Wednesday, 01 April 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

इसरो के पीएसएलवी सी23 के प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू

जनता जनार्दन डेस्क , Jun 28, 2014, 15:47 pm IST
Keywords: इसरो   पीएसएलवी सी23   30 जून 2014   श्रीहरिकोटा   प्रक्षेपण   49 घंटे की उल्टी गिनती   ISRO   PSLV 23   30 in June 2014   Sriharikota   Projection   49 Hour countdown  
फ़ॉन्ट साइज :
इसरो के पीएसएलवी सी23 के प्रक्षेपण की उल्टी गिनती शुरू चेन्नई: इसरो के पीएसएलवी सी23 के 30 जून को श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपण के संबंध में 49 घंटे की उल्टी गिनती आज शुरू हो गई।

पीएसएलवी सी23 से पृथ्वी की निगरानी करने वाले फ्रांस के उपग्रह के अलावा सिंगापुर, कनाडा और जर्मनी के चार उपग्रह प्रक्षेपित किये जायेंगे।

इसरो ने कहा, ‘पीएसएलवी सी23 मिशन के 49 घंटे की उल्टी गिनती आज श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सुबह 8 बजकर 52 मिनट पर शुरू हो गई।’

श्रीहरिकोटा में प्रक्षेपण प्राधिकरण बोर्ड (एलएबी) की बैठक में प्रक्षेपण को मंजूरी दी गई जिसके बाद उल्टी गिनती का मार्ग प्रशस्त हुआ।

इस यान के जरिये पांच सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे, जिनमें सबसे बड़ा और अहम सैटेलाइट है स्पॉट−7, जो फ्रांस का है। इसके अलावा कनाडा, जर्मनी व सिंगापुर के चार अन्य उपग्रहों को अंतरिक्ष में पहुंचाया जाएगा।
 
पीएसएलवी सी23 का प्रक्षेपण पहले 30 जून को सुबह 9 बजकर 49 मिनट पर तय किया गया था और अब इसे 9 बजकर 52 मिनट के लिए पुनर्निर्धारित किया गया है जो संभवत: अंतरिक्ष मलबे की गतिविधि के कारण किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पीएसएलवी सी23 का प्रक्षेपण देखने का कार्यक्रम है जिसके माध्यम से फ्रांस के उपग्रह स्पॉट 7 और कनाडा, जर्मनी और सिंगापुर के उपग्रह को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किया जायेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से इस प्रक्षेपण को देखने के लिए वहां उपस्थित रहेंगे। यह केंद्र चेन्नई से करीब 100 किलोमीटर दूर है। इसरो अब तक 35 विदेशी उपग्रहों का प्रक्षेपण कर चुका है।

स्पॉट 7 पृथ्वी की निगरानी करने वाला उपग्रह है और यह भारत के रिमोट सेंसिंग सिस्टम (आई आरएसएस) के जैसा उपग्रह है। इसरो अब तक ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण वाहन (पीएसएलवी) से 35 विदेशी उपग्रहों को प्रक्षेपित कर चुका है।
अन्य देश लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack