फैशन शो से हो रही बॉलीवुड गानों की छुट्टी

जनता जनार्दन डेस्क , Aug 19, 2015, 16:32 pm IST
Keywords: India   Fashion Shows   Bollywood songs   Designers   Hindi songs   Audience   भारत   फैशन शो   बॉलीवुड गाने   डिजाइनर   हिंदी गानों   दर्शक  
फ़ॉन्ट साइज :
फैशन शो से हो रही बॉलीवुड गानों की छुट्टी नई दिल्ली: भारत में फैशन शो में बॉलीवुड गाने बजाने का चलन तेजी से कम हो रहा है। कुछ डिजाइनर मानते हैं कि फैशन शो में हिंदी गानों से दर्शकों का ध्यान ’भटकता’ है, वहीं कुछ का मानना है कि ये परिधान संग्रह के मूड से मेल नहीं खाते।

पूर्व में निदा महमूद, रोहित बल, और मनीष अरोड़ा जैसे नामचीन डिजाइनर अपने फैशन शो में चर्चित बॉलीवुड गानों का इस्तेमाल कर चुके हैं, लेकिन पिछले कुछ वर्षो से ज्यादातर डिजाइनर ऐसा करने से बच रहे हैं। जांनिसार फिल्म में मुख्य भूमिका निभा रहीं अभिनेत्री पर्निया कुरैशी ने बीएमडब्ल्यू इंडिया ब्राइडल फैशन वीक का शुभारंभ इस फिल्म के गाने ’हमें भी प्यार कर ले’ पर रैंप वॉक कर किया था।
 
लेकिन ऐसा विरला ही होता है। वहीं, फैशन परस्त अभिनेत्री सोनम कपूर ने डिजाइनर अबू जानी-संदीप खोसला के परिधान संग्रह के लिए रैंप वॉक करते समय अमेरिकी गायिका लाना डेल रे के मशहूर गाने ’यंग एंड ब्यूटीफुल’ की लिप-सिंक की थी। यह पूछे जाने पर कि क्या इस गाने को चुनने की कोई खास वजह थी? संदीप खोसला ने बताया, “हमें वक्त और समाज एवं सौंदर्य जगत ने सिखाया है कि बुढ़ापा एक खलनायक है और खूबसूरती अंदरूनी होती है..हमें गाने की रफ्तार और इसके पीछे का मिजाज अच्छा लगा। फैशन शो में इसकी बजाय चर्चित हिंदी फिल्म गानों का इस्तेमाल क्यों नहीं करते? इसके जवाब में अबू जानी ने आईएएनएस को बताया, “प्रतीकात्मक रूप से हम ऐसे संगीत की रचना करेंगे, जिसमें हॉलीवुड फिल्म गीतों के साथ भारतीय गाने जुड़े हों।
 
उसके बाद हम उन दोनों को मिलाकर एक नए गीत की रचना करने के लिए एक संगीतकार के पास जाते हैं। उन्होंने कहा, जब सवाल फैशनेबल परिधान और हमारे रैंप के गानों की लिस्ट का हो, तो हम हॉलीवुड-बॉलीवुड दोनों का मिश्रण और घालमेल पसंद करते हैं। वहीं, डिजाइनर अनुश्री रेड्डी कहती हैं कि बॉलीवुड गाने परिधान संग्रह से ध्यान हटाते हैं, इसलिए मैं अधिकांशतः बॉलीवुड गाने चुनने से बचती हूं।’ डिजाइनर पायल सिंघल का कहना है कि फिल्मी गाने नाटकीय कपड़ों के लिए हैं।
 
उन्होंने बताया, एक बॉलीवुड गाने का इस्तेमाल सिर्फ इसलिए नहीं किया जा सकता, क्योंकि वह बहुत पसंद किया जा रहा है..अगर परिधान नाटकीय हैं और एक बॉलीवुड गाने की जरूरत है, तो हमें उसका प्रयोग कर खुशी होगी।“ डिजाइनर जोड़ी गौरी-नयनिका करण की नयनिका ने कहा, बॉलीवुड गाने हमारे परिधानों के साथ नहीं जमेंगे, क्योंकि हमारे परिधान यूरोप से प्रेरित हैं।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack