Friday, 26 February 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अफगानिस्तान की संसद पर आतंकी हमला, तालिबान ने ली हमले की जिम्मेदारी

अफगानिस्तान की संसद पर आतंकी हमला, तालिबान ने ली हमले की जिम्मेदारी काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में तालिबान आतंकवादियों ने आज शक्तिशाली विस्फोट और गोलीबारी करते हुए संसद पर हमला किया। हमले के बाद संसद भवन में अफरा-तफरी मच गई और सांसद सुरक्षित स्थान की ओर भागते देखे गए।

तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। यह धमाका उस वक्त हुआ जब रक्षा मंत्री पद के लिए अफगान राष्ट्रपति की ओर से नामांकित प्रतिनिधि के बारे में संसद में परिचय दिया जा रहा था।

काबुल में इतने महत्वपूर्ण स्थान पर हुए इस हमले ने नाटो की मदद के बिना तालिबान के खिलाफ अफगान सुरक्षा बलों की लड़ाई के बीच यहां की सुरक्षा को लेकर नए सिरे से सवाल खड़ कर दिए हैं।

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने टवीट किया, कई मुजाहिदीन संसद की इमारत में दाखिल हो गए हैं। भीषण संघर्ष चल रहा है। उसने कहा, हमला उस वक्त किया गया जब रक्षा मंत्री के बारे में परिचय दिया जा रहा था।

काबुल में पुलिस ने कहा कि तालिबान चरमपंथियों ने संसद भवन की सुरक्षा में सेंध लगा दी है और हताहतों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। इमारत से धुआं उठता दिखाई दिया।

पुलिस के प्रवक्ता अब्दुल्ला करीमी ने बताया, संसद पर तालिबान ने हमला किया है। वे संसद के भीतर नहीं हैं, लेकिन वे संसद भवन के बाहर किसी स्थान पर हैं।

आतंकवादियों ने अप्रैल के आखिर में राष्ट्रव्यापी स्तर पर हमले शुरू किए थे। उन्होंने सरकार और विदेशी स्थानों को निशाना बनाया है।

तालिबान आतंकवादियों ने अफगानिस्तान के प्रमुख मौलवियों के उस आग्रह भी दरकिनार कर दिया है कि वे रमजान के महीने में हमले नहीं करें।

अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन के मुताबिक आतंकवादी हमलों में बढ़ोतरी से मारे जाने वाले आम अफगानवासियों की संख्या में भी इजाफा हुआ है।

उसने कहा कि इस साल के शुरूआत चार महीनों में करीब 1,000 नागरिक मारे गए हैं। आतंकवादियों के हमलों पर अंकुश लगाने में विफलता को लेकर राष्ट्रपति अशरफ गनी को आलोचना का सामना करना पड़ा है।
अन्य पास-पड़ोस लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack