Sunday, 22 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव: जो बातें आपको जाननी चाहिए

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव: जो बातें आपको जाननी चाहिए चुनाव विश्लेषक इस बार के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को 'अभूतपूर्व' बता रहे हैं. कहा जा रहा है कि डेमोक्रैट हिलेरी क्लिंटन और रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप के बीच जिस तरह का आक्रामक मुकाबला दिख रहा है वैसा पहले नहीं हुआ.

8 नवंबर को फाइनल चुनाव है. अमेरिकी अपने 45वें राष्ट्रपति चुनाव की लंबी रात के लिए तैयार हैं. देखना बाकी है कि मुहर हिलरी पर लगती है या बाजी ट्रंप मारते हैं.

जीत का रास्ता कैसे तय होगा, किस राज्य का कितना महत्व है और आखिर कितना समय लगेगा अमेरिकी राष्ट्रपति चुने जाने में, इन सारे सवालों का जवाब आपको यहां मिलेगा.

यहां हम आपको बता रहे हैं कि अमेरिका में चुनाव की रात से पहले आपको क्या-क्या जानना चाहिए...

270 है जादुई नंबर
राष्ट्रस्तर पर एक बड़े चुनाव के इतर अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव 51 छोटे-छोटे चुनाव हैं। 50 राज्यों और एक अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन का चुनाव। जैसे-जैसे राज्यों से चुनाव के परिणाम आते जाएंगे एक चुनावी नक्शा तैयार होगा। लाल रंग वाले राज्यों का मतलब रिपब्लिकन की जीत और नीला रंग डेमोक्रैट का प्रतिनिधित्व करेगा।

यह चुनावी नक्शा 4 सालों में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में पार्टियों और उम्मीदवारों के प्रदर्शन की जानकारी देता है। नक्शा बताता है कि कौन कहां से जीत या हार रहा है।

जादुई आंकड़ा 270 वोटों का है। राष्ट्रपति वही बनेगा जो 538 इलेक्टोरल वोटों में से कम से कम 270 हासिल कर लेगा.

यहां से शुरू होगा ड्रामा
अमेरिका दुनिया का सबसे बड़ा पॉलिटिकल ड्रामा है। दुनिया का सबसे ताकतवर नेता इस चुनाव में चुना जाता है। अमेरिका में पहला पोलिंग स्टेशन शाम 7 बजे (000 जीएमटी बुधवार) ईस्ट कोस्ट में बंद होगा और अंतिम अलास्का में स्थानीय समयानुसार 06000 जीएमटी.

यानी भारतीय समयानुसार सुबह 5:30 (बुधवार) पहला पोलिंग स्टेशन और 11:30 बजे अंतिम पोलिंग स्टेशन बंद होगा। गौरतलब कि जीएमटी की तुलना में इंडिया स्टैंडर्ड टाइम 5:30 घंटे आगे चलता है.

यानी अमेरिका के सबसे बड़े राजनीतिक ड्रामा की शुरुआत भारतीय समयानुसार 5:30 बजे सुबह जॉर्जिया, साउथ कैरोलिना, वर्माट, इंडियाना और केंटकी में पोलिंग स्टेशन बंद होने के साथ होगी.

पहला सरप्राइज जॉर्जिया या वर्जीनिया या फिर दोनों जगहों से आ सकता है. अगर ट्रंप जॉर्जिया में हारते हैं तो यह सरप्राइज होगा, क्योंकि इसे रिपब्लिकन का गढ़ माना जाता है. इसी तरह अगर हिलरी वर्जीनिया से हारती हैं ,तो झटका होगा क्योंकि 2012 में ओबामा यहां से जीते थे.

आधे घंटे के बाद ओहियो और नॉर्थ कैरोलिना जैसे राज्यों की रणभूमि के परिणाम सामने आएंगे। दोनों में क्रमशः 18 और 15 इलेक्टोरल वोट हैं. ओहियो ऐतिहासिक रूप से डेमोक्रैट का गढ़ है जबकि नॉर्थ कैरोलिना रिपब्लिकन को वोट देता रहा है। पर इस साल क्या होगा किसी को नहीं पता.

अगले 90 मिनट बाद करीब 30 राज्यों के परिणाम तेजी से आने शुरू हो जाएंगे। चुनावी नक्शे का रंग तेजी से नीला और लाल हो रहा होगा.
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack