Monday, 18 December 2017  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

तूफान ओखी लाया ओले, मुंबई में भारी बारिश, गुजरात भी जद में, पीएम मोदी की अपील

जनता जनार्दन संवाददाता , Dec 05, 2017, 14:09 pm IST
Keywords: Cyclone Ockhi   Cyclone Ockhi path   Cyclone Ockhi updates   Cyclone Ockhi news   Hailstorm   Mumbai rain   Cyclone Ockhi Gujarat   ओखी तूफान   मुंबई की बरसात   भारी बारिश   तूफान ओखी  
फ़ॉन्ट साइज :
तूफान ओखी लाया ओले, मुंबई में भारी बारिश, गुजरात भी जद में, पीएम मोदी की अपील मुंबईः केरल, तमिलनाडु और लक्षद्वीप में तबाही मचाने के बाद ओखी तूफान अब महाराष्ट्र और गुजरात की तरफ बढ़ रहा है. मंगलवार देर रात तक वह गुजरात के तट से टकरा सकता है.

ओखी तूफान के असर से दोनों राज्यों के कई हिस्सों में तेज हवा के साथ जबरदस्त बारिश से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.  मुंबई में मंगलवार को बारिश के साथ ओले भी गिरे. बता दें कि चक्रवाती तूफान ओखी मुंबई से दक्षिण-पश्चिम की ओर 670 किलोमीटर की दूरी पर है.

महाराष्ट्र सरकार ने एहतियात के तौर पर मुंबई, पालघर, ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है. दूसरी तरफ चुनावी राज्य गुजरात में ओखी की वजह से चुनाव प्रचार पर भी असर हुआ है.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की 3 रैलियों को रद्द करना पड़ा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वह लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में बीजेपी कार्यकर्ताओं से राज्यभर में तूफान से प्रभावित लोगों की मदद की अपील की है.
मौसम विभाग के मुताबिक गुजरात में अगले 4 दिनों तक भारी बारिश हो सकती है. विभाग के मुताबिक, 'वलसाड, सूरत, नवसारी, भरूच, दांग, तापी, अमरेली, गिर-सोमनाथ और भावनगर जिलों में भारी बारिश हो सकती है.'

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने हालात से निपटने की तैयारी के तहत सूबे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आपात बैठक की है. मुंबई से 283 किलोमीटर दूर गुजरात के सूरत में रेस्क्यू टीम पहुंच चुकी है. कोस्ट गार्ड अधिकारियों के अनुसार, ओखी चक्रवात सूरत की ओर 85 किलोमीटर की रफ्तार से बढ़ रहा है.

हालांकि ओखी तूफान धीरे-धीरे कमजोर हो रहा है और उसकी तीव्रता को 'बहुत खतरनाक' से 'खतरनाक' श्रेणी का कर दिया गया है. केंद्र सरकार ने सोमवार को बताया कि तूफान से प्रभावित मछुआरों समेत 1540 लोगों को तमाम एजेंसियों द्वारा बचाया गया है.

राहत और बचाव अभियान में नौसेना के जहाज, हेलिकॉप्टर, कोस्ट गार्ड के जहाज और एयर फोर्स के हवाई जहाजों को लगाया गया है.

मौसम विभाग की ओर से सोमवार को जारी अलर्ट के मुताबिक, तूफान चार दिसंबर की रात में दक्षिणी गुजरात और सौराष्ट्र में दस्तक देगा. पांच दिसंबर को सूरत, वलसाड, भरूच, तापी, सोमनाथ आदि क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है. छह दिसंबर की दोपहर तक वर्षा की जारी रहेगी.

इसी तरह महाराष्ट्र में भी यह तूफान चार दिसंबर को रात में दाखिल होगा. पांच दिसंबर को ठाणे, रायगढ़, ग्रेटर मुंबई, नासिक, अहमदनगर और पुणे जिलों में भारी बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग ने दोनों राज्यों में समुद्र किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क रहने को कहा है. तूफान के कारण केरल, तमिलनाडु और लक्षद्वीप में करीब 26 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि सैकड़ों लोग अभी तक लापता हैं.

मुंबई और पुणे में सोमवार शाम से बारिश शुरू हो गई है. यह बेमौसम बरसात ओखी के कारण हो रही है. पूरी मुंबई बरसात की गिरफ्त में है और लगातार मध्यम बारिश हो रही है.

दक्षिण भारत में सक्रिय हुआ ओखी सोमवार सुबह मुंबई से दक्षिण एवं दक्षिण-पश्चिम में 690 किलोमीटर और सूरत से उत्तर एवं उत्तर-पश्चिम में 870 किलोमीटर दूर था.

महाराष्ट्र के तटवर्ती इलाकों में सोमवार सुबह से ही बदली छाई हुई थी। शाम होते ही कोकण के तटवर्ती क्षेत्रों एवं मुंबई में बरसात शुरू हो गई.

ओखी धीरे-धीरे कमजोर तो हो रहा है लेकिन पूर्व तट पर बंगाल की खाड़ी में एक और तूफान के बनने की आशंका से खतरा और बढ़ गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में दक्षिण-पूर्व में एक कम दबाव वाला क्षेत्र बन रहा है जो तूफान का रूप लेकर बुधवार को तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश की तरफ बढ़ सकता है.
अन्य प्रकृति लेख
वोट दें

दिल्ली प्रदूषण से बेहाल है, क्या इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
 
stack