Sunday, 20 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अंबेडकर जयंती: बाबा साहेब को नमन, दिग्‍गजों ने किए श्रद्धासुमन अर्पित

अंबेडकर जयंती: बाबा साहेब को नमन, दिग्‍गजों ने किए श्रद्धासुमन अर्पित नई दिल्ली: भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की 124 वीं जयंती पर पूरा राष्ट्र उन्हें नमन कर रहा है। इस मौके पर संसद भवन में कार्यक्रम आयोजित किया गया।

यहां राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू के अलावा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण्पाल गुर्जर समेत कई दिग्गज नेता शामिल हुए।

सभी नेताओं ने संसद भवन के प्रांगण में बनी अंबेडकर की प्रतिमा पर श्रृद्धा सुमन अर्पित किए। वहीं, सरकार के सभी मंत्रियों और राजनीतिक दलों ने भी डॉ. अंबेडकर को भी श्रद्धासुमन अर्पित किए।

सर्च इंजन गूगल भी डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती मना रहा है। उसने अंबेडकर के सम्मान में डूडल बनाया है।इसी बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अहम निर्णय लेते हुए राज्य में 6 दिसंबर को बाबा साहेब की पुण्यतिथि पर अवकाश का ऐलान किया है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने भी डॉ. बाबासाहेब अम्‍बेडकर को उनकी जंयती पर नमन किया है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं डॉ. बाबासाहेब अम्‍बेडकर की जंयती पर उन्‍हें नमन करता हूं। जय भीम।

उन्‍होंने कहा कि डॉ. बाबासाहेब अम्‍बेडकर एक युग पुरुष हैं, जो करोड़ों भारतीयों के दिल और दिमाग में वास करते हैं। सामाजिक न्‍याय के प्रति उनका बेजोड़ संकल्‍प और दृढ़ प्रतिबद्धता उनके जीवन की विशेषता रही है।

उन्‍होंने प्रसिद्ध अधिवक्‍ता, शिक्षाविद, लेखक और बुद्धिजीवी के रूप में ख्‍याति अर्जित की और हमेशा अपने दिल की बात कही।

हमारे देश के संविधान के निर्माण में डॉक्‍टर अम्‍बेडकर के योगदान को कोई नहीं भुला सकता। उन्‍होंने अथक और निस्वार्थ रूप से देश और जनता की सेवा की है।

आइए हम भारत को डॉ. अम्‍बेडकर के सपनों का देश बनाने के लिए अपने आपको समर्पित करने की सौगंध लें जिस पर उन्‍हें गर्व हो। ‘मैं डॉ. बाबासाहेब अम्‍बेडकर की जंयती पर उन्‍हें नमन करता हूं। जय भीम ।
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack