Wednesday, 13 November 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

क्या नेमार के बगैर विश्व कप जीत पाएगा ब्राजील?

क्या नेमार के बगैर विश्व कप जीत पाएगा ब्राजील? रियो डी जेनेरियो: स्टार स्ट्राइकर नेमार का पीठ की तकलीफ के कारण फीफा विश्व कप से बाहर होना ब्राजील के लिए राष्ट्रीय शोक का विषय बन गया है। अब यह चर्चा आम है कि क्या ब्राजील अपने इस चहेते खिलाड़ी के बगैर छठी बार विश्व कप खिताब जीत सकेगा? ब्राजील की सड़कों पर शनिवार को नेमार के विश्व कप से बाहर होने का गम साफ दिखा लेकिन ब्राजीली कैम्प में इस बात को लेकर शोक मनाने का वक्त नहीं। कोच लुइस फिलिप स्कोलारी अपनी टीम के साथ सेमीफाइनल मुकाबले के लिए पूरी तैयारी में जुटे हैं।

ऐसा नहीं है कि नेमार की गैरमौजूदगी में स्कोलारी को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ रहा है। ऐसे में जबकि ब्राजीली टीम को 50 घंटे से भी कम समय में जर्मनी के साथ सेमीफाइनल मैच खेलना है, स्कोलारी कई तरह की मुश्किलों को दूर करने में जुटे हैं।स्कोलारी को अपने संसाधनों को फिर से खंगालना पड़ रहा है क्योंकि इसमें कोई शक नहीं कि उनकी आक्रमण पंक्ति का पूरा दारोमदार नेमार पर रहता था और उनके बगैर स्कोलारी को अपनी टीम को नए सिरे से तैयार करना होगा।

ब्राजील के लिए 2010 में पहली बार खेलने के बाद से नेमार ने 54 मैचों में कुल 35 गोल किए। सिर्फ 22 साल की की उम्र में वह ब्राजील के लिए अंतर्राष्ट्रीय गोल करने के मामले में छठे स्थान पर हैं। वह इस दौड़ में रोनाल्डीन्हो, रिवाल्डो और तोस्ताओ जैसे दिग्गजों से आगे निकल चुके हैं। स्कोलारी ने एक बार कहा था कि ब्राजीली टीम ठीक उसी तरह नेमार पर आश्रित है, जिस तरह अर्जेटीना की टीम मेसी पर आश्रित है।

नेमार और मेसी जैसे खिलाड़ी किसी टीम के लिए अनमोल हैं क्योंकि वे जीत के लायक स्थिति कायम करते हैं। अब नेमार की जगह कौन? यह सवाल उठ रहा है और इसके जवाब में कप्तान थियागो सिल्वा विंगर विलियन और कोच विंगर बेर्नार्ड को मैदान में उतारने के बारे में सोच रहे हैं। विलियन और बेर्नार्ड निसंदेह शानदार खिलाड़ी हैं लेकिन कोच और कप्तान को अच्छी तरह पता है कि वे नेमार की तर्ज पर गोल करने की स्थिति कायम नहीं कर सकते क्योंकि उनकी गैरमौजूदगी में इस टीम का सेंट्रल अटैक काफी कमजोर हो गया है।

स्ट्राइकर फ्रेड इस टूर्नामेंट में अब तक सिर्फ एक गोल कर सके हैं और उनके बैकअप के तौर पर तैयार जो तो एक भी गोल नहीं कर सके हैं। इस साल जो के नाम एक भी गोल नहीं है। ब्राजील नेमार की मौजूदगी में बड़े ताकतवर तरीके से छठे खिताब की ओर बढ़ रहा था लेकिन अब उनकी गैरमौजूदगी टीम को मुश्किल में डाल सकती है। हालांकि नेमार की गैरमौजूदगी में अन्य खिलाड़ी ज्यादा जिम्मेदारी से खेल सकते हैं, जो टीम के लिए सकारात्मक परिणाम वाला हो सकता है।
अन्य वर्ल्ड कप लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack