Monday, 23 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

तो यह इंडियन मुजाहिदीन का काम था?

जनता जनार्दन संवाददाता , Jul 14, 2011, 10:36 am IST
Keywords: Indian Mujahideen   Main suspect   Behind   Terrorists attack   Mumbai blasts   13/7   इंडियन मुजाहिदीन   मुम्बई विस्फोट   आतंकवादी हमला   हमले में हाथ   
फ़ॉन्ट साइज :
तो यह इंडियन मुजाहिदीन का काम था? नई दिल्ली: मुम्बई ही क्या पूरा देश आतंकवाद के निशाने पर है, पर हर हमले के बाद हम दोषियों को ढूंढने का दावा तो करते हैं , पर सजा नहीं दिला पाते. इस बार भी यही हो रहा. मुम्बई में बुधवार की शाम तीन शक्तिशाली बम विस्फोटों के पीछे इंडियन मुजाहिदीन के हाथ होने की आशंका जताई जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम ने इसे आतंकवादियों द्वारा समन्वित हमला करार दिया।

ये हमले इंडियन मुजाहिदीन के दो संदिग्ध सदस्यों की गिरफ्तारी के एक दिन बाद किए गए हैं। मंगलवार को महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने इंडियन मुजाहिदीन के दो संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार किया था। इन पर गुजरात में 2008 में हुए सिलसिलेवारबम विस्फोटों में वाहन मुहैया कराने का आरोप है।

चिदम्बरम ने कहा कि दक्षिण मुम्बई में ओपेरा हाउस, झावेरी बाजार और दादर पश्चिम में 6.45 से 7 बजे के बीच विस्फोटों को अंजाम दिया गया। इससे हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि यह समन्वित आतंकवादी हमला था।

खुफिया सूत्रों ने कहा कि मुम्बई के भीड़भाड़ इलाके में विस्फोट को अंजाम देना आंतकवादियों के लिए एक आसान लक्ष्य है। इस बात को ध्यान में रखा जाना चाहिए कि इंडियन मुजाहिदीन ने इसी तरह के विस्फोट को बेंगलुरू, अहमदाबाद और नई दिल्ली में वर्ष 2008 में और वाराणसी तथा पुणे में वर्ष 2010 में अंजाम दिया था।

सूत्रों का कहना है कि यह प्रथम दृष्टया अनुमान है। विस्फोट के पीछे किसका हाथ है यह तो राष्ट्रीय जांच एजेंसी और एटीएस की जांच के बाद खुलासा हो पाएगा।

सूत्रों ने कहा कि छह जुलाई को गिरफ्तार किए गए इंडियन मुजाहिदीन के संदिग्धों 32 वर्षीय मोहम्मद मोबीन और 28 वर्षीय अयूब राजा से दोबारा पूछताछ कर विस्फोटों के सम्बंध जानकारी जुटाने की कोशिश की जाएगी।

बताया जाता है कि विस्फोट स्थलों से जुटाए गए पदार्थ और अन्य साक्ष्य इस ओर संकेत करते हैं कि विस्फोटों में आरडीएक्स और अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया गया।

सूत्रों ने  कहा कि विस्फोट में जिस तरीके को अपनाया गया वह इंडियन मुजाहिदीन की ओर संकेत करते हैं।

सूत्रों के मुताबिक विस्फोट 'छिपाकर' रखे गए थे। इसी तरीके से इंडियन मुजाहिदीन ने 2008 में हमले को अंजाम दिया था। फिलहाल जांच की जा रही है।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack