राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जाते-जाते खारिज की दो क्षमा याचिका

जनता जनार्दन डेस्क , Jun 18, 2017, 11:39 am IST
Keywords: Pranab Mukherjee   Mercy plea   Ajmal Kasab   Yakub Memon   Afzal Guru   राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी   खारिज क्षमा याचिका   बलात्कार   हत्या   
फ़ॉन्ट साइज :
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जाते-जाते खारिज की दो क्षमा याचिका नयी दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अपना पद छोड़ने से पहले दो और दया याचिकाओं को खारिज कर दी है. राष्ट्रपति मुखर्जी ने बलात्कार और हत्या से जुड़ी इन दोनों दया याचिकाओं पर मई के आखिरी हफ्ते में फैसला किया है.मुखर्जी का कार्यकाल राष्ट्रपति के रूप में 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस तरह मुखर्जी द्वारा क्षमा याचिकाओं की ठुकराये जाने की संख्या 30 हो गयी है. जिन याचिकाओं को ठुकराया गया है, उनमें पहला मामला 2012 में इंदौर में एक चार वर्षीय लड़की के रेप व मर्डर का है, जिसमें तीन अपराधी हैं और दूसरा एक कैब चालक और उसके सहयोगी द्वारा पुणे में एक आइटी प्रोफेशनल के गैंगरेप व मर्डर का है.

ये दोनों मामले अप्रैल और मई में राष्ट्रपति के पास भेजा गया था.इंदौर केस में बाबू उर्फ केतन (22), जितेंद्र उर्फ जीतू (20) और देवेंद्र उर्फ सनी (22) पर चार साल की बच्ची का अपहरण, रेप और हत्या का आरोप था, जिसमें सभी दोषी पाये गये थे.

पुणे से जुड़े केस में पुरुषोत्तम दसरथ बोरेट और प्रदीप यशवंद कोकडे को विप्रो में काम करनेवाली एक 22 वर्षीय युवती की हत्या और रेप के मामले में दोषी पाया गया. इन मामलों में कोर्ट ने दोषियों को फांसी की सजा सुनायी है.
अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के आक्रामक रुख से दुनिया क्या तीसरे विश्वयुद्ध के कगार पर है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
 
stack