'देखते रहो एक अरब पाउंड का सपना': माल्या का भारत सरकार पर तंज

जनता जनार्दन डेस्क , Jun 14, 2017, 16:16 pm IST
Keywords: Vijay Malya   Vijay Malya case   Westminster Magistrates' Court   Kingfisher Airlines   Non-Performing Asset   NPA   विजय माल्या   वेस्टमिंस्टर कोर्ट   भारत सरकार   
फ़ॉन्ट साइज :
'देखते रहो एक अरब पाउंड का सपना': माल्या का भारत सरकार पर तंज लंदनः शराब कारोबारी विजय माल्या को मंगलवार को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट से जमानत मिली थी. जिसके बाद माल्या ने कहा था कि मुझे कुछ नहीं कहना है, मैं सारे आरोप खारिज करता हूं. मैं किसी कोर्ट से भागा नहीं हूं. मेरे पास कोर्ट में मामले को साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं. अब खबर है कि भारत की ओर से पर्याप्त सबूत ना पेश करने के कारण कोर्ट की ओर से भारत का मजाक उड़ाया गया.

अपने प्रत्यर्पण से जुड़े मामले की सुनवाई के सिलसिले में वेस्टमिंस्टर की मजिस्ट्रेट अदालत में पेश हुए 61 साल के माल्या ने कहा, मैं लगाए गए सभी आरोपों को नकारता हूं और मैं उन्हें नकारता रहूंगा. मुख्य मजिस्टेट एम्मा लुइस अरबुथनाट ने उन्हें चार दिसंबर तक जमानत दे दी. मामले की अगली सुनवाई 6 जुलाई को होगी.

माल्या ने अदालत के बाहर पत्रकारों को बताया, मैं किसी अदालत से नहीं बच रहा… अपना पक्ष साबित करने के लिए मेरे पास पर्याप्त सबूत हैं. अपने बेटे सिद्धार्थ माल्या, एक महिला साथी और कुछ समर्थकों के साथ अदालत पहुंचे माल्या ने कहा, मैं मीडिया में कोई बयानबाजी नहीं करता क्योंकि मैं जो कुछ कहता हूं उसे तोड़-मरोड़ दिया जाता है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, कोर्ट की चीफ जस्टिस एमा अर्बुथनोट ने दो हफ्ते की सुनवाई के लिए 4 दिसंबर की तारीख दी है क्योंकि भारत सरकार की ओर से माल्या के प्रत्यर्पण के सबूत अभी तक नहीं पहुंचे थे. भारत के वकील ने उन्हें बताया कि अभी हमें सबूत पेश करने के लिए 4-6 हफ्ते चाहिए. जिसके बाद एमा ने कहा कि क्या आम तौर पर भारतीय जल्दी प्रतिक्रिया देते हैं?

विजय माल्या ने भारतीय मीडिया को जमकर कोसा है. मंगलवार को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने माल्या को जमानत दी थी. जिसके बाद बुधवार सुबह ही उन्होंने ट्वीट किया कि भारतीय मीडिया उनके खिलाफ लगातार गलत खबरें चलाई हैं. भारत सरकार ने उनके खिलाफ केस दायर किया हुआ है, फैसले का इंतज़ार करें.

आपको बता दें कि विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर मंगलवार को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में सुनवाई हुई थी. माल्या पर अब अगली सुनवाई 6 जुलाई को होगी, जिसमें उन्हें पेश होना होगा. माल्या को कोर्ट से 4 दिसंबर तक जमानत मिल गई है. सुनवाई से पहले कोर्ट के बाहर माल्या ने पत्रकारों से कहा कि मुझे कुछ नहीं कहना है, मैं सारे आरोप खारिज करता हूं. मैं किसी कोर्ट से भागा नहीं हूं. मेरे पास कोर्ट में मामले को साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं.

माल्या के वकील ने कहा था कि भारत ने पर्याप्त सबूत नहीं दिए हैं. हमें अधिक साक्ष्य और दस्तावेजों की आवश्यकता है. वहीं अभियोजन पक्ष ने कहा कि भारत हमारे साथ बहुत निकटता से काम कर रहा है और हम सभी दस्तावेजों और सबूत उपलब्ध कराएंगे, जिन्हें मांगा जा रहा.
अन्य उद्योग घरानें लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack