Friday, 20 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

हवाई यात्रा में हंगामा, सांसदों की संस्कृतिः टीएमसी सांसद दोला की उधम पर कांग्रेस

जनता जनार्दन संवाददाता , Apr 08, 2017, 11:59 am IST
Keywords: TMC   Air India   MPs   Trinamool Congress   Dola Sen   Air India flight   Delhi to Kolkata   Seating arrangement   Congress   National career   शिवसेना सांसद   एयर इंडिया   तृणमूल कांग्रेस   एयर इंडिया फ्लाइट   दोला सेन  
फ़ॉन्ट साइज :
हवाई यात्रा में हंगामा, सांसदों की संस्कृतिः टीएमसी सांसद दोला की उधम पर कांग्रेस नई दिल्लीः अभी शिवसेना सांसद द्वारा की गई गुंडई से एयर इंडिया के अधिकारी के मानमर्दन का मामला सुलझा भी नहीं था कि तृणमूल कांग्रेस पार्टी की सांसद ने एयर इंडिया की एक फ्लाइट में फिर हंगामा कर दिया.

कांग्रेस ने इसके लिए सांसदों के अतिरिक्त अहंकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि हवाई यात्राओं के दौरान दिखावा करना और हंगामा मचाना शायद सांसदों की संस्कृति का हिस्सा बनता जा रहा है.

कांग्रेस की यह प्रतिक्रिया तृणमूल कांग्रेस पार्टी की सांसद दोला सेन की हरकतों के बाद आई है. खबर के मुताबिक दोला ने सुरक्षा जांच में सहयोग नहीं किया, जिसकी वजह से फ्लाइट 30 मिनट की देरी से उड़ी. यह फ्लाइट दिल्ली से कोलकाता जा रही थी.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, एयरलाइन के स्टाफ ने सांसद की मां, जो कि सीनियर सिटीजन हैं, को आपातकालीन द्वार  की सीट से हटाकर कहीं और बैठाने को कहा था. लेकिन सांसद ने मना कर दिया और वह चिल्लाने लगीं.

बताया गया कि दोला की मां व्हील चेयर पर थीं और आपात कालीन गेट के पास बैठी थीं जो कि नियमों के खिलाफ है. इसपर स्टाफ ने उनको हटने के लिए कहा था.

एयर इंडिया के स्टाफ ने यह भी कहा कि बुकिंग के वक्त व्हील चेयर के बारे में नहीं बताया गया था. लेकिन फिर भी सांसद की मां व्हील चेयर पर आईं.

एयर इंडिया का नाम आजकल बार-बार चर्चा में आ रहा है. इससे पहले शिवसेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ ने एयर इंडिया की फ्लाइट में बदतमीजी की थी. उन्होंने एयर इंडिया के कर्मचारी को अपनी सैंडल से पीटा भी था. जिसके बाद उनपर बैन लगा दिया था.

एयर इंडिया की देखा-देखी बाकी एयरलाइन्स सर्विस ने भी रवींद्र गायकवाड़ पर बैन लगा दिया था. जिसे 7 अप्रैल को ही हटाया गया.

इस बीच रवींद्र गायकवाड़ की फ्लाइट काफी बार कैंसल हुई थी. संसद में भी इस पर काफी बहस हुई. रवींद्र गायकवाड़ ने संसद में ही पूरे मामले पर माफी मांगी और फिर एवीऐशन मिनिस्ट्री को पत्र लिखकर उनपर लगे बैन को हटाने की मांग की थी. लेकिन उन्होंने यह भी कहा था कि वह माफी संसद से मांग रहे हैं और एयर इंडिया से माफी नहीं मांगेगे. गायकवाड़ ने बार-बार कहा कि स्टाफ ने उनके साथ बदतमीजी की थी.

शिवसेना के बाकी सभी सांसद गायकवाड़ के समर्थन में थे. उन्होंने सदन में धमकी भरे अंदाज में कहा था कि अगर सरकार ने गायकवाड़ पर लगे बैन को नहीं हटवाया तो वे लोग 10 अप्रैल को होने वाले एनडीए के डिनर में शामिल नहीं होंगे.
अन्य देश लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack