Wednesday, 05 August 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

जम्मू-कश्मीर : अखनूर में जीआरईफ कैंप पर आतंकी हमला, 3 मजदूरों की मौत

जम्मू-कश्मीर : अखनूर में जीआरईफ कैंप पर आतंकी हमला, 3 मजदूरों की मौत कश्मीर: जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में स्थित बटाल गांव में सोमवार तड़के हुए आंतकी हमले में जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स के तीन मजदूरों की मौत हो गई है। आतंकियों ने यह हमला जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स कैंप को निशाना बनाकर किया है। जिस जगह हमला हुआ है वह एलओसी से महज दो किमी दूर है। हमले के बाद सेना के सभी कैंपों को अलर्ट कर दिया गया है।

देर रात किया गया था हमला
जानकारी के मुताबिक सेना के कैंप से तीन शव भी बरामद किए गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सीमा पार से करीब सौ आतंकी एलओसी पार कर भारत में घुसने की फिराक में हैं। डीफेंस पीआरओ मनीष मेहता ने बताया है कि आतंकियों ने यह हमला रविवार देर रात करीब 1.15 बजे किया था। उनके मुताबिक यह हमला GREF की पलाटून पर किया गया था जिसमें तीन मजदूरों की मौत हो गई।

स्कूल कॉलेज बंद
आतंकी हमले के मद्देनजर अखनूर सेक्टर में सभी स्कूल और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। सभी जगहों पर चौकसी बढ़ा दी गई है और वाहनों की भी जांच की जा रही है।

घुसपैठ की कोशिश में आतंकी
गौरतलब है कि खुफिया एजेंसियों ने पहले से ही इस बात की आशंका जाहिर की थी कि सीमा पार से आतंकी घुसपैठ करने के लिए तैयार बैठे हैं। लिहाजा सेना के कैंपों को निशाना बनाया जा सकता है। यहां ध्यान देने वाली बात यह भी है कि जम्मू कश्मीर में बर्फबारी के बाद रास्तों के बंद हो जाने की वजह से यहां पर जितना मुश्किल सीमा पर गश्त लगाना होता है उतना ही मुश्किल घुसपैठ करना भी होता है। वहीं पिछले छह माह के अंंदर इस तरह के हमलों मं अब तक करीब 100 से अधिक जवानों की मौत हो चुकी है।

सेना के कैंप पर हुए अब तक के कुछ बड़े आतंकी हमले
18 सितंबर 2016 को जम्मू कश्मीर में उरी के सेना मुख्यालय में हुए आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा कुछ अन्य घायल भी हुए थे।

3 अक्टूबर 2016 को आतंकवादियों ने बारामूला के जाबांजपोरा इलाके में 47 आरआर के शिविर पर हमला कर दिया था, जिसमें बीएसएफ के एक जवान शहीद हो गए थे, जबकि एक अन्य घायल हो गए थे। हालांकि हमले के बाद सभी आतंकवादी भागने में कामयाब रहे थे।

6 अक्टूबर, 2016 को जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में हंदवाड़ा स्थित लंगेट में सेना के कैंप के पास आतंकी हमले की कोशिश नाकाम कर दी गई। आतंकवादियों ने सुबह कैंप के पास गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और तीन आतंकियों को मार गिराया।

6 अक्टूबर 2016 को जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में हंडवाड़ा स्थित सेना के शिविर पर कुछ आतंकवादियों ने हमला कर दिया। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया।

10 अक्टूबर 2016 को जम्मू कश्मीर के पंपोर में दो से तीन आतंकवादियों ने एक सरकारी इमारत पर हमला बोल दिया। सेना की इन आतंकियों से करीब तीन दिन तक मुठभेड़ जारी रही, जिसके बाद सभी आतंकियों को मार गिराया गया।

30 नवंबर 2016 को जम्मू के पास नगरोटा में आतंकियों ने आर्मी यूनिट पर हमला किया। इस हमले में 7 जवान शहीद हो गए थे।
अन्य थल सेना लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack