Thursday, 13 August 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

सर्जिकल स्ट्राइक पर मोदी की तारीफ पर भाजपा को उद्धव ठाकरे की चुनौती, हिम्मत है अलग हो जाइए

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 12, 2016, 12:32 pm IST
Keywords: Shiv Sena   Shiv Sena president   Uddhav Thackeray   PM Narendra Modi   Surgical strikes   LoC   BJP   Ruling alliance   शिवसेना   शिवसेना अध्यक्ष   उद्धव ठाकरे   दशहरा रैली   शिवसेना भाजपा गठबंधन  
फ़ॉन्ट साइज :
सर्जिकल स्ट्राइक पर मोदी की तारीफ पर भाजपा को उद्धव ठाकरे की चुनौती, हिम्मत है अलग हो जाइए मुंबईः  शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को नियंत्रण रेखा पार करके हाल में किए गए लक्षित हमले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर प्रशंसा की.

उन्होंने कहा कि मोदी मर्द की तरह पाकिस्तान से लड़े. उन्होंने भारतीय सेना और प्रधानमंत्री को लक्षित हमले के लिए बधाई दी.

उद्धव ठाकरे ने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क में शिवसेना की 50वीं वाषिर्क दशहरा रैली के मौके पर कहा कि बीजेपी से कोई भी खड़ा होकर अलग होकर चुनाव लड़ने की बात करता है.

ठाकरे ने कहा कि पहले मुख्यमंत्री को फैसला करना चाहिए कि नेता कौन है. हमारी पीठ पर चाकू मत मारिए. सामने से आकर लड़िए. अगर आपमें साहस है तो अलग होकर चुनाव लड़िए.

ठाकरे ने कहा कि गठबंधन तोड़िए और हम आपको अपना सर्जिकल स्ट्राइक दिखाएंगे.  ठाकरे ने यह टिप्पणी बीजेपी सांसद किरीट सोमैया के उस हालिया बयान पर की जिसमें उन्होंने कहा था कि बीजेपी अगले वर्ष होने वाले बीएमसी चुनाव अकेले लड़ने की तैयारी में है.

उन्होंने मध्य मुंबई के शिवाजी पार्क में शिवसेना की दशहरा रैली के मौके पर कहा कि हमले के बाद, मैंने मोदी को फोन किया और उनसे कहा कि नरेंद्र भाई, यह वह नरेंद्र भाई हैं जिसे हम प्रधानमंत्री के रूप में चाहते हैं.'

उन्होंने कहा कि मोदी को अब ऐसी कार्रवाई करनी चाहिए जिससे केवल पीओके नहीं बल्कि पूरा पाकिस्तान भारत का हिस्सा बन जाए. ठाकरे ने कहा कि हमारी सेना में इतनी क्षमता है.
 
उन्होंने कहा कि मुंबई महानगर पालिका में किसी भी को हमारा सामना करने दीजिए. हम उन्हें दिखाएंगे कि मुंबई शिवसेना की है और शिवसेना मुंबई की.
 
शिवसेना नेता ने कहा, 'मुंबईकरों से हमारा संबंध खून का है. हम आपके (भाजपा) पीछे भीख का कटोरा लेकर नहीं आएंगे.' उन्होंने लोगों से कहा कि अब से आप (शिवसेना कार्यकर्ता) गठबंधन की मत सोचिए. हम उस पर फैसला करेंगे, वह चाहे जो भी हो.'

उद्धव ने कहा कि शिवसेना पहली ऐसी पार्टी थी, जिसने पाकिस्तानी कलाकारों और लेखकों का विरोध किया. सरकार को एक बार तय कर लेना चाहिए कि पाकिस्तान के साथ कैसे संबंध रखने है.

शिवसेना पिछले कुछ समय से लगातार बीजेपी पर निशाना साधती रही है. ठाकरे ने कहा कि वो हर मुस्लिम के खिलाफ नहीं है, लेकिन जो यहां रहकर पाकिस्तान की बात करते हैं, हम उनके खिलाफ हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा से पहले दोनों पार्टियों के बीच 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया था, लेकिन चुनाव के बाद दोनों फिर एक साथ आ गए. अभी दोनों सत्ता में साथ हैं, लेकिन आपसी संबंध उतने मधुर नहीं है.
अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack