Wednesday, 28 October 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

बिहार विधानसभा चुनाव: पांच चरण में होंगे चुनाव, 8 नवंबर को गिनती

बिहार विधानसभा चुनाव: पांच चरण में होंगे चुनाव, 8 नवंबर को गिनती नई दिल्ली: मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ नसीम जैदी ने बिहार चुनाव की घोषणा करते हुए बताया कि चुनाव 5 चरणों में होगी। बिहार में कुल 6.68 करोड़ मतदाता हैं। कुल 243 सीटों के लिए चुनाव कराए जाएंगे। त्योहारों को देखते हुए तारीखों की घोषणा की गई है। केंद्र से पूरी पुलिस फोर्स लगाई जाएगी।

38 जिले में से 29 नक्सल प्रभावित माने जा रहे हैं। इसी को देखते हुए विशेष सुरक्षा व्यवस्था रहेगी।सभी बूथों के लिए अर्धसैनिक बल तैनात रहेंगे। इसी के साथ आचार संहिता लागू हो गई है।

16 सितंबर से चुनाव प्रक्रिया शुरू होगी। 12 अक्टूबर को पहले चरण का मतदान होगा। दूसरे चरण का मतदान 16 अक्टूबर को होगा। तीसरे चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को होगा। चौथे चरण का चुनाव एक नवंबर को होगा। पांचवां और अंतिम चरण का चुनाव 6 नवंबर को होगा। मतगणना 8 नवंबर को होगी।

पहले चरण में 49 सीटों पर मतदान होगा।

दूसरे चरणः में 32 विधानसभा, जिले कैमूर, रोहताग, जहानाबाद, औरंगाबाद

तीसरा चरणः 50 विधानसभा, जिले सारण, वैशाली, नालंदा, पटना, भोजपुर, बक्सर

चौथा चरणः 55 विधानसभा, जिले पं चंपारण पूर्व चंपारण शिवहर, सीतामणि, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सीवान

पांचवां चरणः 57 विधानसभा, जिले मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूणि कटियार, मधेपुरा, सहरसा, दरभंगा

अंतिम 48 घंटे के लिए टीवी विज्ञापन पर रोक लग जाएगी। ईवीएम पर नाम के साथ प्रत्याशियों की तस्वीर भी होगी। ऐसा पहली बार बिहार चुनाव के दौरान होने जा रहा है। पहले चरण की वोटिंग से ही एग्जिट पोल पर रोक लग जाएगी। हर विधानसभा में दो मॉडल पोलिंग बूथ होंगे।

हेलीकॉप्टर, घुड़सवार पुलिस बल, मोटर बोट से भी चुनाव के दौरान निगरानी रखी जाएगी। पेड न्यूज और वोट के लिए पैसे देने वाले लोगों पर भी नजर रखी जाएगी। वीडियो गेम्स पर भी नजर रखी जाएगी।

असमाजिक तत्वों पर नजर रखी जाएगी। लोगों को लाइसेंसी हथियार जमा कराने होंगे। मतदाताओं को धमकाने वालों की भी खैर नहीं होगी। एजेंसियां खास नजर रखेंगी।

सिंगल विंडो सिस्टम चालू किया गया है। ताकि चुनाव प्रचार के दौरान 36 घंटे के अंदर इजाजत दी जा सके। मतदाता सूची में हर प्रत्याशी की फोटो लगी होगी। चार जिले के 36 विधानसभाओं में नया ऑडिट सिस्टम लागू किया जाएगा। विकलांग मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था हाेगी।

हर विधानसभा के लिए दो मॉडल पुलिस स्टेशन स्थापित किया जाएगा।

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सभी मंथन निर्वाचन आयोग ने पूरा कर लिया है। उम्मीद जताई जा रही है कि आज दोपहर 2.30 बजे तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग कर देगा। चुनाव आयोग ने इसके लिए प्रेस वार्ता बुलाई है।

सूत्रों के अनुसार बिहार चुनाव 4 से 6 चरणों में हो सकती है। आयोग चुनाव की तारीखों और चरणों के सिलसिले में फैसला त्यौहारों को देखते हुए लेगा।

आयोग ने केंद्र सरकार से भी अर्द्धसैनिक बलों की पर्याप्त मौजूदगी के लिए मंजूरी ले ली है। बताया जा रहा है कि अक्टूबर के आखिरी से लेकर नवंबर के अंतिम सप्ताह तक ये चुनाव कराए जाने की संभावना है।

243 सदस्यीय बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है। राज्य में जदयू 10 साल से सत्ता में है और इस दौरान नीतीश कुमार के हाथों में काफी समय तक राज्य की बागडोर रही।

कुमार की पार्टी का इस बार लालू प्रसाद की राजद और कांग्रेस के साथ गठबंधन है। नीतीश भाजपा के साथ 17 साल पुराना गठजोड़ तोड़कर जून 2013 में राजग से अलग हो गए थे।

पिछले वर्ष लोकसभा चुनाव में भाजपा का रामविलास पासवान की लोजपा और उपेन्द्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के साथ गठजोड़ था और भाजपा नीत गठबंधन ने उस चुनाव में शानदार प्रदर्शन किया था।
अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack