खाड़ी देशों के साथ भारत का 'गहरा, व्यापक और जीवंत' संबंधः दुबई में वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में प्रधानमंत्री मोदी

खाड़ी देशों के साथ भारत का 'गहरा, व्यापक और जीवंत' संबंधः दुबई में वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में प्रधानमंत्री मोदी दुबई: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के साथ रिश्ते खरीदार और विक्रेता से कहीं ऊपर हैं. उन्होंने खाड़ी देशों के साथ भारत के बढ़ते संबंधों को "गहरा, व्यापक और जीवंत" बताया.

दुबई में मोदी वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट के छठे एडिशन में शामिल हुए. उन्होंने कहा कि इसमें शरीक होने केवल मेरे लिए नहीं बल्कि भारत के सवा सौ करोड़ लोगों के लिए गर्व की बात है.

"25 साल में प्रसव के दौरान महिलाओं की मौत के मामले भारत में एक तिहाई और दुनिया में आधे कम हो गए."

"टेक्नोलॉजी सोचने की गति बदल रही है. टेक्नोलॉजी ने सामान्य आदमी को मजबूत बनाया है."

"विकास का पहलू ये भी है कि पाषाण युग से औद्योगिक क्रांति के सफर में हजारों साल गुजर गए. उसके बाद संचार क्रांति तक सिर्फ 200 साल में पहुंच गए. वहां से डिजिटल क्रांति तक का फासला कुछ ही सालों में तय हो गया."

"हमें 6 'आर' को फॉलो करने की जरूरत है- रिड्यूस, रीयूज, रीसाइकिल , रिकवर, रीडिजाइन और रीमैन्यूफैक्चर. अगर ऐसा कर पाए तो इससे रीज्वाइस यानी आनंद मिलेगा."

"अभी तक तमाम तरह के विकास के बाद भी हम गरीबी और कुपोषण को खत्म नहीं कर पाए हैं. दूसरी तरफ मिसाइल और बम बनाने में पैसा, वक्त और संसाधन खर्च हो रहे हैं. हमें अलर्ट रहना होगा. टेक्नोलॉजी यूज करने का मतलब डेवलवमेंट से है, न कि सबकुछ खत्म करने से."

मोदी ने दो दिवसीय यूएई की यात्रा के दूसरे दिन यहां दुबई ओपेरा हाउस में भारतीय समुदाय को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार वैश्विक स्तर पर भारत को नयी ऊंचाई पर ले जाने की कोशिश कर रही है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज यूएई या अन्य खाड़ी देशों के साथ हमारे संबंध सिर्फ एक खरीदार और विक्रेता की तरह नहीं है, बल्कि उससे कहीं ज्यादा है.

मोदी ने भारतीय समुदाय को आश्वस्त किया कि हमारी सरकार उनके सपनों को हकीकत में बदलने के लिये काम करेगी. मोदी ने संबोधन में कहा, "विश्व बैंक की कारोबारी सुगमता रैंकिंग में भारत 142वें स्थान से उछलकर 100वें स्थान पर पहुंच गया. यह अभूतपूर्व है, लेकिन हम इससे संतुष्ट नहीं है, हम इसे बेहतर करना चाहते हैं. इसे संभव बनाने के लिए जो कुछ भी होगा हम करेंगे."

मोदी ने जीएसटी और नोटबंदी जैसे अपने सरकार के साहसिक फैसले की सराहना की. मोदी ने अपने आलोचकों पर निशाना साधते हुए कहा कि गरीब लोग इस तथ्य से सहमत है कि नोटबंदी सही कदम था, लेकिन इस फैसले से कुछ लोगों की नींद उड़ गयी थी और वह अभी तक इसका शोक मना रहे हैं. मोदी ने 30 लाख भारतीय को घर से दूर घर जैसा माहौल देने के लिये यूएई का आभार व्यक्त किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को वीडियो लिंकिंग के जरिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की राजधानी अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर की आधारशिला रखी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अबू धाबी में बनने वाले भव्य मंदिर के लिए 125 करोड़ भारतीयों की ओर से वली अहद शहजादा मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को धन्यवाद दिया. अबू धाबी में भारतीय मूल के तीस लाख से ज्यादा लोग रहते हैं. मंदिर समिति के सदस्यों ने मंदिर से जुड़ा साहित्य मोदी को शनिवार (10 फरवरी) रात यहां पहुंचने पर दिया. प्रधानमंत्री यूएई की 2015 की अपनी यात्रा के बाद दूसरी बार यहां आए हैं.

दुबई-अबू धाबी राजमार्ग पर बनने वाला यह अबू धाबी का पहला पत्थर से निर्मित मंदिर होगा. अबू धाबी में प्रथम हिंदू मंदिर 55000 वर्ग मीटर भूमि पर बनेगा. भारतीय प्रधानमंत्री समुदाय के कार्यक्रम के दौरान मंदिर की आधारशिला रखे जाने के साक्षी बनें.
अन्य मध्य-पूर्व लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack