एनडी टीवी के मालिक प्रणय रॉय के घर सीबीआई का छापा, बैंक से धोखाधड़ी करने का आरोप

जनता जनार्दन संवाददाता , Jun 05, 2017, 11:43 am IST
Keywords: Prannoy Roy   NDTV   CBI   Fraud   ICICI Bank   Radhika Roy   प्रणय रॉय   एनडीटीवी के प्रमोटर   सीबीआई छापा   फंड डायवर्जन   ग्रेटर कैलाश   Pranoy Roy   NDTV Promotor   CBI Raid Fund diversion  
फ़ॉन्ट साइज :
एनडी टीवी के मालिक प्रणय रॉय के घर सीबीआई का छापा, बैंक से धोखाधड़ी करने का आरोप नई दिल्ली: सीबीआई ने एक निजी बैंक को नुकसान पहुंचाने के आरोप के चलते आज एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय के दिल्ली और देहरादून स्थित आवास पर तलाशी ली। सीबीआई प्रवक्ता आर.के.गौड़ ने बताया, दिल्ली और देहरादून सहित चार स्थानों पर तलाशी की गई।

एजेंसी ने आईसीआईसीआई बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रूपए का नुकसान पहुंचाने के मामले में रॉय और उनकी पत्नी राधिका और आरआरपीआर होल्डिंग्स के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। सीबीआई छापे पर एनडीटीवी ने कहा है कि सीबीआई पुराने आरोपों के जरिए एनडीटीवी और इसके प्रमोटर्स को केवल परेशान कर रही है।

बताया जा रहा है कि सीबीआइ ने देर रात प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय के दिल्ली आवास पर छापा मारा है। प्रणय रॉय पर फंड डायवर्जन का आरोप है। इस मामले में सीबीआई ने केस दर्ज कर लिया है।

क्या है मामला
देहरादून में प्रणय रॉय के घर की रखवाली कर रहे परिवार ने बताया कि सुबह सीबीआई के 6-7 लोगों ने घर आकर तलाशी ली। वहीं दिल्ली में सीबीआई ने प्रणय रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय, एक निजी कंपनी और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया और रॉय के ग्रेटर कैलाश-1 स्थित आवास पर छापेमारी की।

आरआरपीआर होल्डिंग्स एनडीटीवी अंग्रेजी और हिंदी चैनल की प्रमोटर्स है। सीबीआई ने पिछले सप्ताह ही आईसीआईसीआई बैंक से धोखाधड़ी (2008 मामला) में केस दर्ज किया था। आपको बता दें कि 2014 से प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग (आई-टी) एनडीटीवी से जुड़े मामले की जांच कर रहे थे।

सत्ता-विरोधी आवाजो को बंद करने का प्रयास: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय के आवास और तीन अन्य स्थानों पर स्थित परिसरों में सीबीआई की ओर से सोमवार को ली गई तलाशी की निंदा की है और इसे स्वतंत्र एवं सत्ता-विरोधी आवाजों को बंद कर देने का प्रयास बताया है। केजरीवाल ने टवीट में कहा, हम डॉ रॉय और एनडीटीवी समूह पर की गई छापेमारी की कड़ी निंदा करते हैं। यह स्वतंत्र और सत्ता विरोधी आवाजों को बंद कर देने की कोशिश है।  

प्रणय के घर पर छापेमारी से निराश हूं: ममता
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय के दिल्ली आवास और तीन अन्य स्थानों पर सीबीआई की छापेमारी को लेकर निराशा जताई है। बनर्जी ने रॉय को काफी सम्मानित व्यक्ति बताया और कहा कि इस तरह की छापेमारी निराशाजनक है। बनर्जी ने ट्वीट किया, डॉ़ प्रणय रॉय के घर पर छापेमारी से निराश हूं। वह काफी सम्मानित व्यक्ति हैं। निराशाजनक परिपाटी।

नायडू ने कहा, छापे में राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं
सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय राय की संपत्तियों पर सीबीआई के छापे कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है और कानून अपना काम कर रहा है। नायडू ने कहा अगर कोई कुछ गलत करता है तो केवल इसलिए आप सरकार से चुप रहने की अपेक्षा नहीं कर सकते कि वह मीडिया से संबद्ध है। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी ड्यूटी कर रहे हैं और इसमें कोई राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि देश में मीडिया स्वतंत्र एवं आजाद है।

स्वामी बोल, कानून का डर जरूरी

प्रणव रॉय की छापेमारी पर बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, “कानून का डर जरूरी है। यह सभी पर लागू होना चाहिए, इससे फर्क नहीं पड़ता आप कौन हैं। वहीं कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडीस ने कहा, आप जानते हैं क्या चल रहा है देश में, आपको (मीडिया) निर्णय लेना है कि क्या करना है।

एनडीटीवी की सफाई

सीबीआई ने पुराने अंतहीन झूठे आरोपों के आधार पर एनडीटीवी एवं उसके प्रमोटरों के संगठित उत्पीड़न को और अधिक बढ़ा दिया। बयान में कहा गया कि एनडीटीवी और उसके प्रमोटर विभिन्न एजेंसियों की ओर से की जा रही इस बदले की कार्रवाई के खिलाफ लगातार लड़ते रहेंगे। इसमें कहा गया, हम भारत में लोकतंत्र और बोलने की स्वतंत्रता को बुरी तरह से कमजोर कर देने के इन प्रयासों के आगे घुटने नहीं टेकेंगे। भारत के संस्थानों और भारत जिन चीजों के लिए खड़ा है, उन्हें बबार्द करने की कोशिश करने वालों के लिए हम एक संदेश देना चाहते हैं- हम अपने देश के लिए लड़ेंगे और इन ताकतों पर जीत हासिल करेंगे।
अन्य देश लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack