Tuesday, 19 September 2017  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2017: गूगल ने डूडल के जरिए दुनिया की महिलाओं को किया सलाम

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2017: गूगल ने डूडल के जरिए दुनिया की महिलाओं को किया सलाम नई दिल्ली: पूरी दुनिया में बुधवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है.  इस खास दिन को दुनिया का बड़ा सर्च ईंजन गूगल अपने ही अंदाज में सेलिब्रेट कर रहा है.

गूगल ने डूडल के जरिए दुनिया की महिलाओं के सशक्तिकरण, शिक्षा और विश्व में उनके योगदान को याद कर रहा है. मंगलवार रात जैसे ही घड़ी की सूई 12 पर पहुंची अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को समर्पित डूडल गूगल के होम पेज पर आ गया. इस डूडल में 8 तस्वीरें लगाई गई हैं, या यूं कहें कि इस पिक्चर गैलरी बनाई गई है.

डूडल की पहली तस्वीर में एक बुजुर्ग महिला (शायद नानी या दादी) कुर्सी पर बैठी है और एक बच्ची किताब लेकर उसके पास खड़ी है. दोनों कुछ बातें कर रहे हैं. इस तस्वीर में दिखाया गया है कि बुजुर्ग महिला बच्ची को महिलाओं के विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे कामों के बारे में बता रही है.

दिखाया गया है कि दादी/नानी से बातचीत के बाद बच्ची अकेले बैठकर 13 प्रसिद्ध महिलाओं की कहानी सोचती है. तस्वीर में कई सौ साल की अवधि में विभिन्न परिस्थिति में जन्मी महिलाओं के बारे में बताया गया है.

ये भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : कब और क्यों मनाया गया था पहली बार, जानें इतिहास सिलसिलेवार

डूडल की दूसरी तस्वीर में महिलाओं को अपने हक के लिए रैली करते हुए दिखाया गया है. इसी तस्वीर में रैली कर रही महिलाओं को एक बच्ची फूल देकर उनका अभिवादन कर रही है.

डूडल की तीसरी तस्वीर में एक महिला हवाई जहाज उड़ा रही है. यानी महिला के पायलट रूप को दर्शाया गया है.

आगे तस्वीरों में महिला के चित्रकार, शिक्षक, गायक, अंतरिक्ष यात्री, डॉक्टर, डांसर जैसे रूप में दर्शाया गया है. पांचवी तस्वीर एक महिला अपनी बच्ची को पढ़ा रही है. इसी तस्वीर में एक महिला लोगों को जागरूक करने के लिए दीवार पर एक पोस्टर चिपका रही है. वहीं एक बच्ची दिल का तस्वीर उन्हें दीवार पर चिपकाने को कह रही है. शायद कह रही हो दुनिया में प्यार बांटें.

मालूम हो कि आठ मार्च को दुनिया में भर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस बनाया जाता है। 28 फरवरी 1909 को पहली बार अमेरिका में यह दिन सेलिब्रेट किया गया. सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने न्यूयॉर्क में 1908 में गारमेंट वर्कर्स की हड़ताल को सम्मान देने के लिए इस दिन का चयन किया ताकि इस दिन महिलाएं काम के कम घंटे और बेहतर वेतनमान के लिए अपना विरोध और मांग दर्ज करवा सकें.

साल 1913-14 महिला दिवस युद्ध का विरोध करने का प्रतीक बन कर उभरा. रुसी महिलाओं ने पहली बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस फरवरी माह के आखिरी दिन पर मनाया और पहले विश्व युद्ध का विरोध दर्ज किया.  यूरोप में महिलाओं ने 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स को सपोर्ट करने के लिए रैलियां कीं.

8 मार्च 1975 से संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने लगा, तब से पूरी दुनिया में यह दिन सेलिब्रेट किया जाने लगा. इस बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम है 'Be Bold for Change' यानी कि बदलाव के लिए सशक्त बनें. यह कैंपेन लोगों का आह्वान करता है कि वह बेहतर दुनिया के लिए कार्यरत हों जिसमें लिंगभेद से इतर सबको शामिल किया जाए.
अन्य आधी दुनिया लेख
वोट दें

केंद्रीय मंत्रीमंडल में बदलाव से क्या सरकार की कार्य संस्कृति बदलेगी?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack