गायत्री ने फिर करायी अखिलेश की किरकिरी

गायत्री ने फिर करायी अखिलेश की किरकिरी

वाराणसी: कहते हैं जिसे खून मुंह लग जाता है उसे पानी अच्छा नहीं लगता या फिर यूँ कह लीजिये कि जिसे बेईमानी की खाने की आदत लग जाती है वो छूटती ही नहीं,यह कहावत उत्तर प्रदेश के नव नियुक्त परिवहन मंत्री गायत्री प्रजापति पर बिल्कुल सटीक बैठती है।

वैसे इनके भ्र्ष्टाचार के किस्से प्रदेश में काफी चर्चित भी हैं. अगर प्रदेश में अवैध वसूली में किसी मंत्री को पुरस्कृत करने की परंपरा होती तो इनको पहला ईनाम मिलता.

अभी अभी इन्होंने एक ऐसा कारनामा सूटकेस लेकर कर दिखाया की अखिलेश यादव मुख्यमंत्री की बची खुची इमेज धूमिल हो रही है।

हुआ यूँ  की वाराणसी के एआरटीओ प्रवर्तन प्रथम नरेंद्र कुमार राय जो की 28 फरवरी को सेवानिवृत हो रहे है,और इसे तत्कालीन परिवहन मंत्री दुर्गायादव ने जनपद चंदौली में ओवरलोडिंग वाहनों के संचालन में लिप्त पाये जाने पर निलंबित कर दिया था.

ऐसे दागी अधिकारी को चंदौली के दूसरे दल का अतिरिक्त कार्य भार देखने का आदेश गायत्री के निर्देश पर परिवहन मुख्यालय ने कर दिया अब सवाल यह उठता है की अभी कुछ माह पहले दर्जनों से अधिक आर आई प्रमोशन पाकर एआरटीओ के पद पर पदोन्नत हुए और कई को तो तैनाती भी नही मिल पाई है।

अगर रिक्त जगह को भरना ही था तो किसी की पोस्टिंग कर देते  पर गायत्री के यहाँ परम्परा पुरानी है माल अंदर बन्दा बाहर प्रथम दृष्टया ये आदेश यह प्रमाणित कर रहा है।

गायत्री नही सुधरने वाले वैसे नरेंद्र राय के पीछे गाजीपुर के मंत्री ओमप्रकाश का पूरा हाथ रहता है।

ओमप्रकाश को अभी तत्काल में शिवपाल ने प्रदेशमहासचिव बनाया है। ये तीनो शिवपाल गुट के है और सब मिलके अखिलेश की मटियामेट कर रहे है।

खैर समाजवादी पार्टी में कुछ लिखने पढ़ने का कोई खास मतलब नही यहाँ तो चन्द लाइन लिखने को मन कर दिया की

!!बाऊ आन्हर बेटा आन्हर जनता छोड़ सब नेता आन्हर के के दिया देखाई गायत्री अस भ्रष्टाचारी आन्हर!!

अन्य चर्चा में लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack