Friday, 23 October 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

मोदी इफेक्ट: सेंसेक्स 1000 अंक चढ़ा, निफ्टी 300 अंक ऊपर

मोदी इफेक्ट: सेंसेक्स 1000 अंक चढ़ा, निफ्टी 300 अंक ऊपर मुंबई: कांग्रेस के पस्त होने और एनडीए के दौड़ लगाने के साथ ही शेयर बाजारों ने भी शुक्रवार सुबह जोरदार शुरूआत की। अपनी तरह की ऐतिहासिक ऊंचाई दिखाते हुए बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स आज 1000 अंक ऊपर खुला। वहीं, निफ्टी ने भी जोरदार तेजी के साथ कारोबार की शुरुआत की। नैॆशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 7400 अंक उछला।

बीएसई का सेंसेक्स 1000 अंकों की तेजी के साथ 24,744.93 पर खुला जबकि निफ्टी 250 अंक उछलकर 7433.20 के स्तर पर खुला। सेंसेक्स में इस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई और एलऐंडटी के शेयर जोरदार कारोबार कर रहे हैं। जबकि निफ्टी में ऑयल ऐंड गैस, बैंकिंग, पावर, रीयल्टी और कैपिटल गुड्स के शेयरों में तेजी के साथ कारोबार होता देखा जा रहा है।

हालांकि ब्रोकरों का कहना है कि मार्केट में शुक्रवार को दोपहर तक अनिश्चय की स्थिति रह सकती है। दोपहर बाद चुनावी नतीजों की पिक्चर साफ होने के बाद मार्केट कोई एक राह पकड़ेगा। सेबी ने शुक्रवार को ट्रेड टाइम बढ़ाने और शनिवार को बाजार खोलने की ब्रोकर्स की मांग ठुकरा दी है, लिहाजा शुक्रवार दोपहर बाद हलचल तेज रहने की संभावना है।

रुपया 10 महीने के सर्वोच्च स्तर पर
रुपये में चुनावी रिजल्ट के दिन जबरदस्त तेजी देखी गई। 10 महीने के सर्वोच्च स्तर पर रुपये ने कारोबार की शुरुआत की। डॉलर के मुकाबले 41 पैसे की जोरदार तेजी के साथ 10 माह के ताजा उच्च स्तर 58.88 पर पहुंच गया रुपया।

डॉलर के मुकाबले यह तेजी केन्द्र में स्थिर सरकार बनने की उम्मीद में विदेशी पूंजी के ताजा अंत:प्रवाह के कारण देखी जा रही है। कल रुपया 39 पैसे की तेजी के साथ करीब 10 माह के उच्च स्तर 59.29 रपये प्रति डॉलर की उंचाई को छू गया था।

विदेशी बाजारों का हाल
एशियाई बाजारों में एसजीएक्स निफ्टी 2.5 फीसदी की तेजी देखी गई जबकि निक्केई में 1.7 फीसदी गिरावट देखी गई। वहीं गुरुवार को अमेरिकी बाजारों पर बिकवाली के बादल छाए रहे। डाओ जोंस में 1 फीसदी की गिरावट रही जबकि एसऐंडपी करीब 1 फीसदी, नैस्डैक कंपोजिट 0.75 फीसदी कमजोरी पर रहा।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack