..और बाजार से हटने लगी मैगी

जनता जनार्दन डेस्क , Jun 04, 2015, 17:21 pm IST
Keywords: Country   Maggie   children   favorite dish   Maggie sales   देश   मैगी   बच्चों   मनपसंद डिश   मैगी की बिक्री   
फ़ॉन्ट साइज :
..और बाजार से हटने लगी मैगी नई दिल्ली: देश में मैगी 25 सालों से लोगों, खासकर बच्चों की मनपसंद डिश रही है। लेकिन फिलहाल वह कुछ पदार्थों की निर्धारित सीमा से अधिक मौजूदगी को लेकर विवादों में घिरी है और कभी इसके दीवाने रहे उपभोक्ता अब मैगी से दूरी बनाने लगे हैं। कंपनी ने भी अब मैगी की बिक्री न करने का फैसला लिया है।

मैगी के नमूनों की जांच में कुछ पदार्थ तय सीमा से अधिक मात्रा में मिले हैं, जिसके चलते मैगी खाने को लेकर लोग सावधानी बरत रहे हैं। मैगी बनाने वाली कंपनी नेस्ले हालांकि इस मामले में अपना रुख कायम किए हुए है। कंपनी का कहना है कि उसके उत्पाद खाने के लिए सुरक्षित हैं।

नोएडा में रहने वाली एक हाउस वाइफ रामेश्वरी देवी ने कहा कि बच्चों के लिए यह सबसे जल्दी तैयार हो जाने वाला खाना था, खास तौर पर तब जब वह स्कूल से आते थे और भूखे होते थे। लेकिन मैं उनके स्वास्थ्य से खिलवाड़ नहीं कर सकती।

इस घटनाक्रम से छात्रावस में रहने वाले छात्रों को भी तड़का झटका लगा है, क्योंकि उनके लिए वक्त-बेवक्त तुरंत भूख मिटाने का मैगी एक अच्छा विकल्प था। दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र और हॉस्टल में रहने वाले वरुण मिथानी ने कहा कि उसे (मैगी) बनाना बहुत आसान था और हमारे लिए वह बहुत सस्ती भी थी। अगर वह सुरक्षित नहीं है तो हमें उसका विकल्प ढूंढना होगा।

बहरहाल, इस घटनाक्रम के कारण मैगी की बिक्री प्रभावित हुई है। राष्ट्रीय राजधानी में मैगी बेचने वाले वितरकों और दुकानदारों ने कहा कि बीते एक सप्ताह में मैगी की बिक्री में भारी गिरावट हुई है।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack