सीबीएसई स्कूलों में फिर से शुरू होगी 10वीं की बोर्ड परीक्षा: प्रकाश जावड़ेकर

सीबीएसई स्कूलों में फिर से शुरू होगी 10वीं की बोर्ड परीक्षा: प्रकाश जावड़ेकर नई दिल्ली: सीबीएसई बोर्ड से पढ़ाई कर रहे छात्रों को अब फिर से बोर्ड परीक्षा से गुजरना होगा। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सीबीएसई स्कूलों में दसवीं की बोर्ड परीक्षा 2017-18 से फिर से शुरू होगी। वहीं, पांचवी और आठवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं को फिर से शिक्षा प्रणाली में लाने के लिए राज्य सरकारों को अधिकार दिए जाएंगे। इसके बाद राज्य सरकार चाहेगी तो पांचवी और आठवीं कक्षा में बोर्ड परीक्षाएं हो सकेंगी।

जावड़ेकर ने कहा कि स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम का निर्धारण किया जएगा और सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता में सुधार किया जाएगा। उन्होेंने राजस्थान में स्कूली शिक्षा में किए गए नए बदलावों और 15 लाख नामांकन बढ़ने पर वहां के शिक्षा विभाग की तारीफ की। उन्होंने कहा कि 25 साल पहले जिस राज्य को बीमार कहा जाता था उस राज्य में अब सरकारी स्कूलों में गुणात्मक सुधार हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी सरकार की भी यही इच्छा है कि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हो।

कोटा में कोचिंग संस्थानों के विद्यार्थियों द्वारा की जाने वाली आत्महत्याओं को लेकर किये गए सवाल के जवाब में जावड़ेकर ने कहा कि जेईई कोचिंग सबको मिले इसके लिए सरकार एक ऑनलाईन कार्यक्रम ला रही है, जिसमें पढ़ाई के लिए विषय विशेषज्ञों से ऑनलाइन अध्ययन करवाया जाएगा और अध्ययन का पाठ्यक्रम भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

इससे पहले भी केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने फिक्की के एक कार्यक्रम में कहा था कि मैं सीबीएसई की दसवीं कक्षा में फिर से बोर्ड परीक्षा शुरू करना चाहता हूं। सीबीएसई के अलावा अन्य सभी बोर्ड दसवीं की परीक्षा कराते हैं। इसे सीबीएसई में भी क्यों नहीं लागू किया जाए?

शैक्षणिक संस्थानों को ग्रेड देने के लिए एनएएसी रेटिंग के अलावा, एचआरडी मंत्रालय की एनआइआरएफ रैंकिंग के तहत भी उनकी रैंकिंग पर विचार होगा।
अन्य शिक्षा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack