मैगी के और पांच सैंपल्स टेस्ट में हुए फेल

मैगी के और पांच सैंपल्स टेस्ट में हुए फेल लखनऊ: मैगी के पांच और सैंपल्स टेस्ट में फेल पाए गए हैं। शनिवार को एक अधिकारी ने बताया कि इन सैंपल्स में अनुमति सीमा से ज्यादा लेड मिले हुए थे।

उक्त अधिकारी ने बताया, मैगी के ये सैंपल्स बाराबंकी से लिए गए थे। फूड सेफ्टी ऐंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन लैबरेटरी में जब इनकी जांच की गई तो इनमें अनुमति सीमा से प्रति मिलियन 2.7 पार्ट्स ज्यादा लेड मिले हुए थे।

अडिशनल कमिश्नर (फूड) आर.एस. मौर्या ने बताया कि टेस्ट रिपोर्ट्स को अब फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) के पास भेजा जाएगा।

मैगी में लेड और मोनोसोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी) की बहुत ज्यादा मात्रा पाए जाने की आरंभिक रिपोर्ट के बाद राज्य भर से 500 से ज्यादा सैंपल्स इकट्ठा किए गए थे। जिन पांच सैंपल्स को अनफिट पाया गया है, वे इसी कलेक्शन के हैं।

ध्यान रहे कि जून में मैगी पर देशव्यापी प्रतिबंध लगा दिया गया जिसे इसके निर्माता नेस्ले ने चुनौती भी दी है। उत्तर प्रदेश के बाद अन्य कुछ राज्यों में भी फूड इंस्पेक्टर्स ने जब निरीक्षण के दौरान पाया कि मैगी में एमएसजी और लेड की मात्रा बहुत ही ज्यादा है तो नेस्ले को अपने लोकप्रिय प्रॉडक्ट को मार्केट से हटाने का आदेश दिया गया।

नेस्ले का कहना है कि मैगी उपभोग के लिए सुरक्षित है और इसने भारत के फूड स्टैंडर्ड्स का पालन किया है। मामला फिलहाल बॉम्बे हाई कोर्ट में है।
अन्य उत्पाद लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack