Monday, 14 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
सोशल मीडिया
करते हैं ईमेल का इस्तेमाल तो सावधान, आप पर मंडरा रहा है साइबर खतरा जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 14, 2017
इस्तेमाल तो सावधान, आप पर मंडरा रहा है साइबर खतरा ईमेल का इस्तेमाल करने वालों को किसी भी दूसरे मैलवेयर की तुलना में ईमेल के माध्यम से साइबर खतरे का सामना करने की संभावना दोगुना से अधिक होती हैं ....  समाचार पढ़ें
मल्लिका-ए-गजल को गूगल ने दी डूडल बनाकर सलामी जनता जनार्दन डेस्क ,  Oct 07, 2017
बेगम अख्तर को गजल की मलिका कहा जाता था और आज अगर वो होतीं तो 103 साल की होतीं। 'ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया...' जैसी मशहूर गजलों के अलावा भी बेगम अख्तर की संगीतमय विरासत के कई पहलू हैं लेकिन इसके साथ ही उनकी जिंदगी के कई अनकहे पहलू भी हैं जो बेहद ही दिलचस्प हैं जो उनकी एक अलग और अनोखी शख्सियत से रूबरू कराते हैं। एक बात और गूगल ने भी आज इनकी शान में एक शानदार डूडल बनाया है। ....  समाचार पढ़ें
सास-बहु के मजेदार किस्से, सास भी खुश और बहु भी खुश अमिय पाण्डेय ,  Jul 28, 2017
सोशल मीडिया पर हमेशा छाए रहने वाले किस्सों में सा-बहू पर छाए रहने वाली नोंकझोंक से जुड़े जोक्स का नंबर सबसे ऊपर होगा. यहां हम आपके लिए हंसी की फुहार का ऐसा ही पिटारा परोस रहे, जिसे हमने लिया है, व्हाट्सएप और फेसबुक से. लीजिए आप भी इनका मजाः ....  समाचार पढ़ें
'औरतों की ईद'- एक कविताः ईद मुबारक कहते हुए अरशाना अज़मत ,  Jun 26, 2017
औरतों की ईद यानी ..रोज के मुकाबले जल्दी जगने का दिन ..बावर्चीखाने में ज्यादा खटने का दिन ..ज्यादा खाना पकाने का दिन..ज्यादा तरह के खाने पकाने का दिन ..ज्यादा बर्तन धोने का दिन..ज्यादा सफाई करने का दिन.. / औरतों की ईद यानी ..रोज के मुकाबले देर से खाने का दिन..देर से नहाने का दिन..देर से बिस्तर में जाने का दिन..देर से टीवी देखने या न देखने का दिन.. ....  समाचार पढ़ें
सनातन है क्या? त्रिभुवन की फेसबुक वॉल से जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 30, 2017
ईसाई ईसा को ही पूजते हैं। मुसलमान मुहम्मद साहब को ही आख़िरी पैग़ंबर मानते हैं और अल्लाह के अलावा किसी अन्य में कोई विश्वास नहीं करते। बौद्धों के लिए बुद्ध के अलावा कुछ भी मान्य नहीं हैं। हर धर्म के साथ यही विशेषता जुड़ी है। लेकिन सनातन धर्म ऐसा है कि वह समय के साथ अपने नाम को भी बदलता चलता है ....  समाचार पढ़ें
ईवीएम के साथ छेड़छाड़, कितनी संभव, कितनी नहीं जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2017
देश में पांच राज्यों में हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में हार का सामना करने वाले दलों ने सीधे ईवीएम पर दोष मढ़ दिया है. ईवीएम पर दोष का मतलब बात चुनाव आयोग पर आ रही है. कहा जा रहा है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई है. सोशल मीडिया पर खूब चर्चाओं का बाजार गर्म है. गोआ, पंजाब से लेकर उत्तर प्रदेश तक. पर मायावती को छोड़ कर ....  समाचार पढ़ें
स्वामी दयानंद सरस्वती और मोदी भक्त त्रिभुवन ,  Feb 08, 2017
यह कहानी स्वामी दयानंद सरस्वती के 'सत्यार्थ प्रकाश' से प्रधानमंत्री जी के भक्तों के लिए. जिसका निचोड़ हैः देश में ऐसे-ऐसे साधु और ऐसे-ऐसे उनके शिष्य हैं. मूर्ख शिष्य और वज्रमूर्ख गुरु. आंध के अंधे, गांठ के पूरे.विद्या और ज्ञान के ऐसे शत्रुओं को अविद्या और मूढ़ता घर करके नहीं ठहरे तो कहां जाए? ....  समाचार पढ़ें
कविताः तू किस अधिकार से चरखे से फोटो जोड़ आया था जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 15, 2017
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कभी कहा था, 'खादी वस्त्र नहीं विचार है.' और जिन लोगों को विचारों पर भरोसा ही न हो वह क्या करें. चाटुकारिता और दिखावे के इस दौर में जब खादी ग्रामोद्योग के वार्षिक कैलेंडर से बापू की तस्वीर की जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगा दी गई तो पूरे देश में सोशल मीडिया पर इसके पक्ष और विपक्ष में प्रतिक्रिया चल पड़ी. ....  समाचार पढ़ें
ओम पुरी के बहाने, चितेरे चंचल की श्रद्धांजलि जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 07, 2017
रचनात्मक क्षेत्र का हर चरित्र दो पाटों के बीच खड़ा मिलेगा । अभाव उसका स्थायी भाव होता है इसी अभाव को पूरा करने के लिए उसकी रचनात्मकता उसे ठेलती रहती है । एक बार हम बज्जू भाई के घर बैठे थे । बज्जू भाई राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से जुड़े रहे, और आगे जाकर रानावि के निदेशक भी बने । जाहिर है कि रंगमंच के तमाम कलाकारों की महफ़िल बज्जू भाई के इर्द गिर्द लगती थी । ....  समाचार पढ़ें
नाड़ालेस बनें, विकास में सहयोग दें जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 28, 2016
नाड़ों की कमी के चलते कई लोगों ने पाजामे में गाँठ बांधना शुरू कर दिया है। यह नाडा़लेस व्यवस्था देश के विकास के लिये जरूरी है। आप लोग इसमें सहयोग करें। नाड़े के बगैर पाजामा पहनें। दरअसल कपड़ों में गाँठ बांधना हमारी पुरानी परंपरा रही है। इससे शरीर पर एक खास किस्म का प्राकृतिक दबाव होता है जिससे रक्तसंचार बाधित नहीं होता और स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है। नाड़ालेस बनें, विकास में सहयोग दें। ....  समाचार पढ़ें
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल