Monday, 09 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

छूट गया हाफिज सईदः पाकिस्तानी अदालत ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड की रिहाई के लिए कहा

छूट गया हाफिज सईदः पाकिस्तानी अदालत ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड की रिहाई के लिए कहा लाहौर: मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद पाकिस्तान में जल्द ही खुलेआम घूमेगा. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने उसकी रिहाई का आदेश जारी कर दिया है. वह जनवरी से नजरबंद था. नजरबंदी की मियाद को तीन महीने बढ़ाने के सरकार के आग्रह को खारिज करते हुए न्यायिक बोर्ड ने सईद की रिहाई का आदेश दिया. गुरुवार को हाफिज सईद की रिहाई हो सकती है.

बोर्ड ने कहा, 'अगर जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद किसी अन्य मामले में वांछित नहीं है तो उसकी रिहाई का आदेश दिया जाता है. पिछले महीने बोर्ड ने सईद की हिरासत 30 दिनों के लिए बढ़ाने की इजाजत दी थी और यह मियाद इस सप्ताह पूरी हो जाएगी. बोर्ड के आदेश के बाद सईद की रिहाई का रास्ता साफ हो गया है.

इस साल 31 जनवरी को सईद और चार साथियों अब्दुल्ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी कासिफ हुसैन को पंजाब की सरकार ने आतंकवाद विरोधी कानून-1997 और आतंकवाद विरोधी कानून की चौथी अनुसूची के तहत 90 दिनों के लिए नजरबंद किया था. सईद के चार साथियों को अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में रिहा कर दिया गया था.

इससे पहले पाकिस्तान की पंजाब प्रान्त की सरकार ने मंगलवार को न्यायिक समीक्षा बोर्ड के सामने हाफिज सईद की नजरबंदी खत्म ना किए जाने की अपील की थी. न्यायिक समीक्षा बोर्ड के समक्ष पंजाब प्रान्त की सरकार दलील दी थी कि हाफिज सईद की रिहाई से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में एक गलत संदेश जा सकता है.

सरकार ने यह भी कहा था कि हाफिज की रिहाई से नाराज होकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय पाकिस्तान पर कई तरह की पाबंदी लगा सकता है. पंजाब सरकार ने हाफिज की नजरबंदी और तीन महीने जारी रखने की न्यायिक समीक्षा बोर्ड से इजाजत मांगी.

पंजाब के गृह मंत्रालय ने कहा था कि सईद को खुफिया रिपोर्टो के आधार पर गिरफ्तार किया गया था. पंजाब प्रांत के गृह विभाग के अधिकारी ने समीक्षा बोर्ड से कहा था कि सईद की रिहाई से पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लग सकते हैं. उन्होंने कहा था, 'हम आग्रह करते हैं कि बोर्ड सईद को रिहा नहीं करे क्योंकि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है.

अधिकारी ने बोर्ड से यह भी कहा था कि संघीय वित्त मंत्रालय के पास सईद के खिलाफ कुछ महत्वपूर्ण सुबूत हैं जो उसकी नजरबंदी को जायज ठहराते हैं. उन्होंने कहा था कि खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के आधार पर ही सईद को नजरबंद किया गया है. बोर्ड ने संघीय वित्त मंत्रालय को निर्देश दिया था कि वह सईद के बारे में संबंधित रिकॉर्ड सौंपे. अमेरिका ने सईद पर एक करोड़ डॉलर का ईनाम घोषित कर रखा है.


अन्य पास-पड़ोस लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack