Sunday, 22 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

धरती को हरा-भरा बनाने में जुटा वाराणसी का एक डॉक्टर

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 05, 2011, 16:37 pm IST
Keywords: Varanasi   Doctor   Dr Subodh kumar singh   Spreads   Smile Pinki   Smiles   Greenery   Effort   वाराणसी   सुबोध कुमार सिंह   डॉक्टर   पर्यावरण   स्माइल पिंकी  
फ़ॉन्ट साइज :
धरती को हरा-भरा बनाने में जुटा वाराणसी का एक डॉक्टर वाराणसी: अपने उपचार से लोगों की जिंदगी संवारने वाले एक डॉक्टर की चिंता पृथ्वी को भी हरा-भरा बनाने की है। डॉक्टर इलाज के साथ ही मरीजों को एक पौधा देते हैं और उनसे इस मुहिम को आगे बढ़ाने का प्रण लेते हैं। लोगों और पर्यावरण दोनों को खुशहाल बनाने की पहल उत्तर प्रदेश के वाराणसी के प्लास्टिक सर्जन सुबोध कुमार सिंह ने की है।

पिछले कई सालों से कटे होठों वाले लोगों की जिंदगी में खुशी बिखेर रहे सिंह (42) वाराणसी स्थित अपने अस्पताल में मरीजों को न सिर्फ पौधे वितरित करते हैं बल्कि उन्हें पर्यावरण के बारे में जागरूक भी करते हैं।

सिंह ने कहा, "दो सप्ताह पहले मैंने अपने अस्पताल में मरीजों को पौधे देने की शुरुआत की। पौधारोपण पर्यावरण के क्षरण को कम करने का सबसे बेहतर तरीका है। हरियाली से युक्त धरती समूचे जीवों के लिए लाभदायक है।"

वाराणसी के महमौरगंज इलाके में जी.एस. मेमोरियल प्लास्टिक सर्जरी अस्पताल की स्थापना करने वाले सिंह ने पिंकी सोनकर के कटे होठों का इलाज कर उसकी मुस्कान लौटाई थी। पिंकी सोनकर ने ऑस्कर अवार्ड विजेता वृत्तचित्र 'स्माइल पिंकी' में मुख्य किरदार निभाई थी।

सिंह का अस्पताल कटे होठों व तालु का उपचार करने वाले दुनिया के बेहतरीन केंद्रों के रूप में उभरा है। यहां हर साल 3500 से ज्यादा कटे होठों वाले लोगों की सर्जरी की जाती है।

धरती को हरा-भरा बनाने की सिंह की पहल के तहत अस्पताल आने वाले प्रत्येक मरीज व उसके परिवार को एक हरा पौधा दिया जाता है और उनसे पौधे की देखभाल का प्रण लिया जाता है।

सिंह ने बताया, "मैं मरीजों से वचन लेता हूं कि वे जिस तरह अपने बच्चों की देखभाल और उनसे प्यार करते हैं उसी तरह वे इन पौधों की भी देखरेख करेंगे।"

सिंह के मुताबिक, "मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पर्यावरण के बारे में जागरूक किया जाए ताकि वे प्रकृति के साथ खुद को जोड़कर पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दे सकें।"

अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक करीब 25 से 30 मरीज रोजाना अस्पताल आते हैं। बीते दो सप्ताह में करीब चार सौ पौधे रोगियों और उनके परिवारों को वितरित किए जा चुके हैं। सिंह ने आगामी 15 अगस्त से बड़े पैमाने पर पौधारोपण अभियान की योजना बनाई है।  
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack