Tuesday, 21 August 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अपना दूध पीकर जिंदा बची जंगल में फंसी महिला

अपना दूध पीकर जिंदा बची जंगल में फंसी महिला वेलिंगटन:  न्यूजी लैंड के बीहड़ जंगल में फंस गई एक महिला ने अपना दूध पीकर और खुद को जमीन में गाड़कर जान बचाई । जंगल में फंस गई इस महिला ने सूझबूझ और हिम्मत से काम लिया और यही उसके काम भी आया।

स्युजन ओ ब्रायन रविवार को साउथ वेलिंगटन के एक जंगल से होकर जा रही 20 किमी लंबी दौड़ में हिस्सा ले रही थीं। गलत रास्ते पर चले जाने से वह जंगल में भटक गईं।

29 साल की इस बहादुर महिला ने पहले तो सोचा कि जंगल में बारिश और तेज हवाएं उनकी जान ले लेगी। स्युजन ने इस दौरान दौड़ने के लिए हल्के कपड़े पहने थे। उन्होंने अपने परिजनों के बारे में सोचना और प्रार्थना करना शुरू कर दिया।

बाद में उन्होंने जमीन में एक गड्ढा खोदा और खुद को उसके भीतर धकेल लिया। इस तरीके से उन्होंने खुद को गर्म रखा। अपने शरीर को सर्दी से लड़ने के लिए एनर्जी देने का उन्होंने खुद का दूध पीने का रास्ता निकाला।

स्युजन ने बताया कि वह खुद को गर्म रखने के लिए अपने ऊपर मिट्टी डालती रहीं। उनके मुताबिक, 'जब भी मैं कोई आवाज सुनती तो जोर से मदद के लिए चिल्ला पड़ती।' उनके जंगल में फंसे होने का पता एक हेलिकॉप्टर के जरिए चला, जिसमें हीट डिटेक्टिंग सेंसर लगा था।

उन्होंने रविवार रात जंगल में गुजारी और सोमवार सुबह उन्हें बचाया गया। बचने के बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा, 'एक चीज ने मेरी मदद की। मैं अपने बच्चे को उसे दूध पिलाती हूं। थोड़ा दूध मेरे शरीर में बचा हुआ था। मैंने सोचा मुझे एनर्जी देने के लिए यह जरूरी है।'

स्युजन का दो साल बेटा और आठ महीने की बेटी है। उन्हें चेकअप के लिए हॉस्पिटल ले जाने से पहले पति और बच्चों से मिलवाया गया।
अन्य मिसाल लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack