Monday, 25 January 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

प्रद्युम्न केस: आरोपी कंडक्टर के डीएनए टेस्ट से खुलेगा राज

प्रद्युम्न केस: आरोपी कंडक्टर के डीएनए टेस्ट से खुलेगा राज
मुंबई: प्रद्युम्न मर्डर केस में रेयान इंटरनेशनल स्कूल मैनेजमेंट पर पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है. गिरफ्तारी के डर से रेयान के मालिकों ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई हुई. इस पर आज सुनवाई होगी. मंगलवार को हाईकोर्ट ने पिंटो फैमिली को एक दिन की राहत देते हुए सुनवाई के लिए बुधवार का दिन मुकर्रर किया था.

- रेयान इंटरनेशनल स्कूल की निलंबित प्रिंसिपल से आज फिर होगी पूछताछ. SIT के दो सब-इंस्पेक्टर करेंगे पूछताछ.

- आज बुधवार 1.30 बजे रेयान मैनेजमेंट के गिरफ्तार दोनों अधिकारी सोहना कोर्ट में होंगे पेश.

- आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार का कराया जाएगा डीएनए टेस्ट.

- आरोपी अशोक कुमार के ब्लड और सीमन सैंपल जांच के लिए मधुबन लैब भेजे गए.

- आरोपी अशोक और बच्चे की कपड़े भी जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजे गए.

प्रद्युम्न के पिता करेंगे जमानत का विरोध

वहीं, इस मामले में मृतक प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर बॉम्बे हाईकोर्ट में रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों की अग्रिम जमानत याचिका के विरोध में अर्जी दाखिल करेंगे. वह कोर्ट में अर्जी देकर अनुरोध करेंगे कि इस मामले में पिंटू फैमली की जमानत याचिका खारिज की जानी चाहिए. इससे पहले वरुण ने सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दी थी.

इस मर्डर केस की जांच कर रही गुरुग्राम पुलिस की एक टीम मुंबई पहुंची हुई है. रेयान ग्रुप के हेडक्वार्टर पर पुलिस जांच जारी है. ऐसे मालिकों को अपनी गिरफ्तारी का डर सता रहा है. गुरुग्राम के स्कूल में हुई जानलेवा लापरवाही ने रेयान के दूसरे स्कूलों में भी लापरवाहियों का पिटारा सा खोल दिया है. अब जांच की आंच पिंटो फैमली तक पहुंच गई है.  

इन वजहों से बढ़ी रेयान ग्रुप की मुश्किलें

- हरियाणा सरकार द्वारा गठित तीन सदस्यीय टीम ने अपनी जांच में रेयान स्कूल में भयंकर कमियां पाई हैं. रिपोर्ट के मुताबिक...

- रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीसीटीवी कैमरे खराब पाए गए.

- ड्राइवर और कंडक्टर छात्रों के टॉयलेट का ही इस्तेमाल किया करते थे.

- स्कूल की बाउंड्री वॉल टूटी हुई थी, जिससे स्कूल के अंदर आना जाना बेहद आसान था.

- स्कूल में काम करने वाले कर्मचारियों का किसी भी तरह का कोई पुलिस वेरिफिकेशन नहीं हुआ था.

- गुरुग्राम के डीसी ने यह रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेज दी.

- शिक्षा विभाग अब इस रिपोर्ट के आधार पर स्कूल को नोटिस भेजने की तैयारी में है.

- इसमें पूछा जाएगा कि तमाम लापरवाहियों के चलते क्यों न स्कूल की मान्यता ही रद्द कर दी जाए.

- बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी अपनी टीम भेजकर स्कूल में जांच कराई है, जिसमें कई गड़बड़ियां सामने आई.

- आयोग ने भी अपनी सिफारिशें गुरुग्राम प्रशासन को भेज दी हैं, जिनमें स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कही गई है.

जानिए, क्या है पूरा मामला

बताते चलें कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बीते शुक्रवार को दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के प्रद्युम्न के साथ कुकर्म की कोशिश करने के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस द्वारा पूछताछ में आरोपी अशोक कुमार ने अपना जुर्म कबूल कर लिया था.
अन्य अपराध लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack