Thursday, 19 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

बच्चों से भी माफी मांगना न भूलें

जनता जनार्दन डेस्क , Nov 13, 2015, 13:55 pm IST
Keywords: Children   Mistake   Apologize   apologizing   बच्चों   गलती   माफी   माफी मांगने  
फ़ॉन्ट साइज :
बच्चों से भी माफी मांगना न भूलें न्यूयॉर्क: माफी छह या सात वर्ष की छोटी उम्र के बच्चों के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है। यही वह उम्र है जिसमें उनके सामाजिक जीवन की नींव बनती है और यह पूरी उम्र बरकरार रहती है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि बच्चों से किसी गलती के लिए माफी मांगने पर भले ही उन्हें बेहतर महसूस न हो, लेकिन यह उनके साथ आपके रिश्ते को बेहतर करने में जरूर मदद कर सकता है।

प्रमुख शोधकर्ता अमेरिका की वर्जिनिया युनिवर्सिटी के मरिसा डे्रल के मुताबिक, शोध में आश्चर्यजनक बात सामने आई कि मामूली गलती के लिए माफी सुनने वाले बच्चों को भी उतना ही बुरा लगता है जितना कि उन बच्चों को लगता है जिनसे माफी नहीं मांगी जाती।

ड्रेल के मुताबिक, भले ही माफी मांगने पर बच्चों की आहत हुई भावनाओं में कोई सुधार नहीं होता, लेकिन बच्चों से गलती की माफी मांगने पर उनके साथ संबंध में जरूर सुधार होता है। अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने एक स्थिति तैयार की। बच्चों और वयस्क शोध सहायक को प्लास्टिक के कपों से टॉवर बनाने को कहा गया।

जैसे ही बच्चे अपना टॉवर बनाने के नजदीक पहुंचे, वयस्क ने बच्चे से एक कप उधार मांगा और ऐसा करने की प्रक्रिया में बच्चे का टॉवर गिरा दिया गया। सहायक ने या तो माफी मांगी या बिना कुछ कहे ही कमरे से बाहर चली गई।

बाद में बच्चों से जब यह पूछा गया कि उन्हें कैसा महसूस हुआ तो जिन बच्चों से माफी मांगी गई थी उन्हें भी उतना ही बुरा लगा था, जितना कि उन्हें जिनसे माफी नहीं मांगी गई। लेकिन जब बच्चों को शोध सहायकों को स्टिकर देने को कहा गया तो जिन बच्चों से माफी मांगी गई थी, उन्होंने अधिक उदारता दिखाई।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack