष्ट्रपति जॉन मैनुअल ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसा महान व्यक्तित्व कभी नहीं मर सकता.
अन्य चर्चित लेखक लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack